भगवान कृष्ण से पर्यावरण को बचाने की प्रेरणा मिलती है- पीएम मोदी

PM Modi at mathura
भगवान कृष्ण से पर्यावरण को बचाने की प्रेरणा मिलती है- पीएम मोदी

मथुरा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को मथुरा के पंडित दीनदयाल उपाध्याय पशु चिकित्सा विज्ञान विश्वविद्यालय और गो अनुसंधान केंद्र में पशु आरोग्य मेले की शुरुआत की। इसके साथ ही पशुओं में होने वाली अलग-अलग बीमारियों के टीकाकरण कार्यक्रम की भी शुरुआत की गई।

Lord Krishna Gets Inspiration To Save Environment Pm Modi :

सिर्फ एक बार प्रयोग में आने वाली प्लास्टिक के इस्तेमाल को खत्म करने की मुहिम की शुरुआत करते हुए पीएम मोदी ने देशवासियों से अपील की कि 2 अक्टूबर तक घर, आफिस, आसपास की जगह को सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्त करें।
इसके अलावा पीएम ने विरोधियों पर तंज कसते हुए कहा कि हमारे देश में कुछ लोगों के कान पर अगर ऊं या गाय शब्द पड़ता है तो उनके बाल खड़े हो जाते हैं। पीएम मोदी ने कहा कि पशुधन के बिना देश की अर्थव्यवस्था, गांव कुछ भी ठी​क ढंग से नहीं चल सकता है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि प्लास्टिक के कचरे से पशुओं, नदियों, झील, तालाब में रहने वाले जीवों को भारी नुकसान होता है। देश को सिंगल यूज प्लास्टिक से छुटकारा पाना ही होगा।
पीएम मोदी ने कहा कि जब अपने घर से बाहर निकलें तो सामान खरीदने के लिए साथ में कपड़े का झोला लेकर जाएं।

इसके पहले पीएम ने अपने संबोधन की शुरुआत ब्रज भाषा में की। प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत को भगवान कृष्ण से पर्यावरण को बचाने की प्रेरणा मिलती है। पीएम ने कहा कि दूध, दही, माखन, धेनु, प्रकृति, पर्यावरण के बिना बालगोपाल की कल्पना नहीं हो सकती है।

मथुरा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को मथुरा के पंडित दीनदयाल उपाध्याय पशु चिकित्सा विज्ञान विश्वविद्यालय और गो अनुसंधान केंद्र में पशु आरोग्य मेले की शुरुआत की। इसके साथ ही पशुओं में होने वाली अलग-अलग बीमारियों के टीकाकरण कार्यक्रम की भी शुरुआत की गई। सिर्फ एक बार प्रयोग में आने वाली प्लास्टिक के इस्तेमाल को खत्म करने की मुहिम की शुरुआत करते हुए पीएम मोदी ने देशवासियों से अपील की कि 2 अक्टूबर तक घर, आफिस, आसपास की जगह को सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्त करें। इसके अलावा पीएम ने विरोधियों पर तंज कसते हुए कहा कि हमारे देश में कुछ लोगों के कान पर अगर ऊं या गाय शब्द पड़ता है तो उनके बाल खड़े हो जाते हैं। पीएम मोदी ने कहा कि पशुधन के बिना देश की अर्थव्यवस्था, गांव कुछ भी ठी​क ढंग से नहीं चल सकता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि प्लास्टिक के कचरे से पशुओं, नदियों, झील, तालाब में रहने वाले जीवों को भारी नुकसान होता है। देश को सिंगल यूज प्लास्टिक से छुटकारा पाना ही होगा। पीएम मोदी ने कहा कि जब अपने घर से बाहर निकलें तो सामान खरीदने के लिए साथ में कपड़े का झोला लेकर जाएं। इसके पहले पीएम ने अपने संबोधन की शुरुआत ब्रज भाषा में की। प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत को भगवान कृष्ण से पर्यावरण को बचाने की प्रेरणा मिलती है। पीएम ने कहा कि दूध, दही, माखन, धेनु, प्रकृति, पर्यावरण के बिना बालगोपाल की कल्पना नहीं हो सकती है।