lockdown:भारतीय अधिकारियों के पहल पर आखिरकार आज मिला गया गर्भवती नेपाली महिला को अपने देश जाने की अनुमति 

20200403_195046

सोनौली । भारत-नेपाल सीमा सोनौली बॉर्डर पर आज पाँच दिनों से भारत के कवारेन्टीन में रोकी गयी गर्भवती महिला भगवती परियार को आखिरकार नेपाल अपने घर जाने की अनुमति मिल ही गयी भगवती का पूरा परिवार एम्बुलेंस से नौतनवा स्थित  कवारेन्टीन से रवाना हो गया। इसके साथ ही दिल्ली डीएम द्वारा जारी लॉक डाउन पास के साथ जनकपुर निवासी एक परिवार सोनौली पहुचा जिसे नेपाल के अधिकारियों ने जाने की अनुमति दे दी।

Lockdown Pregnant Nepali Woman Finally Got Permission To Visit Her Country Today At The Initiative Of Indian Authorities :

शुक्रवार की दोपहर क्षेत्राधिकारी नौतनवा राजू कुमार साव के निर्देश पर और नेपाल प्रशासन ने उच्चाधिकारियों के अनुमति के बाद नौतनवा कवारेन्टीन में आज पाँच दिनों से रुकी एक गर्भवती महिला भगवती परियार के दो बच्चों और पति के साथ नेपाल में प्रवेश की अनुमति दे दिया जिसके बाद एम्बुलेंस से उन्हें नेपाल भेज दिया गया। इसी तरह जनकपुर निवासी चन्दर के जीजा की मृत्यु हो गया हैं। जो  दिल्ली डीएम द्वारा लॉक डाउन पास से चलकर अपनी बहन और दो भांजी के साथ आज सुबह 7 बजे सोनौली बार्डर पहुँचे हैं। जिन्हें प्रशासन ने नेपाल भेज दिया।

क्षेत्राधिकारी राजू कुमार साव ने बताया कि विकट परिस्थितियों में प्रशासन नागरिकों के मदद के लिए तैयार है। सभी पीड़ित लोगों को नेपाल प्रशासन के अनुमति के बाद भेज दिया गया। नेपाल कवारेन्टीन में एक भारतीय महिला भी गर्भवती है। जिन्हें उनके घर पहुचने के लिए वार्ता चल रही है। लोगो से अपील करते हुए उन्होंने बताया कि लॉक डाउन का सभी लोग पालन करे। सोशल डिस्टेसिंग का ख्याल रखे यह समस्या भी दूर हो जाएगी ।

महराजगंज ब्यूरो प्रभारी विजय चौरसिया

सोनौली । भारत-नेपाल सीमा सोनौली बॉर्डर पर आज पाँच दिनों से भारत के कवारेन्टीन में रोकी गयी गर्भवती महिला भगवती परियार को आखिरकार नेपाल अपने घर जाने की अनुमति मिल ही गयी भगवती का पूरा परिवार एम्बुलेंस से नौतनवा स्थित  कवारेन्टीन से रवाना हो गया। इसके साथ ही दिल्ली डीएम द्वारा जारी लॉक डाउन पास के साथ जनकपुर निवासी एक परिवार सोनौली पहुचा जिसे नेपाल के अधिकारियों ने जाने की अनुमति दे दी। शुक्रवार की दोपहर क्षेत्राधिकारी नौतनवा राजू कुमार साव के निर्देश पर और नेपाल प्रशासन ने उच्चाधिकारियों के अनुमति के बाद नौतनवा कवारेन्टीन में आज पाँच दिनों से रुकी एक गर्भवती महिला भगवती परियार के दो बच्चों और पति के साथ नेपाल में प्रवेश की अनुमति दे दिया जिसके बाद एम्बुलेंस से उन्हें नेपाल भेज दिया गया। इसी तरह जनकपुर निवासी चन्दर के जीजा की मृत्यु हो गया हैं। जो  दिल्ली डीएम द्वारा लॉक डाउन पास से चलकर अपनी बहन और दो भांजी के साथ आज सुबह 7 बजे सोनौली बार्डर पहुँचे हैं। जिन्हें प्रशासन ने नेपाल भेज दिया। क्षेत्राधिकारी राजू कुमार साव ने बताया कि विकट परिस्थितियों में प्रशासन नागरिकों के मदद के लिए तैयार है। सभी पीड़ित लोगों को नेपाल प्रशासन के अनुमति के बाद भेज दिया गया। नेपाल कवारेन्टीन में एक भारतीय महिला भी गर्भवती है। जिन्हें उनके घर पहुचने के लिए वार्ता चल रही है। लोगो से अपील करते हुए उन्होंने बताया कि लॉक डाउन का सभी लोग पालन करे। सोशल डिस्टेसिंग का ख्याल रखे यह समस्या भी दूर हो जाएगी । महराजगंज ब्यूरो प्रभारी विजय चौरसिया