महाराष्ट्र में शिवसेना-भाजपा साथ लड़ेगी चुनाव, इतनी सीटों पर बनी सहमति

maharashtra-election-bjp-shivsena
महाराष्ट्र में शिवसेना-भाजपा साथ लड़ेगी चुनाव, इतनी सीटों पर बनी सहमति

मुंबई। महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) और शिवसेना में आगामी लोकसभा चुनाव और विधानसभा चुनाव में साथ रहकर चुनाव लड़ने की सहमति बन गयी है। महाराष्ट्र में लोकसभा चुनाव में शिवसेना 23 और भाजपा 25 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि अब हमारे बीच कोई गलतफहमी नहीं है।

Loksabha Elections Alliance Bjp Will Contest 23 Seats And Shiv Sena 23 Seats In Maharashtra :

शिवसेना के साथ भाजपा के गठबंधन का ऐलान अमित शाह और उद्धव ठाकरे ने संयुक्त रूप से प्रेस कॉन्फ्रेंस करके की। इस मौके पर उद्धव ठाकरे ने कहा कि वे भाजपा से गठबंधन करके लोकसभा और विधानसभा चुनाव साथ-साथ लड़ेंगे। इस दौरान अमित शाह ने कहा, दोनों पार्टियों के समर्थकों को कहना चाहता हूं कि शिवसेना और अकाली ने हमेशा अच्छे-बुरे समय में भाजपा का साथ दिया है। मुझे खुशी है कि दोनों पार्टियां मतभेदों को भुलकर आगे बढ़ रही हैं। हम दोनों कई मुद्दों पर साथ आगे बढ़े हैं।

वहीं फडणवीस ने कहा कि शिवसेना और भाजपा का 25 साल से गठबंधन है। कुछ मुद्दों पर मतभेद हुआ होगा, पर सैद्धांतिक रूप से दोनों हिंदुत्ववादी हैं, इसलिए हम इतने सालों तक साथ रहे। फडणवीस ने कहा कि यह वक्त मतभेद भुलाकर भाजपा और शिवसेना के साथ आने का है।

उद्धव ठाकरे ने कहा कि पुलवामा में जो हमला हुआ है। उसमें हमारे सैनिकों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाना चाहिए। भारत सरकार और देश कमजोर नहीं हैं, यह दुनिया को पता चलना चाहिए, बस यही हमारी इच्छा है।

मुंबई। महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) और शिवसेना में आगामी लोकसभा चुनाव और विधानसभा चुनाव में साथ रहकर चुनाव लड़ने की सहमति बन गयी है। महाराष्ट्र में लोकसभा चुनाव में शिवसेना 23 और भाजपा 25 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि अब हमारे बीच कोई गलतफहमी नहीं है। शिवसेना के साथ भाजपा के गठबंधन का ऐलान अमित शाह और उद्धव ठाकरे ने संयुक्त रूप से प्रेस कॉन्फ्रेंस करके की। इस मौके पर उद्धव ठाकरे ने कहा कि वे भाजपा से गठबंधन करके लोकसभा और विधानसभा चुनाव साथ-साथ लड़ेंगे। इस दौरान अमित शाह ने कहा, दोनों पार्टियों के समर्थकों को कहना चाहता हूं कि शिवसेना और अकाली ने हमेशा अच्छे-बुरे समय में भाजपा का साथ दिया है। मुझे खुशी है कि दोनों पार्टियां मतभेदों को भुलकर आगे बढ़ रही हैं। हम दोनों कई मुद्दों पर साथ आगे बढ़े हैं। वहीं फडणवीस ने कहा कि शिवसेना और भाजपा का 25 साल से गठबंधन है। कुछ मुद्दों पर मतभेद हुआ होगा, पर सैद्धांतिक रूप से दोनों हिंदुत्ववादी हैं, इसलिए हम इतने सालों तक साथ रहे। फडणवीस ने कहा कि यह वक्त मतभेद भुलाकर भाजपा और शिवसेना के साथ आने का है। उद्धव ठाकरे ने कहा कि पुलवामा में जो हमला हुआ है। उसमें हमारे सैनिकों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाना चाहिए। भारत सरकार और देश कमजोर नहीं हैं, यह दुनिया को पता चलना चाहिए, बस यही हमारी इच्छा है।