LOC पर इसी तरह भारत का वर्चस्व कायम रहेगा: अरुण जेटली

नोटबंदी के बाद डिजिटल लेन देन बढ़ा: अरुण जेटली

नई दिल्ली। सीमा पर बढ़ते तनाव के बाद भी भारतीय सेना एलओसी पर अपना वर्चस्व कायम रखेंगी। यह कहना है भारतीय रक्षा मंत्री अरुण जेटली का। जेटली की माने तो भारत ने शांति वार्ता के लिए कई प्रयास किए है लेकिन पाक ने अपनी नापाक मंसूबों की वजह से हमेशा इसमे अड़चन डालने का काम किया है। अब वक़्त आ गया है कि जो जिस भाषा में समझना चाहता है हम उसे उसकी ही भाषा में समझएंगे। जेटली ने पाकिस्तान पर द्विपक्षीय शांति वार्ता के लिए अनुकूल वातावरण बनाने के सभी प्रयासों को दबाने का आरोप लगाया।



जेटली ने कहा, ‘भारत सरकार ने अतीत में हालात सहज बनाने के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाए। सबूत हैं कि हमारे प्रधानमंत्री लाहौर में प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के परिवार में एक समारोह में गए, तनाव कम करने के लिए सारे कदम उठाए गए।’ उन्होंने कहा, ‘लेकिन, ऐसी हर चीज का जवाब दिया गया। पठानकोट या उरी या हमारे सैनिकों के शवों के साथ बर्बरता बातचीत वार्ता के लिए जिस तरह का माहौल होना चाहिए, पाकिस्तान ने वैसा नहीं किया।’



{ यह भी पढ़ें:- शर्मनाक: भारत में यहां की महिलाओं को पिलाया जाता है जूतों से पानी }

बता दें कि जेटली का यह बयान उस समय आया जब भारतीय जवानों ने जम्मू कश्मीर के पुंछ और नौशेरा सेक्टर में पाकिस्तानी सेना के संघर्षविराम उल्लंघन का जवाब देते हुए पाकिस्तान के पांच सैनिकों को मार गिराया।

{ यह भी पढ़ें:- नागपुर टेस्ट में टीम इंडिया ने श्रीलंका को पारी और 239 रनों से हराया }

Loading...