सपा ने मिर्जापुर से बदला प्रत्याशी, BJP छोड़कर आये रामचरित्र निषाद पर जताया भरोसा

sp
सपा ने मिर्जापुर से बदला अपना प्रत्याशी, BJP छोड़कर आये रामचरित्र निषाद पर जताया भरोसा

लखनऊ। लोकसभा चुनाव में हर घण्टे बदल रही रणनीति को लेकर समाजवादी पार्टी ने मिर्जापुर से घोषित अपने उम्मीदवार का टिकट काट दिया है। उनकी जगह बीजेपी छोड़कर आये रामचरित्र निषाद को टिकट दिया है। 19 अप्रैल को रामचरित्र सपा में शामिल हुए थे। रामचरित्र निषाद लोकसभा चुनाव 2014 में मछलीशहर सीट से बीजेपी के टिकट पर जीते थे।

Lok Sabha Election 2019 Sp Change Candidate On Mirzapur Seat :

यूपी में सपा—बसपा और रालोद गठबंधन करके लोकसभा चुनवा 2019 लड़ रहे हैं। कुछ सीटों को छोड़कर गठबंधन ने सभी सीटों पर प्रत्याशी घोषित कर दिया है। समाजवादी पार्टी ने सोमवार को मिर्ज़ापुर लोकसभा सीट से अपना प्रत्याशी बदल दिया। पहले सपा ने राजेंद्र एस बिंद को मिर्जापुर से प्रत्याशी घोषित किया था लेकिन राजेंद्र एस बिंद का टिकट काट कर उनके स्थान पर मछलीशहर के सांसद रामचरित्र निषाद को टिकट दे दिया।

टिकट कटने से राजेंद्र एस बिंद के समर्थकों में नाराजगी है। वहीं रामचरित्र निषाद के टिकट मिलने के बाद वहां का चुनावी मुकाबला दिलचस्प हो गया है। मछलीशहर के सांसद रामचरित्र निषाद का लंबा राजनैतिक सफर रहा है। बस्ती के मूल निवासी रामचरित्र निषाद दिल्ली में आवास बनाकर रहते हैं। 2009 में मछलीशहर लोकसभा क्षेत्र से अपना दल से चुनाव लड़े और बाद में भाजपा में शामिल होकर वर्ष 2014 का चुनाव भाजपा से लड़े।

दिल्ली राज्य से उनके अनुसूचित जाति के प्रमाण पत्र को लेकर काफी मुकदमेबाजी हुई, उन्हें कोर्ट से हाल ही में राहत मिली थी। भाजपा ने उन्हें टिकट नहीं दिया। इस कारण वह 19 अप्रैल को सपा का दामन थाम लिया था। सपा में शामिल होने के यह कयास लगा लिया गया था कि रामचरित्र निषाद को पार्टी टिकट देगी।

लखनऊ। लोकसभा चुनाव में हर घण्टे बदल रही रणनीति को लेकर समाजवादी पार्टी ने मिर्जापुर से घोषित अपने उम्मीदवार का टिकट काट दिया है। उनकी जगह बीजेपी छोड़कर आये रामचरित्र निषाद को टिकट दिया है। 19 अप्रैल को रामचरित्र सपा में शामिल हुए थे। रामचरित्र निषाद लोकसभा चुनाव 2014 में मछलीशहर सीट से बीजेपी के टिकट पर जीते थे। यूपी में सपा—बसपा और रालोद गठबंधन करके लोकसभा चुनवा 2019 लड़ रहे हैं। कुछ सीटों को छोड़कर गठबंधन ने सभी सीटों पर प्रत्याशी घोषित कर दिया है। समाजवादी पार्टी ने सोमवार को मिर्ज़ापुर लोकसभा सीट से अपना प्रत्याशी बदल दिया। पहले सपा ने राजेंद्र एस बिंद को मिर्जापुर से प्रत्याशी घोषित किया था लेकिन राजेंद्र एस बिंद का टिकट काट कर उनके स्थान पर मछलीशहर के सांसद रामचरित्र निषाद को टिकट दे दिया। टिकट कटने से राजेंद्र एस बिंद के समर्थकों में नाराजगी है। वहीं रामचरित्र निषाद के टिकट मिलने के बाद वहां का चुनावी मुकाबला दिलचस्प हो गया है। मछलीशहर के सांसद रामचरित्र निषाद का लंबा राजनैतिक सफर रहा है। बस्ती के मूल निवासी रामचरित्र निषाद दिल्ली में आवास बनाकर रहते हैं। 2009 में मछलीशहर लोकसभा क्षेत्र से अपना दल से चुनाव लड़े और बाद में भाजपा में शामिल होकर वर्ष 2014 का चुनाव भाजपा से लड़े। दिल्ली राज्य से उनके अनुसूचित जाति के प्रमाण पत्र को लेकर काफी मुकदमेबाजी हुई, उन्हें कोर्ट से हाल ही में राहत मिली थी। भाजपा ने उन्हें टिकट नहीं दिया। इस कारण वह 19 अप्रैल को सपा का दामन थाम लिया था। सपा में शामिल होने के यह कयास लगा लिया गया था कि रामचरित्र निषाद को पार्टी टिकट देगी।