आजम पर चला चुनाव आयोग का चाबुक, मेनका गांधी पर भी हुई कार्रवाई

azam khan
भाजपा की जया प्रदा को हराने के बाद आजम खां ने दे दिया ये बड़ा बयान

लखनऊ। चुनाव आयोग ने सोमवार को समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान पर 72 घंटे का बैन लगा दिया है। इसी के साथ चुनाव आयोग ने केन्द्रीय मंत्री मेनका गांधी के चुनाव प्रचार पर भी 48 घंटे की रोक लगाई गयी है। बताते चले कि इससे पहले आचार संहिता उल्लंघन मामले में यूपी के दो बड़े नेताओं पर चुनाव आयोग का डंडा चल चुका है। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के और बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती के चुनाव प्रचार पर रोक लगा दी गई है।

Lok Sabha Election Commission Bars Samajwadi Party Leader Azam Khan And Bjp Leader Maneka Gandhi :

आजम खान पर चुनाव आयोग ने 72 घंटे का बैन लगाया है। यह कार्रवाई उन पर रामपुर में आचार संहिता उल्‍लंघन मामले को की गयी है। आजम ने जया प्रदा को लेकर अभद्र टिप्पड़ी की थी, जिसे लेकर चुनाव आयोग ने ये कार्रवाई की है। चुनाव आयोग की कार्रवाई के बाद अब आजम खान पार्टी के लिए कुछ घंटे प्रचार नहीं कर सकेंगे, ना ही कोई रैली कर पाएंगे। यह आदेश मंगलवार सुबह 10 बजे से लागू होगा।

वहीं मेनका गांधी ने 11 अप्रैल को सुल्तानपुर लोकसभा सीट की भाजपा प्रत्याशी की हैसियत से चुनावी जनसभा में मुसलमानों से वोट मांगने पर आपत्तिजनक टिप्पणियां की थीं। जिसके बाद चुनाव आयोग ने मेनका पर 48 घंटे चुनाव प्रचार और रैली पर रोक लगा दी है।

लखनऊ। चुनाव आयोग ने सोमवार को समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान पर 72 घंटे का बैन लगा दिया है। इसी के साथ चुनाव आयोग ने केन्द्रीय मंत्री मेनका गांधी के चुनाव प्रचार पर भी 48 घंटे की रोक लगाई गयी है। बताते चले कि इससे पहले आचार संहिता उल्लंघन मामले में यूपी के दो बड़े नेताओं पर चुनाव आयोग का डंडा चल चुका है। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के और बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती के चुनाव प्रचार पर रोक लगा दी गई है।

आजम खान पर चुनाव आयोग ने 72 घंटे का बैन लगाया है। यह कार्रवाई उन पर रामपुर में आचार संहिता उल्‍लंघन मामले को की गयी है। आजम ने जया प्रदा को लेकर अभद्र टिप्पड़ी की थी, जिसे लेकर चुनाव आयोग ने ये कार्रवाई की है। चुनाव आयोग की कार्रवाई के बाद अब आजम खान पार्टी के लिए कुछ घंटे प्रचार नहीं कर सकेंगे, ना ही कोई रैली कर पाएंगे। यह आदेश मंगलवार सुबह 10 बजे से लागू होगा।

वहीं मेनका गांधी ने 11 अप्रैल को सुल्तानपुर लोकसभा सीट की भाजपा प्रत्याशी की हैसियत से चुनावी जनसभा में मुसलमानों से वोट मांगने पर आपत्तिजनक टिप्पणियां की थीं। जिसके बाद चुनाव आयोग ने मेनका पर 48 घंटे चुनाव प्रचार और रैली पर रोक लगा दी है।