केन्द्रिय मंत्री रामविलास पासवान को झटका, राष्ट्रीय महासचिव ने दिया इस्तीफा, परिवारवाद का लगाया आरोप

bihar
केन्द्रिय मंत्री रामविलास पासवान को झटका, राष्ट्रीय महासचिव के साथ कई पदाधिकारियों ने दिया इस्तीफा

पटना। केन्द्रिय मंत्री रामविलास पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) में इस्तीफों का दौर शुरू हो गया है। लोकसभा चुनाव में टिकट नहीं मिलने से नाराज चल रहे महासचिव सत्यनंद शर्मा ने कई पदाधिकारियों के साथ पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। सत्यनंद शर्मा के इस्तीफा के बाद हड़कंप मचा हुआ है। इसके साथ ही उन्होंने नई पार्टी बनाने की घोषणा की है।

Lok Janshakti Partys National General Secretary Resigns :

सत्यानंद शर्मा का आरोप है कि पार्टी को कुछ लोग चल रहे हैं। इसके साथ ही कहा कि पार्टी में परिवारवाद पूरी तरह से हावी है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि पार्टी को कुछ लोग चला हैं, पार्टी में लोकतंत्र खत्म हो गया है। साथ ही उन्होंने विधानसभा चुनाव में पैसा लेकर उम्मीदवारों को टिकट दिये जाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में भी वैशाली से लोजपा प्रत्याशी वीणा देवी को भी पैसा लेकर टिकट दिये जाने का आरोप लगाया।

उनका कहना है कि वह एक दिन भी पार्टी में नहीं थी। बावजूद इसके उनके रुपये लिए गये हैं। लोजपा के प्रदेश महासचिव समेत कई पदाधिकारियों ने इस्तीफा दिया है। राजधानी के स्काडा में गुरुवार को आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेन्स में उन्होंने बताया कि वह और उनके समर्थक लोजपा (सेक्युलर) का गठन करेंगे।

पटना। केन्द्रिय मंत्री रामविलास पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) में इस्तीफों का दौर शुरू हो गया है। लोकसभा चुनाव में टिकट नहीं मिलने से नाराज चल रहे महासचिव सत्यनंद शर्मा ने कई पदाधिकारियों के साथ पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। सत्यनंद शर्मा के इस्तीफा के बाद हड़कंप मचा हुआ है। इसके साथ ही उन्होंने नई पार्टी बनाने की घोषणा की है। सत्यानंद शर्मा का आरोप है कि पार्टी को कुछ लोग चल रहे हैं। इसके साथ ही कहा कि पार्टी में परिवारवाद पूरी तरह से हावी है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि पार्टी को कुछ लोग चला हैं, पार्टी में लोकतंत्र खत्म हो गया है। साथ ही उन्होंने विधानसभा चुनाव में पैसा लेकर उम्मीदवारों को टिकट दिये जाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में भी वैशाली से लोजपा प्रत्याशी वीणा देवी को भी पैसा लेकर टिकट दिये जाने का आरोप लगाया। उनका कहना है कि वह एक दिन भी पार्टी में नहीं थी। बावजूद इसके उनके रुपये लिए गये हैं। लोजपा के प्रदेश महासचिव समेत कई पदाधिकारियों ने इस्तीफा दिया है। राजधानी के स्काडा में गुरुवार को आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेन्स में उन्होंने बताया कि वह और उनके समर्थक लोजपा (सेक्युलर) का गठन करेंगे।