LoC के पास 5 पाकिस्तानी सैनिकों की ब्लास्ट में मौत, एक घायल

pak army
LoC के पास 5 पाकिस्तानी सैनिकों की ब्लास्ट में मौत, एक घायल

नई दिल्ली। पाकिस्तान के कब्जे वाले इलाके में हुए एक विस्फोट में पांच सैनिकों की मौत हो गई, जबकि एक घायल हुआ है। पाकिस्तान की सरकारी एजेंसी की ओर से जारी बयान के मुताबिक घटना वहां की बरनाला तहसील में हुई है। पाकिस्तान ने घटना के लिए भारतीय सेना की ओर से किए गए युद्धविराम उल्लंघन को जिम्मेदार ठहराया है।

Loc Pakistani Army Explosion Injury Terrorism Identity :

घटना के लिए भारतीय सेना पर युद्ध विराम का उल्लंघन का आरोप लगाया गया है। मारे गए सैनिकों के नाम बताने के साथ ही कहा गया कि घटना का कारण द्विपक्षीय युद्ध विराम के साथ-साथ यह अंतरराष्ट्रीय नियमों की अनदेखी भी है। एजेंसी ने बताया कि भारत और पाकिस्तान के बीच पुलवामा में भारतीय सैनिकों के दल पर पिछले साल 14 नवंबर को हुए आत्मघाती हमले के बाद से नियंत्रण रेखा पर लगातार तनाव के हालात बने हुए हैं। इस हमले में 40 से अधिक भारतीय सैनिक शहीद हुए थे।

पाकिस्तान ने इस कार्रवाई को गंभीर बताते हुए पुलवामा में आतंकी हमले में भारतीय सैनिकों की शहादत और बाद में वहां के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा किए गए शांति स्थापना के उपायों को विस्तार से उल्लेख किया है। कहा गया कि इससे पहले भारत की वायु सेना पाकिस्तान में घुसकर कार्रवाई भी कर चुकी है।

हालांकि पाकिस्तान अपने यहां किसी भी तरह के आतंकी प्रशिक्षण केंद्र होने के आरोपों से मजबूती के साथ इन्कार कर चुका है। यही नहीं, अमेरिका, चीन और संयुक्त अरब अमीरात के साथ मिलकर पाकिस्तान भारत के साथ अपने कुटनीतिक संबंधों को भी सुदृढ़ करने के लिए प्रयासरत है।

आईबी और एलओसी पर बढ़ाई गई सुरक्षा

सूत्रों के मुताबिक इस घटना के बाद पाकिस्तान की नापाक हरकत को देखते हुए आईबी और एलओसी पर चौकसी और अधिक बढ़ा दी गई है। सभी जवानों को सतर्क कर दिया गया है। जिससे की पाकिस्तान के किसी भी नापाक हरकत का जवाब दिया जा सके।

नई दिल्ली। पाकिस्तान के कब्जे वाले इलाके में हुए एक विस्फोट में पांच सैनिकों की मौत हो गई, जबकि एक घायल हुआ है। पाकिस्तान की सरकारी एजेंसी की ओर से जारी बयान के मुताबिक घटना वहां की बरनाला तहसील में हुई है। पाकिस्तान ने घटना के लिए भारतीय सेना की ओर से किए गए युद्धविराम उल्लंघन को जिम्मेदार ठहराया है। घटना के लिए भारतीय सेना पर युद्ध विराम का उल्लंघन का आरोप लगाया गया है। मारे गए सैनिकों के नाम बताने के साथ ही कहा गया कि घटना का कारण द्विपक्षीय युद्ध विराम के साथ-साथ यह अंतरराष्ट्रीय नियमों की अनदेखी भी है। एजेंसी ने बताया कि भारत और पाकिस्तान के बीच पुलवामा में भारतीय सैनिकों के दल पर पिछले साल 14 नवंबर को हुए आत्मघाती हमले के बाद से नियंत्रण रेखा पर लगातार तनाव के हालात बने हुए हैं। इस हमले में 40 से अधिक भारतीय सैनिक शहीद हुए थे। पाकिस्तान ने इस कार्रवाई को गंभीर बताते हुए पुलवामा में आतंकी हमले में भारतीय सैनिकों की शहादत और बाद में वहां के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा किए गए शांति स्थापना के उपायों को विस्तार से उल्लेख किया है। कहा गया कि इससे पहले भारत की वायु सेना पाकिस्तान में घुसकर कार्रवाई भी कर चुकी है। हालांकि पाकिस्तान अपने यहां किसी भी तरह के आतंकी प्रशिक्षण केंद्र होने के आरोपों से मजबूती के साथ इन्कार कर चुका है। यही नहीं, अमेरिका, चीन और संयुक्त अरब अमीरात के साथ मिलकर पाकिस्तान भारत के साथ अपने कुटनीतिक संबंधों को भी सुदृढ़ करने के लिए प्रयासरत है। आईबी और एलओसी पर बढ़ाई गई सुरक्षा सूत्रों के मुताबिक इस घटना के बाद पाकिस्तान की नापाक हरकत को देखते हुए आईबी और एलओसी पर चौकसी और अधिक बढ़ा दी गई है। सभी जवानों को सतर्क कर दिया गया है। जिससे की पाकिस्तान के किसी भी नापाक हरकत का जवाब दिया जा सके।