लोकसभा: PM का अधीर रंजन को जवाब, गांधी जी आपके लिए ट्रेलर हो सकते हैं, हमारे लिए तो जिंदगी हैं

PM mpdi
लोकसभा: PM का अधीर रंजन को जवाब, गांधी जी आपके लिए ट्रेलर हो सकते हैं, हमारे लिए तो जिंदगी हैं

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आज संसद के दोनों सदनों में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर लाए गए धन्यवाद प्रस्ताव पर बोलना है। लोकसभा में पीएम मोदी ने विपक्षी सांसदो पर जमकर हमला बोला। पीएम जब लोकसभा में आए तो बीजेपी सांसदों ने जयश्रीराम के नारे लगाए। वहीं जबाब में विपक्ष के सांसदों ने महात्मा गांधी की जय के नारे लगाए। इसके बाद कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने तंज कसते हुए कहा कि ये तो ट्रेलर है। जिस पर पीएम ने अपने अंदाज में जवाब देेते हुए कहा कि गांधी आपके लिए ट्रेलर हो सकते हैं, हमारे लिए तो जिंदगी हैं।

Lok Sabha Pms Reply To Adhir Ranjan Gandhi Ji Can Be A Trailer For You Life Is For Us :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में कवि सर्वेश्वर दयाल सक्सेना की कुछ पंक्तियां पढ़ी। पीएम ने सर्वेश्वर दायल को उद्धृत करते हुए कहा-लीक पर वे चलें जिनके चरण दुर्बल और हारे हैं। हमें तो जो हमारी यात्रा से बने, ऐसे अनिर्मित पथ ही प्यारे हैं। प्रधानमंत्री ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि इस देश में सिर्फ सरकार ही नहीं बदली है सरोकार भी बदला है। उन्होंने कहा कि अगर ये भी सरकार पिछली सरकार के तर्ज पर चलती तो जम्मू-कश्मीर से 370 नहीं हटता।

पीएम ने कहा कि जिस तेज गति से काम किया उसका परिणाम है कि देश की जनता ने 5 साल में देखा और देखने के बाद उसी तरीके से करने के लिए और अधिक ताकत के साथ हमें फिर से सेवा करने का मौका दिया। उन्होने कहा अगर हम कांग्रेस के रास्ते चलते तो आज 50 साल के बाद भी शत्रु संपत्ति का इंतजार देश को करते रहना पड़ता। 28 साल के बाद बेनामी संपत्ति कानून लागू नहीं होता। चीफ ऑफ स्टाफ की नियुक्ति नहीं होती। हम अपने लिए नई लीक बनाकर चलते हैं और वह सोच लीक से हटकर होती है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा नॉर्थ ईस्ट में पिछले पांच वर्ष में जो दिल्ली उन्हें दूर लगती थी, आज दिल्ली उनके दरवाजे पर जाकर खड़ी हो गई है। उन्होने कहा कि चाहे बिजली की बात हो, रेल की बात हो, हवाई अड्डे की बात हो, मोबाइल कनेक्टिविटी की बात हो, ये सब करने का हमने प्रयास किया है। पीएम ने कहा कि बुधवार को यहां स्वामी विवेकानंद के कंधे पर बंदूक चलाई गई। उन्होंने कहा कि जो उन्हें जैसा समझ पाता है वैसा ही बयान देता है। उन्होने कहा इस बार के बोडो समझौते में सभी हथियार बंद ग्रुप साथ आए हैं। सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि इसमें लिखा है कि इसके बाद बोडो की कोई मांग बाकी नहीं रही है। आज नई सुबह भी आई है, नया सवेरा भी आया है, नया उजाला भी आया है। और वो प्रकाश, जब आप अपने चश्मे बदलोगे तब दिखाई देगा।

नरेंद्र मोदी ने कहा कि किसान सम्मान योजना के तहत उनके खाते में बिना बिचौलिया के 45000 हजार करोड़ रुपये ट्रांसफर किए गए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन राज्यों के सांसदों को संबोधित किया, जहां किसान सम्मान योजना लागू नहीं है। पीएम ने कहा कि क्या इन राज्यों के किसानों को इसका लाभ नहीं मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि राजनीति की वजह से किसानों को इसका फायदा नहीं मिल पा रहा है।

पीएम मोदी ने कहा कि जब विपक्ष मुझसे पूछता है कि ये काम क्यों नहीं हुआ है, तो इसे मैं आलोचना नहीं समझता हूं, बल्कि इसे मैं आलोचना मानता हूं। क्योंकि आपने विश्वास जताया है और आपने ये समझा है कि करेगा तो यही करेगा। पीएम ने कहा कि मैं सब कुछ करूंगा, लेकिन एक काम नहीं करूंगा, और वो काम ये है कि मैं आपकी बेरोजगारी कभी खत्म नहीं करूंगा।

पीएम ने कहा कि हमने महंगाई को नियंत्रण में रखा है। इस पर विपक्ष के सदस्यों ने हंगामा किया। उन्होंने कहा कि हमने वित्तीय घाटा को काबू में रखा है। मैक्रो इकोनॉमिक स्तर पर स्थिरता है। हम निवेशकों का विश्वास बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं। देश की अर्थव्यस्था मजबूत हो इसके लिए हमने कई कदम उठाए हैं।

राहुल गांधी ने बुधवार को एक चुनावी रैली में कहा था कि 6 महीने बाद देश के युवा पीएम मोदी को डंडे मारेंगे। इस बपर जवाब देते हुए पीएम ने कहा कि मैंने भी तय कर लिया कि सूर्यनमस्कार की संख्या बढ़ा दूंगा। ताकि मेरी पीठ को मार झेलने की सहनशक्ति बढ़ जाये। पीएम ने कहा कि पिछले 20 साल से गाली सुनने की आदत पड़ गयी है। राहुल पर तंज कसते हुए कहा कि 35 मिनट से बोल रहा हूं लेकिन अब जाकर करंट लगा है।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आज संसद के दोनों सदनों में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर लाए गए धन्यवाद प्रस्ताव पर बोलना है। लोकसभा में पीएम मोदी ने विपक्षी सांसदो पर जमकर हमला बोला। पीएम जब लोकसभा में आए तो बीजेपी सांसदों ने जयश्रीराम के नारे लगाए। वहीं जबाब में विपक्ष के सांसदों ने महात्मा गांधी की जय के नारे लगाए। इसके बाद कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने तंज कसते हुए कहा कि ये तो ट्रेलर है। जिस पर पीएम ने अपने अंदाज में जवाब देेते हुए कहा कि गांधी आपके लिए ट्रेलर हो सकते हैं, हमारे लिए तो जिंदगी हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में कवि सर्वेश्वर दयाल सक्सेना की कुछ पंक्तियां पढ़ी। पीएम ने सर्वेश्वर दायल को उद्धृत करते हुए कहा-लीक पर वे चलें जिनके चरण दुर्बल और हारे हैं। हमें तो जो हमारी यात्रा से बने, ऐसे अनिर्मित पथ ही प्यारे हैं। प्रधानमंत्री ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि इस देश में सिर्फ सरकार ही नहीं बदली है सरोकार भी बदला है। उन्होंने कहा कि अगर ये भी सरकार पिछली सरकार के तर्ज पर चलती तो जम्मू-कश्मीर से 370 नहीं हटता। पीएम ने कहा कि जिस तेज गति से काम किया उसका परिणाम है कि देश की जनता ने 5 साल में देखा और देखने के बाद उसी तरीके से करने के लिए और अधिक ताकत के साथ हमें फिर से सेवा करने का मौका दिया। उन्होने कहा अगर हम कांग्रेस के रास्ते चलते तो आज 50 साल के बाद भी शत्रु संपत्ति का इंतजार देश को करते रहना पड़ता। 28 साल के बाद बेनामी संपत्ति कानून लागू नहीं होता। चीफ ऑफ स्टाफ की नियुक्ति नहीं होती। हम अपने लिए नई लीक बनाकर चलते हैं और वह सोच लीक से हटकर होती है। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा नॉर्थ ईस्ट में पिछले पांच वर्ष में जो दिल्ली उन्हें दूर लगती थी, आज दिल्ली उनके दरवाजे पर जाकर खड़ी हो गई है। उन्होने कहा कि चाहे बिजली की बात हो, रेल की बात हो, हवाई अड्डे की बात हो, मोबाइल कनेक्टिविटी की बात हो, ये सब करने का हमने प्रयास किया है। पीएम ने कहा कि बुधवार को यहां स्वामी विवेकानंद के कंधे पर बंदूक चलाई गई। उन्होंने कहा कि जो उन्हें जैसा समझ पाता है वैसा ही बयान देता है। उन्होने कहा इस बार के बोडो समझौते में सभी हथियार बंद ग्रुप साथ आए हैं। सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि इसमें लिखा है कि इसके बाद बोडो की कोई मांग बाकी नहीं रही है। आज नई सुबह भी आई है, नया सवेरा भी आया है, नया उजाला भी आया है। और वो प्रकाश, जब आप अपने चश्मे बदलोगे तब दिखाई देगा। नरेंद्र मोदी ने कहा कि किसान सम्मान योजना के तहत उनके खाते में बिना बिचौलिया के 45000 हजार करोड़ रुपये ट्रांसफर किए गए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन राज्यों के सांसदों को संबोधित किया, जहां किसान सम्मान योजना लागू नहीं है। पीएम ने कहा कि क्या इन राज्यों के किसानों को इसका लाभ नहीं मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि राजनीति की वजह से किसानों को इसका फायदा नहीं मिल पा रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि जब विपक्ष मुझसे पूछता है कि ये काम क्यों नहीं हुआ है, तो इसे मैं आलोचना नहीं समझता हूं, बल्कि इसे मैं आलोचना मानता हूं। क्योंकि आपने विश्वास जताया है और आपने ये समझा है कि करेगा तो यही करेगा। पीएम ने कहा कि मैं सब कुछ करूंगा, लेकिन एक काम नहीं करूंगा, और वो काम ये है कि मैं आपकी बेरोजगारी कभी खत्म नहीं करूंगा। पीएम ने कहा कि हमने महंगाई को नियंत्रण में रखा है। इस पर विपक्ष के सदस्यों ने हंगामा किया। उन्होंने कहा कि हमने वित्तीय घाटा को काबू में रखा है। मैक्रो इकोनॉमिक स्तर पर स्थिरता है। हम निवेशकों का विश्वास बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं। देश की अर्थव्यस्था मजबूत हो इसके लिए हमने कई कदम उठाए हैं। राहुल गांधी ने बुधवार को एक चुनावी रैली में कहा था कि 6 महीने बाद देश के युवा पीएम मोदी को डंडे मारेंगे। इस बपर जवाब देते हुए पीएम ने कहा कि मैंने भी तय कर लिया कि सूर्यनमस्कार की संख्या बढ़ा दूंगा। ताकि मेरी पीठ को मार झेलने की सहनशक्ति बढ़ जाये। पीएम ने कहा कि पिछले 20 साल से गाली सुनने की आदत पड़ गयी है। राहुल पर तंज कसते हुए कहा कि 35 मिनट से बोल रहा हूं लेकिन अब जाकर करंट लगा है।