लोकसभा: नेशलन कांफ्रेंस नेता फारूक अब्‍दुल्‍ला ने की जम्‍मू कश्मीर में 4G सेवा की मांग

Farooq Abdullah
लोकसभा: नेशलन कांफ्रेंस नेता फारूक अब्‍दुल्‍ला ने की जम्‍मू कश्मीर में 4G सेवा की मांग

नई दिल्‍ली। जम्मू कश्मीर के राजनैतिक दल नेशलन कांफ्रेंस के नेता और सांसद फारूक अबदुल्‍ला ने गुुरुवार को लोकसभा मांग की, कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी घाटी में 4G मोबाइल सेवा बहाल करें। वहीं तृणमूल कांग्रेस के सांसदों ने लोकसभा में कोरोना वायरस से निपटने को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से देश को संबोधित करने की मांग की।

Lok Sabha National Conference Leader Farooq Abdullah Demands 4g Service In Jammu And Kashmir :

इससे पहले संसद के बजट सत्र के दूसरे चरण के दौरान गुरुवार को पूर्व चीफ जस्‍टिस ऑफ इंडिया रंजन गोगोई के राज्‍यसभा सांसद के तौर पर शपथ ग्रहण के दौरान विपक्षी पार्टी के संसदों ने हंगामा करते हुए सदन से वॉक आउट किया। कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने राज्‍यसभा में रंजन गोगोई की सदस्‍यता को लेकर आपत्‍ति जताई और विपक्षी सांसदों ने राज्‍यसभा में हंगामा शुरू कर दिया। विपक्षी सांसदों ने शपथ शुरू होते ही ‘शेम, शेम’ कहना शुरू कर दिया।

इसके जवाब में केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि देश में विभिन्‍न क्षेत्रों से प्रमुख हस्‍तियों के राज्‍यसभा में आने की शानदार परंपरा रही है। इसमें पूर्व सीजेआई भी शामिल हैं। आज सदन के सदस्‍य के तौर पर शपथ लेने वाले गोगोई निश्‍चित तौर पर अपना बेहतर योगदान देंगे। विपक्षियों का इस तरह सदन से चले जाना अनुचित है।

पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई अपनी पत्‍नी रुपांजलि गोगोई के साथ संसद पहुंचे। 16 मार्च को राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उन्‍हें राज्‍यसभा के लिए नामित किया था। 3 अक्‍टूबर 2018 से 17 नवंबर 2019 तक गोगोई 46वें चीफ जस्‍टिस के तौर पर रहे। 9 नवंबर को उनकी अगुवाई वाली पांच जजों की बेंच ने काफी समय से लंबित राम जन्‍मभूमि मामले पर फैसला सुनाया।

नई दिल्‍ली। जम्मू कश्मीर के राजनैतिक दल नेशलन कांफ्रेंस के नेता और सांसद फारूक अबदुल्‍ला ने गुुरुवार को लोकसभा मांग की, कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी घाटी में 4G मोबाइल सेवा बहाल करें। वहीं तृणमूल कांग्रेस के सांसदों ने लोकसभा में कोरोना वायरस से निपटने को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से देश को संबोधित करने की मांग की। इससे पहले संसद के बजट सत्र के दूसरे चरण के दौरान गुरुवार को पूर्व चीफ जस्‍टिस ऑफ इंडिया रंजन गोगोई के राज्‍यसभा सांसद के तौर पर शपथ ग्रहण के दौरान विपक्षी पार्टी के संसदों ने हंगामा करते हुए सदन से वॉक आउट किया। कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने राज्‍यसभा में रंजन गोगोई की सदस्‍यता को लेकर आपत्‍ति जताई और विपक्षी सांसदों ने राज्‍यसभा में हंगामा शुरू कर दिया। विपक्षी सांसदों ने शपथ शुरू होते ही ‘शेम, शेम’ कहना शुरू कर दिया। इसके जवाब में केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि देश में विभिन्‍न क्षेत्रों से प्रमुख हस्‍तियों के राज्‍यसभा में आने की शानदार परंपरा रही है। इसमें पूर्व सीजेआई भी शामिल हैं। आज सदन के सदस्‍य के तौर पर शपथ लेने वाले गोगोई निश्‍चित तौर पर अपना बेहतर योगदान देंगे। विपक्षियों का इस तरह सदन से चले जाना अनुचित है। पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई अपनी पत्‍नी रुपांजलि गोगोई के साथ संसद पहुंचे। 16 मार्च को राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उन्‍हें राज्‍यसभा के लिए नामित किया था। 3 अक्‍टूबर 2018 से 17 नवंबर 2019 तक गोगोई 46वें चीफ जस्‍टिस के तौर पर रहे। 9 नवंबर को उनकी अगुवाई वाली पांच जजों की बेंच ने काफी समय से लंबित राम जन्‍मभूमि मामले पर फैसला सुनाया।