1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. सुप्रीम कोर्ट से अमरावती से लोकसभा सांसद नवनीत कौर राणा को मिली बड़ी राहत

सुप्रीम कोर्ट से अमरावती से लोकसभा सांसद नवनीत कौर राणा को मिली बड़ी राहत

महाराष्ट्र के अमरावती से लोकसभा सांसद नवनीत कौर राणा को सुप्रीम कोर्ट से मंगलवार को बड़ी राहत मिली है। कोर्ट ने बॉम्बे हाईकोर्ट के फैसले पर रोक लगा दी है। बता दें कि सांसद नवनीत कौर राणा के जाति प्रमाण पत्र को हाई कोर्ट ने रद्द कर दिया था। शिवसेना के पूर्व सांसद आनंदराव अडसुल की अर्जी पर बॉम्बे हाईकोर्ट ने यह फैसला दिया था।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। महाराष्ट्र के अमरावती से लोकसभा सांसद नवनीत कौर राणा को सुप्रीम कोर्ट से मंगलवार को बड़ी राहत मिली है। कोर्ट ने बॉम्बे हाईकोर्ट के फैसले पर रोक लगा दी है। बता दें कि सांसद नवनीत कौर राणा के जाति प्रमाण पत्र को हाई कोर्ट ने रद्द कर दिया था। शिवसेना के पूर्व सांसद आनंदराव अडसुल की अर्जी पर बॉम्बे हाईकोर्ट ने यह फैसला दिया था।

पढ़ें :- क्या COVID पीड़ितों के परिवार उचित मुआवजे के पात्र नहीं हैं? राहुल गांधी ने पीएम मोदी से पूछा सवाल

इसके साथ ही बॉम्बे हाईकोर्ट ने नवनीत राणा पर दो लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया था। कोर्ट ने फर्जी सर्टिफिकेट को जमा करने के लिए कहा था। ऐसे में अब उनकी सांसदी में संकट आ गया था, क्योंकि अमरावती लोकसभा सीट SC के लिए आरक्षित थी।

याचिका में क्या लगाया गया था आरोप?

शिवसेना के पूर्व सांसद आनंदराव अडसुल की अर्जी पर बॉम्बे हाईकोर्ट ने यह फैसला दिया है। आनंदराव का आरोप था कि नवनीत कौर राणा ने फर्जी प्रमाण पत्र बनवाकर यहां से लोकसभा का चुनाव जीता था। नवनीत राणा के सर्टिफिकेट को लेकर बॉम्बे हाईकोर्ट की नागपुर बेंच में याचिका दायर की गई थी।

याचिका में दावा किया गया था कि नवनीत राणा मूलत: पंजाब से आती हैं। याचिकाकर्ता ने कहा कि वह लबाना जाति से आती हैं, जो कि महाराष्ट्र में SC की श्रेणी में नहीं आती हैं। ऐसे में उन्होंने फर्जी तरीके से अपना जाति का सर्टिफिकेट बनवाया, नवनीत राणा पर स्कूल के फर्जी डॉक्यूमेंट्स दिखाकर सर्टिफिकेट बनाने का आरोप लगा है।

पढ़ें :- 5G Service Launch: अब मिलेगी और ज्यादा तेज इंटरनेट सेवाएं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉन्च की 5G सर्विस

अमरावती से सांसद नवनीत राणा संसद के सत्र के दौरान लगातार चर्चा में बनी रहती हैं। बीते संसद के सत्र में जब महाराष्ट्र में घटे एंटीलिया केस को लेकर विवाद हुआ था, तब नवनीत राणा ने केंद्र सरकार का पक्ष लिया था और राज्य की उद्धव सरकार पर जमकर निशाना साधा था।

नवनीत राणा ने इसके बाद आरोप लगाया था कि उन्हें शिवसेना के नेताओं की ओर से धमकी मिली थी। नवनीत राणा ने इस विषय को लोकसभा स्पीकर, गृह मंत्री और प्रधानमंत्री के सामने उठाया था। एक बार फिर वह विवादों में हैं। इस बार उनकी लोकसभा सीट खतरे में नजर आ रही है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...