प. बंगाल में फिर हिंसा, काफिले पर हमले के बाद रोने लगी बीजेपी उम्मीदवार

bharti ghosh
प. बंगाल में फिर हिंसा, काफिले पर हमले के बाद रोने लगी बीजेपी उम्मीदवार

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) के छठे चरण में सात राज्यों की 59 सीटों पर रविवार को हो रही वोटिंग के बीच देशभर से से हिंसा की खबर सामने आ रही है। पूर्व आईपीएस अफसर और सीएम ममता बनर्जी की करीबी रहीं घाटल सीट से बीजेपी उम्मीदवार भारती घोष भी रविवार को टीएमसी कार्यकर्ताओं से झड़प में घायल हो गईं. इस झड़प के बाद वह फूट-फूटकर रोने लगीं।

Lok Sabha Chunav 2019 West Bengal Bjp S Bharati Ghosh Breaks Down After Being Heckled By Tmc Workers Ec Seeks Report :

हमले के बाद भावुक हुईं भारती

काफिले पर हमले के वक्त के विडियोज में लोग बंगाली में विरोध करते हुए ‘भारती वापस जाओ’ के नारे लगाते देखे गए। भारती की कुछ तस्वीरें भी सामने आईं। इनमें भारती रोती हुईं दिखाई दे रही हैं। मिली जानकारी के मुताबिक, कार पर हमले से पहले भारती ने कुछ पोलिंग बूथ्स पर जाने की कोशिश की थी लेकिन कथित तौर पर उन्हें टीएमसी कार्यकर्ताओं ने वहां घुसने नहीं दिया और नारेबाजी की। ऐसा उनके साथ एक से ज्यादा पोलिंग बूथ पर हुआ। इसपर भारती भावुक हो गई थीं।

बता दें कि पूर्व आईपीएस भारती घोष किसी वक्त में बंगाल की सीएम ममता बनर्जी की खास मानी जाती थीं। लेकिन अब उनका मुकाबला टीएमसी से ही है। वहां उनके सामने टीएमसी के टिकट पर दीपक (देव) अधिकारी चुनाव लड़ रहे हैं। वह वहां के मशहूर ऐक्टर हैं।

बीजेपी ने लगाया तृणमूल पर आरोप

बीजेपी ने इस हमले के पीछे तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं पर आरोप लगाया है। उधर, छठे चरण की वोटिंग शुरू होने से ठीक पहले अलग-अलग घटनों में तीन बीजेपी कार्यकर्ताओं में हमले हुए हैं।

वोटिंग से पहले बीजेपी कार्यकर्ता पर हमले

पूर्वी मिदनापुर में बीजेपी कार्यकर्ता अनंत गुचैत और रणजीत मैती को भागबानपुर इलाके में पिछली रात गोली मारी गई। घायल हालत में उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां पर उनका इलाज चल रहा है।

जबकि, झाड़ग्राम के गोपीबल्ल्बपुर इलाके में बीजेपी कार्यकर्ता रमन सिंह का शव बरामद हुआ है। पिछले तीन चरण में पश्चिम बंगाल में भारी हिंसा देखने को मिली है। जहां पर इस हिंसा की मुख्य वजह बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस के बीच आपसी टकराव है।

बीजेपी जहां पश्चिम बंगाल में अपने लिए अवसर देख रही है तो वहीं दूसरी तरफ ममता की अगुवाई वाली टीएमसी अपना किला बचाए रखना चाहती है।

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) के छठे चरण में सात राज्यों की 59 सीटों पर रविवार को हो रही वोटिंग के बीच देशभर से से हिंसा की खबर सामने आ रही है। पूर्व आईपीएस अफसर और सीएम ममता बनर्जी की करीबी रहीं घाटल सीट से बीजेपी उम्मीदवार भारती घोष भी रविवार को टीएमसी कार्यकर्ताओं से झड़प में घायल हो गईं. इस झड़प के बाद वह फूट-फूटकर रोने लगीं। हमले के बाद भावुक हुईं भारती काफिले पर हमले के वक्त के विडियोज में लोग बंगाली में विरोध करते हुए 'भारती वापस जाओ' के नारे लगाते देखे गए। भारती की कुछ तस्वीरें भी सामने आईं। इनमें भारती रोती हुईं दिखाई दे रही हैं। मिली जानकारी के मुताबिक, कार पर हमले से पहले भारती ने कुछ पोलिंग बूथ्स पर जाने की कोशिश की थी लेकिन कथित तौर पर उन्हें टीएमसी कार्यकर्ताओं ने वहां घुसने नहीं दिया और नारेबाजी की। ऐसा उनके साथ एक से ज्यादा पोलिंग बूथ पर हुआ। इसपर भारती भावुक हो गई थीं। बता दें कि पूर्व आईपीएस भारती घोष किसी वक्त में बंगाल की सीएम ममता बनर्जी की खास मानी जाती थीं। लेकिन अब उनका मुकाबला टीएमसी से ही है। वहां उनके सामने टीएमसी के टिकट पर दीपक (देव) अधिकारी चुनाव लड़ रहे हैं। वह वहां के मशहूर ऐक्टर हैं। बीजेपी ने लगाया तृणमूल पर आरोप बीजेपी ने इस हमले के पीछे तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं पर आरोप लगाया है। उधर, छठे चरण की वोटिंग शुरू होने से ठीक पहले अलग-अलग घटनों में तीन बीजेपी कार्यकर्ताओं में हमले हुए हैं। वोटिंग से पहले बीजेपी कार्यकर्ता पर हमले पूर्वी मिदनापुर में बीजेपी कार्यकर्ता अनंत गुचैत और रणजीत मैती को भागबानपुर इलाके में पिछली रात गोली मारी गई। घायल हालत में उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां पर उनका इलाज चल रहा है। जबकि, झाड़ग्राम के गोपीबल्ल्बपुर इलाके में बीजेपी कार्यकर्ता रमन सिंह का शव बरामद हुआ है। पिछले तीन चरण में पश्चिम बंगाल में भारी हिंसा देखने को मिली है। जहां पर इस हिंसा की मुख्य वजह बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस के बीच आपसी टकराव है। बीजेपी जहां पश्चिम बंगाल में अपने लिए अवसर देख रही है तो वहीं दूसरी तरफ ममता की अगुवाई वाली टीएमसी अपना किला बचाए रखना चाहती है।