सावन स्पेशल: सावन मे भगवान शिव को रखना है प्रसन्न, तो भूल कर भी ना करें ये काम…

sawan-special-1594264197-lb

सावन का महीना भोलेनाथ के भक्तों के लिए किसी त्यौहार से कम नहीं होता हैं भक्तों का मानना होता है कि सावना मे भोले अपने भक्तों के नजदीक ही रहते हैं। जब उनके भक्तों शिव की भक्ति करने का मौका मिलता हैं तो भक्तों को ये अहसास होता है की भोलेनाथ उनके साथ हैं।

Lord Shiva Has To Be Happy In The Spring So Do Not Forget This Work :

सावन के इस महीने में भोले भंडारी को प्रसन्न कर उनका आशीर्वाद प्राप्त किया जा सकता हैं। लेकिन इसी के साथ ही सावन के महीने में शिव का प्रकोप भी झेलना पड़ सकता हैं। जी हाँ, आपके द्वारा की गई कुछ गलतियां शिवजी का प्रकोप लाती हैं। तो आइये जानते हैं इसके बारे में।

सावन मे न करें ये काम

  • शास्त्रों में बताया गया है कि सावन में भक्त और ईश्वर के बीच की दूरी कम हो जाती है। इसलिए सुबह देरतक सो कर इसे व्यर्थ नहीं करना चाहिए। सुबह जल्दी उठकर शिवजी की पूजा करनी चाहिए।
  • हिंदू धर्म में सावन का विशेष महत्व बताया गया है इसलिए इस महीने में ही नहीं कभी भी मांस-मदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे आपका मन अशुद्ध होता है और अशुद्ध मन से भगवान की पूजा नहीं की जाती।
  • सावन में शिवजी का अभिषेक करते समय कभी भी हल्दी का प्रयोग ना करें।
  • शास्त्रों में सावन के महीने में बैंगन का खाना वर्जित माना गया है। उसे अशुद्ध बताया गया है। इसलिए बैंग को द्वादशी, चतुर्दशी और कार्तिक मास में भी इसे खाने की मनाही कही गई है।
  • शिवभक्तों को कभी भी सावन में बुरे विचार मन में नहीं लाने चाहिए। इस समय धर्म संबंधी किताबों का अध्ययन करना चाहिए।
  • सावन में ही नहीं कभी भी माता-पिता, बुजुर्ग व्यक्ति, भाई-बहन, स्त्री, गरीबों और ज्ञानी लोगों का अपमान नहीं करना चाहिए।
सावन का महीना भोलेनाथ के भक्तों के लिए किसी त्यौहार से कम नहीं होता हैं भक्तों का मानना होता है कि सावना मे भोले अपने भक्तों के नजदीक ही रहते हैं। जब उनके भक्तों शिव की भक्ति करने का मौका मिलता हैं तो भक्तों को ये अहसास होता है की भोलेनाथ उनके साथ हैं। सावन के इस महीने में भोले भंडारी को प्रसन्न कर उनका आशीर्वाद प्राप्त किया जा सकता हैं। लेकिन इसी के साथ ही सावन के महीने में शिव का प्रकोप भी झेलना पड़ सकता हैं। जी हाँ, आपके द्वारा की गई कुछ गलतियां शिवजी का प्रकोप लाती हैं। तो आइये जानते हैं इसके बारे में।

सावन मे न करें ये काम

  • शास्त्रों में बताया गया है कि सावन में भक्त और ईश्वर के बीच की दूरी कम हो जाती है। इसलिए सुबह देरतक सो कर इसे व्यर्थ नहीं करना चाहिए। सुबह जल्दी उठकर शिवजी की पूजा करनी चाहिए।
  • हिंदू धर्म में सावन का विशेष महत्व बताया गया है इसलिए इस महीने में ही नहीं कभी भी मांस-मदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे आपका मन अशुद्ध होता है और अशुद्ध मन से भगवान की पूजा नहीं की जाती।
  • सावन में शिवजी का अभिषेक करते समय कभी भी हल्दी का प्रयोग ना करें।
  • शास्त्रों में सावन के महीने में बैंगन का खाना वर्जित माना गया है। उसे अशुद्ध बताया गया है। इसलिए बैंग को द्वादशी, चतुर्दशी और कार्तिक मास में भी इसे खाने की मनाही कही गई है।
  • शिवभक्तों को कभी भी सावन में बुरे विचार मन में नहीं लाने चाहिए। इस समय धर्म संबंधी किताबों का अध्ययन करना चाहिए।
  • सावन में ही नहीं कभी भी माता-पिता, बुजुर्ग व्यक्ति, भाई-बहन, स्त्री, गरीबों और ज्ञानी लोगों का अपमान नहीं करना चाहिए।