पूर्व चुनाव आयुक्त ने कहा- PM मोदी आचार संहिता का कर रहे उल्लंघन, EC कर रहा अनदेखी

ec
पूर्व चुनाव आयुक्त ने कहा- PM मोदी आचार संहिता का कर रहे उल्लंघन, EC कर रहा अनदेखी

नई दिल्ली। ओडिशा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हेलिकॉफ्टर की तलाशी लेने वाले आईएएस अधिकारी को निलंबित कर दिया गया था। इस पर पूर्व चुनाव आयुक्त डॉ. एसवाई कुरैशी ने बड़ा बयान दिया है। कुरैशी ने कहा है कि पीएम के चॉपर की तलाशी करने पर मुस्लिम आईएएस अधिकारी  मोहम्मद मोहसिन के निलंबन के बाद  पीएम मोदी और चुनाव आयोग ने छवि सुधारने का बड़ा मौका गंवा दिया है।

Lok Sabha Election 2019 Former Election Commissioner Sy Quraishi Said Pm And Election Commission Missed Opportunity To Restore Image :

ट्विटर पर पूर्व चुनाव आयुक्त डॉ. एसवाई कुरैशी ने कहा कि ओडिशा में पीएम मोदी के हेलिकॉप्टर की तलाशी लेने वाले पर्यवेक्षक का निलंबन न केवल दुर्भाग्यपूर्ण है, बल्कि हमने चुनाव आयोग और प्रधानमंत्री जैसी संवैधानिक संस्थाओं की छवि को सुधारने का बढ़िया मौका भी गंवा दिया है। दोनों संस्थाओं की जनता के प्रति जवाबदेही है। पीएम मोदी लगातार चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन कर रहे हैं और चुनाव आयोग हर बार इसे नजर अंदाज कर रहा है।


उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री लगातार आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन कर रहे हैं और आयोग लगातार उसकी अनदेखी कर रहा है। प्रधानमंत्री के हेलिकॉप्टर की तलाशी यह दिखाने का एक अवसर था कि कानून सभी के लिए बराबर है। एक झटके में दोनों की आलोचनाएं खत्म हो जाती। दुर्भाग्य से दोनों ने अलग ही रास्ता चुना। उनकी आलोचना अब पहले के मुकाबले काफी ज्यादा बढ़ जाएगी।’

कुरैशी ने कहा, ‘इसके विपरीत मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के चॉपर की उनकी आंखों के सामने तलाशी ली गई, जिसने उनका कद बढ़ाया। हमें अपने नेताओं में इस तरह के स्टेट्समैन जैसे रवैये की जरूरत है। मिस्टर पटनायक को सलाम।’ बता दें कि 1996 बैच और कर्नाटक काडर के आईएएस अफसर मोहम्मद मोहसिन को चुनाव आयोग ने प्रधानमंत्री के हेलिकॉप्टर की जांच करने की वजह से निलंबित कर दिया था।

बता दें कि 1996 बैच और कर्नाटक काडर के आईएएस अफसर मोहम्मद मोहसिन को चुनाव आयोग ने निलंबित कर दिया था। आईएएस अफसर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हेलिकॉप्टर की जांच किया था। आयोग ने उनपर दिशा-निर्देश का उल्लंघन के तहत कार्रवाई की थी।

नई दिल्ली। ओडिशा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हेलिकॉफ्टर की तलाशी लेने वाले आईएएस अधिकारी को निलंबित कर दिया गया था। इस पर पूर्व चुनाव आयुक्त डॉ. एसवाई कुरैशी ने बड़ा बयान दिया है। कुरैशी ने कहा है कि पीएम के चॉपर की तलाशी करने पर मुस्लिम आईएएस अधिकारी  मोहम्मद मोहसिन के निलंबन के बाद  पीएम मोदी और चुनाव आयोग ने छवि सुधारने का बड़ा मौका गंवा दिया है। ट्विटर पर पूर्व चुनाव आयुक्त डॉ. एसवाई कुरैशी ने कहा कि ओडिशा में पीएम मोदी के हेलिकॉप्टर की तलाशी लेने वाले पर्यवेक्षक का निलंबन न केवल दुर्भाग्यपूर्ण है, बल्कि हमने चुनाव आयोग और प्रधानमंत्री जैसी संवैधानिक संस्थाओं की छवि को सुधारने का बढ़िया मौका भी गंवा दिया है। दोनों संस्थाओं की जनता के प्रति जवाबदेही है। पीएम मोदी लगातार चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन कर रहे हैं और चुनाव आयोग हर बार इसे नजर अंदाज कर रहा है। उन्होंने कहा, 'प्रधानमंत्री लगातार आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन कर रहे हैं और आयोग लगातार उसकी अनदेखी कर रहा है। प्रधानमंत्री के हेलिकॉप्टर की तलाशी यह दिखाने का एक अवसर था कि कानून सभी के लिए बराबर है। एक झटके में दोनों की आलोचनाएं खत्म हो जाती। दुर्भाग्य से दोनों ने अलग ही रास्ता चुना। उनकी आलोचना अब पहले के मुकाबले काफी ज्यादा बढ़ जाएगी।' कुरैशी ने कहा, 'इसके विपरीत मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के चॉपर की उनकी आंखों के सामने तलाशी ली गई, जिसने उनका कद बढ़ाया। हमें अपने नेताओं में इस तरह के स्टेट्समैन जैसे रवैये की जरूरत है। मिस्टर पटनायक को सलाम।' बता दें कि 1996 बैच और कर्नाटक काडर के आईएएस अफसर मोहम्मद मोहसिन को चुनाव आयोग ने प्रधानमंत्री के हेलिकॉप्टर की जांच करने की वजह से निलंबित कर दिया था। बता दें कि 1996 बैच और कर्नाटक काडर के आईएएस अफसर मोहम्मद मोहसिन को चुनाव आयोग ने निलंबित कर दिया था। आईएएस अफसर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हेलिकॉप्टर की जांच किया था। आयोग ने उनपर दिशा-निर्देश का उल्लंघन के तहत कार्रवाई की थी।