नहीं लगती है भूख, कहीं ये तो नहीं इसकी वजह

भागदौड़ भरी जिन्दगी में अपना ध्यान रखना बहुत मुश्किल होता जा रहा है। जिस वजह से शरीर का वज़न बढ़ने लगता है या फिर कम हो जाता है। दोनों ही दशाओं में इसका संबन्ध हमारी भूख यानी भोजन खाने की ईच्छा पर निर्भर करता है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं भूख न लगने के कारणों के बारे में।

चिकित्सकों का मानना है कि इसे आमतौर पर निजी तनाव, उच्च रक्तचाप (हाई बीपी) और कार्यस्थल के तनाव से से जोड़कर देखा जाता है। फिट ओर हेल्दी रहने के लिए ज़रूरी है कि आप समय से भोजन करें। अगर आपकी निजी जिन्दगी में तनाव है तो आप सुबह और शाम यानी घर पर भोजन करने से बचना शुरू कर देते हैं। ठीक वैसे ही अगर आप आॅफिस के तनाव से ग्रस्त हैं तो आपका लंच समय पर नहीं पाता जिस वजह से रुटीन टूट जाता है।

ये हो सकती है आपको भूख न लगने के कारण—

डिप्रेशन और तनाव
अगर आपको किसी चीज़ की बहुत चिंता है तो आपकी भूख कम होती जाती है जिससे आपका शरीर कमजोर होने लगता है। इससे चक्कर आना और जल्दी थकान जैसी महसूस होने लगती है।

उच्च रक्तचाप व सिर दर्द की दवाएं
अधिक दवाएं लेने से भी भूखलगाना बंद हो जाती है। चिकित्सक कहते हैं कि अत्यधिक दवाएं लेने से शरीर को बहुत नुकसान होता है। ये हमारे पाचन तंत्र को प्रभावित करतीं हैं।

एलर्जी व जुखाम
एलर्जी और जुखाम जैसी ​बीमारी आपके सूंघने की क्षमता को कम कर देते हैं। जब हमें खाने पीने की चीजों की खुशबू नहीं मिलती तो उन व​स्तुओं के प्रति हमारी रुचि खत्म होने लगती है।

गैस्ट्रोएन्टेरिटिस
दूषित खाना या पानी पीने से होने वाली ये बीमारी आपके भूख न लगने का एक मुख्य कारण हो सकती है|

उपर्युक्त सभी कारण हो सकते हैं जिनके कारण आप की भूख कम होती जा रही है। एक स्वस्थ जीवन के लिए ज़रूरी है आप स्वस्थ रहें। किसी ने सही कहा है कि स्वास्थ्य नहीं तो कुछ नहीं। स्वस्थ रहें खुश रहें।