1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Lok Sabha Election 2024 : नीतीश के समर्थन में सपा का पोस्टर जारी , ‘यूपी+बिहार= गयी मोदी सरकार’

Lok Sabha Election 2024 : नीतीश के समर्थन में सपा का पोस्टर जारी , ‘यूपी+बिहार= गयी मोदी सरकार’

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Bihar Chief Minister Nitish Kumar) इन दिनों विपक्ष को एकजुट करने का सफलतापूर्वक अपना अभियान जारी रखे हुए हैं। बता दें कि यूपी में शनिवार को एक ऐसी तस्वीर सामने आई जो इस बात पर मुहर भी लगा रही है। समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने नीतीश कुमार और अखिलेश यादव के साथ का एक पोस्टर जारी किया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Bihar Chief Minister Nitish Kumar) इन दिनों विपक्ष को एकजुट करने का सफलतापूर्वक अपना अभियान जारी रखे हुए हैं। बता दें कि यूपी में शनिवार को एक ऐसी तस्वीर सामने आई जो इस बात पर मुहर भी लगा रही है। समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने नीतीश कुमार और अखिलेश यादव के साथ का एक पोस्टर जारी किया है। समाजवादी पार्टी कार्यालय (Samajwadi Party Office) पर के बाहर लगाए गए इस पोस्टर में लिखा हुआ है- यूपी+बिहार=गयी मोदी सरकार(UP + Bihar = Modi government gone) ।

पढ़ें :- Mulayam Singh Yadav Net Worth : सत्ता के माहिर खिलाड़ी मुलायम सिंह यादव जानें कितनी संपत्ति के हैं मालिक?

इस पोस्टर से साफ जाहिर है कि समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने 2024 के लोकसभा चुनाव को लेकर बीजेपी (BJP)के खिलाफ बिगुल फूंक दिया है। यह पोस्टर समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के नेता आईपी सिंह (IP Singh) की तरफ से लगाया गया है।

बता दें कि बिहार के सीएम नीतीश कुमार पिछले दिनों विपक्षी दल के नेताओं से मुलाकात के लिए दिल्ली में थे। इस दौरान बीते 6 सितंबर को उन्होंने गुड़गांव के मेदांता हॉस्पिटल में भर्ती समाजवादी पार्टी के संयोजक मुलायम सिंह यादव और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात की थी। इसके बाद नीतीश कुमार ने मीडिया से कहा था कि हम लोगों का लक्ष्य तो एक ही है, सबको मिलकर आगे बढ़ना है। वहीं विपक्ष की एकता में अखिलेश की भूमिका को लेकर नीतीश कुमार ने कहा था कि अखिलेश यादव यूपी का आगे नेतृत्व करेंगे। वहीं अखिलेश यादव ने कहा था कि नीतीश कुमार की मुहिम में मैं साथ हूं।

नीतीश कुमार ने 7 सितंबर को विपक्षी दलों से बीजेपी के खिलाफ एकजुट होने की अपील की थी। उन्होंने कहा था कि यह मुख्य मोर्चा होगा न कि तीसरा मोर्चा। उन्होंने मीडिया से विपक्षी दलों की मुलाकात पर कहा था कि बातचीत विस्तृत और सकारात्मक रही। उन्होंने कहा था कि अगर सभी गैर-भाजपाई दल एक साथ आते हैं, तो 2024 के लोकसभा चुनाव के लिए एक ऐसा माहौल बनेगा, जिसके बाद चीजें एकतरफा नहीं रहेंगी। मेरी विपक्षी दल के नेताओं के साथ सकारात्मक चर्चा हुई। वह बोले कि जब भी कोई कहता है कि तीसरा मोर्चा बनाने की जरूरत है, तो मैं हमेशा कहता हूं कि चलो मुख्य मोर्चा बनाते हैं।

नीतीश कुमार दिल्ली प्रवास के दौरान 5 से लेकर 7 सितंबर तक 10 विपक्षी दलों के नेताओं से की मुलाकात 

पढ़ें :- Mulayam Singh Yadav jeevan parichay : पिता की ख्वाहिश थी बेटा करे पहलवानी, पर मुलायम सिंह यादव बने सियासत के पक्के​​ खिलाड़ी

बीजेपी और पीएम मोदी के खिलाफ विपक्षी एकता की कोशिश में जुटे नीतीश कुमार दिल्ली प्रवास के दौरान 5 सितंबर से लेकर 7 सितंबर तक 10 विपक्षी दलों के नेताओं से मुलाकात की है। विपक्षी दलों ने नीतीश की कोशिशों का समर्थन किया और पूरा सहयोग का वादा भी किया है। नीतीश कुमार अपने दिल्ली प्रवास के पहले दिन सबसे पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी से मुलाकात की थी, फिर जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी से मिले। दूसरे दिन नीतीश ने सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी, सीपीआई के महासचिव डी राजा से मिले। इसके बाद सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और उनके पिता मुलायम सिंह यादव से मुलाकात की और फिर इनेलो के ओम प्रकाश चौटाला से मिले। उसी दिन दिल्ली में आम आदमी पार्टी के अरविंद केजरीवाल और अपने पुराने मित्र शरद यादव से मिले। नीतीश कुमार ने अपने दौरे के तीसरे दिन एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार और भाकपा माले के महासचिव दीपांकर भट्टाचार्य से मुलाकात की थी।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...