लोकसभा चुनाव 2014 v/s 2019 : जानिए किस राज्य में भाजपा को मिली बढ़त और कहां प्रदर्शन हुआ खराब

loksabha chunao results
लोकसभा चुनाव 2014 v/s 2019 : जानिए किस राज्य में भाजपा को मिली बढ़त और कहां प्रदर्शन हुआ खराब

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी की अगुआई में एनडीए ने एक बार फिर बड़ी जीत हासिल की है। इस बार के लोकसभा चुनावों में बीजेपी अकेले दम पर 300 पार पहुंचती दिख रही है। 2014 में बीजेपी ने लोकसभा की 543 सीटों में से 282 सीटें जीती थीं, लेकिन इस बार एनडीए 2014 की 336 सीटों के मुकाबले 343 सीटों पर काबिज होने के काफी करीब पहुंच गई है।

Loksabha Election 2019 Results V S 2014 Election Results For Bjp :

बता दें कि मोदी लहर ने हिंदी पट्टी और गुजरात में ही परचम नहीं लहराया है बल्कि पश्चिम बंगाल, ओडिशा, महाराष्ट्र और कर्नाटक में भी पार्टी को शानदार बढ़त दिलाई है। हालाकि केरल, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में उनका इतना जादू नहीं दिखाई दिया।

वहीं उत्तर प्रदेश में बीजेपी सीटों पर आगे है, जबकि सपा—बसपा गठबंधन को 20 सीटों पर बढ़त मिलती दिख रही है। याद रहे कि 2014 के लोकसभा चुनावों में बीजेपी ने सूबे की 71 लोकसभा सीटों पर जीत हासिल की थी।

उधर पश्चिम बंगाल में बीजेपी को बड़ी सफलता मिली है। यहां बीजेपी फिलहाल 19 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है, जबकि 2014 में केवल 2 सीटों पर ही बीजेपी के उम्मीदवार जीते थे। पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ टीएमसी राज्य की 42 लोकसभा सीटों में से 22 सीटों पर आगे है।

ओडिशा की 21 लोकसभा सीटों में से बीजेपी छह सीटों पर जबकि बीजू जनता दल 15 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है, जबकि 2014 में बीजेडी ने 20 सीटें जीती थीं और बीजेपी ने एक पर जीत दर्ज की थी। वहीं कर्नाटक लोकसभा चुनाव की गुरुवार को हो रही मतगणना में कर्नाटक में बीजेपी 21 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है। जबकि कांग्रेस और जनता दल-सेकुलर (जेडीएस ) दो-दो सीटों पर बढ़त बनाए हुए हैं। बता दें कि पिछले लोकसभा चुनाव में बीजेपी को यहां 17 सीटें मिली थी।

बिहार में इस बार भी विपक्ष का सूपड़ा साफ हो गया है। बीजेपी, जेडीयू, एलजेपी गठबंधन 37 सीटों पर आगे है, जबकि आरजेडी, कांग्रेस, आरएलएसपी, हम गठबंधन 3 सीटों पर ही बढ़त बनाए हुए है। 2014 में बीजेपी को यहां 22 सीटें मिली थी, हालाकि इस बार पार्टी यहां ने यहां सिर्फ 17 सीटों पर ही अपने दावेदार खड़े किए थे। वहीं महाराष्ट्र में फिर बीजेपी-शिवसेना गठबंधन ने कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन को ध्वस्त कर दिया है। बीजेपी यहां 23 सीटो पर बढ़त बनाए हुए हैं, याद रहे कि बीजेपी ने 2014 में भी इतनी ही सीटें जीती थी।

वहीं मोदी के गृहराज्य में बीजेपी 2014 के अपने प्रदर्शन को दोहराती हुई दिख रही है जब उसने सभी 26 सीटें जीती थी। हिमाचल प्रदेश में बीजेपी राज्य की सभी चारों लोकसभा सीटों को जीतने जा रही है। बीते चुनाव में भी बीजेपी ने यहां सभी सीटों पर जीत हासिल की थी।

उधर उत्तराखंड में बीजेपी के उम्मीदवार रुझानों में राज्य की सभी पांचों सीटों पर बढ़त बनाए हुए हैं। यहां बीजेपी के उम्मीदवार 60,000 से सवा लाख वोटों तक की बढ़त बनाए हुए हैं। पिछले चुनावों में यहां बीजेपी ने सभी सीटों पर जीत ​हासिल की थी।

तेलंगाना में भी बीजेपी चार सीटों पर बढ़त बनाए हुए है। मध्य प्रदेश में बीजेपी 29 में से 28 लोकसभा सीटों पर आगे चल रही है। वहीं राजस्थान में भी एनडीए के उम्मीदवार सभी 25 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है। जबकि छत्तीसगढ़ में बीजेपी 10 जबकि कांग्रेस 1 सीट पर बढ़त बनाए हुए है। वहीं राजधानी दिल्ली में बीजेपी सभी दस सीटों पर बढ़त बनाए हुए है।

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी की अगुआई में एनडीए ने एक बार फिर बड़ी जीत हासिल की है। इस बार के लोकसभा चुनावों में बीजेपी अकेले दम पर 300 पार पहुंचती दिख रही है। 2014 में बीजेपी ने लोकसभा की 543 सीटों में से 282 सीटें जीती थीं, लेकिन इस बार एनडीए 2014 की 336 सीटों के मुकाबले 343 सीटों पर काबिज होने के काफी करीब पहुंच गई है। बता दें कि मोदी लहर ने हिंदी पट्टी और गुजरात में ही परचम नहीं लहराया है बल्कि पश्चिम बंगाल, ओडिशा, महाराष्ट्र और कर्नाटक में भी पार्टी को शानदार बढ़त दिलाई है। हालाकि केरल, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में उनका इतना जादू नहीं दिखाई दिया। वहीं उत्तर प्रदेश में बीजेपी सीटों पर आगे है, जबकि सपा—बसपा गठबंधन को 20 सीटों पर बढ़त मिलती दिख रही है। याद रहे कि 2014 के लोकसभा चुनावों में बीजेपी ने सूबे की 71 लोकसभा सीटों पर जीत हासिल की थी। उधर पश्चिम बंगाल में बीजेपी को बड़ी सफलता मिली है। यहां बीजेपी फिलहाल 19 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है, जबकि 2014 में केवल 2 सीटों पर ही बीजेपी के उम्मीदवार जीते थे। पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ टीएमसी राज्य की 42 लोकसभा सीटों में से 22 सीटों पर आगे है। ओडिशा की 21 लोकसभा सीटों में से बीजेपी छह सीटों पर जबकि बीजू जनता दल 15 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है, जबकि 2014 में बीजेडी ने 20 सीटें जीती थीं और बीजेपी ने एक पर जीत दर्ज की थी। वहीं कर्नाटक लोकसभा चुनाव की गुरुवार को हो रही मतगणना में कर्नाटक में बीजेपी 21 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है। जबकि कांग्रेस और जनता दल-सेकुलर (जेडीएस ) दो-दो सीटों पर बढ़त बनाए हुए हैं। बता दें कि पिछले लोकसभा चुनाव में बीजेपी को यहां 17 सीटें मिली थी। बिहार में इस बार भी विपक्ष का सूपड़ा साफ हो गया है। बीजेपी, जेडीयू, एलजेपी गठबंधन 37 सीटों पर आगे है, जबकि आरजेडी, कांग्रेस, आरएलएसपी, हम गठबंधन 3 सीटों पर ही बढ़त बनाए हुए है। 2014 में बीजेपी को यहां 22 सीटें मिली थी, हालाकि इस बार पार्टी यहां ने यहां सिर्फ 17 सीटों पर ही अपने दावेदार खड़े किए थे। वहीं महाराष्ट्र में फिर बीजेपी-शिवसेना गठबंधन ने कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन को ध्वस्त कर दिया है। बीजेपी यहां 23 सीटो पर बढ़त बनाए हुए हैं, याद रहे कि बीजेपी ने 2014 में भी इतनी ही सीटें जीती थी। वहीं मोदी के गृहराज्य में बीजेपी 2014 के अपने प्रदर्शन को दोहराती हुई दिख रही है जब उसने सभी 26 सीटें जीती थी। हिमाचल प्रदेश में बीजेपी राज्य की सभी चारों लोकसभा सीटों को जीतने जा रही है। बीते चुनाव में भी बीजेपी ने यहां सभी सीटों पर जीत हासिल की थी। उधर उत्तराखंड में बीजेपी के उम्मीदवार रुझानों में राज्य की सभी पांचों सीटों पर बढ़त बनाए हुए हैं। यहां बीजेपी के उम्मीदवार 60,000 से सवा लाख वोटों तक की बढ़त बनाए हुए हैं। पिछले चुनावों में यहां बीजेपी ने सभी सीटों पर जीत ​हासिल की थी। तेलंगाना में भी बीजेपी चार सीटों पर बढ़त बनाए हुए है। मध्य प्रदेश में बीजेपी 29 में से 28 लोकसभा सीटों पर आगे चल रही है। वहीं राजस्थान में भी एनडीए के उम्मीदवार सभी 25 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है। जबकि छत्तीसगढ़ में बीजेपी 10 जबकि कांग्रेस 1 सीट पर बढ़त बनाए हुए है। वहीं राजधानी दिल्ली में बीजेपी सभी दस सीटों पर बढ़त बनाए हुए है।