लव मैरिज या अरेंज मैरिज जानें कौन सी है बेहतर

अक्सर लोग इस बात पर बहस करते हैं कि लव मैरिज अच्छी होती है या अरेंज मैरिज। शादी की उम्र तक आते-आते लोग इस बात से परेशान रहने लगते हैं कि उन्हें अपने पेरेंट्स के कहे अनुसार अरेंज मैरिज करनी चाहिए या खुद से किसी को पसंद करके लव मैरिज करनी चाहिए। कुछ लोगों को ज़िन्दगी में अपना हमसफ़र आसानी से मिल जाता है, इसलिए उन्हें लव मैरिज को लेकर कोई संदेह नहीं होता। लेकिन कुछ लोगों को अपनी शादी को लेकर काफी कन्फ्यूज़न रहता है, वह फैसला नहीं ले पाते कि उनके लिए क्या सही है, लव मैरिज या अरेंज मैरिज ? अगर आप भी अभी तक इसी दुविधा में हैं और जानना चाहते हैं कि लव मैरिज या अरेंज मैरिज में से कौन सी ज्यादा सही होती है, तो यह आर्टिकल जरूर पढ़िए…

1. शादी के पहले क्‍या होता है?
लव मैरिज में: आपको इस बारे में पूरी जानकारी होती है कि आपके साथी को क्या पसंद है और क्या नहीं। यहां तक की आपको अपने पार्टनर के किसी पुराने रिश्ते के बारे में भी पूरी जानकारी होती है। इस वजह से लव मैरिज को अच्छा माना जाता है।

{ यह भी पढ़ें:- पुरुष मस्तिष्क में सेक्स, आक्रमकता परस्पर जुड़ी होती है }

अरेंज मैरिज: इस तरह की शादी में हर चीज़ एक सरप्राइज़ की तरह होती है। इसमें माता-पिता की जिम्मेदारी ज्यादा रहती है। लेकिन एक अच्छी बात होती है कि आप शादी करने से कभी भी मना कर सकते हैं।

2. शादी का फैसला कैसे लेते हैं जोड़े ?

{ यह भी पढ़ें:- जानिये क्यों बेड पर बेहतर परफॉर्म नहीं कर पाते हैं मर्द ? }

लव मैरिज : जो लोग अपने रिश्ते के लिए काफी सीरियस होते हैं और ज़िन्दगी भर साथ रहना चाहते हैं, वही लोग लव मैरिज करते हैं। इन लोगों को शादी का फैसला लेने के लिए किसी तीसरे इंसान की जरूरत नहीं होती।

अरेंज मैरिज : इस तरह की शादी में माता पिता के अतिरिक्त किसी बिचौलिए का हस्तक्षेप भी होता है। बिचौलिया अपनी ओर से लड़का और लड़की से हां कहलाने की पूरी कोशिश करता है। अरेंज मैरिज में लड़का और लड़की एक 1दूसरे से एक- दो बार मिलते तो हैं, लेकिन ठीक से बात नहीं कर पाते, इसलिए वह एक दूसरे को इतने अच्छे से नहीं जान पाते।

3. शादी वाले दिन कपल्‍स कैसा महसूस करते हैं?
लव मैरिज: उन्‍हें ऐसा फील होता है जैसे कि उन्‍होने कोई जंग जीती हो। उनके इतने वर्षों की कोशिश मानों सफल हो गई हो। एक समय जो लोग उनकी शादी के खिलाफ थे, आज वही लोग उन्हें आर्शिवाद देते हैं।

{ यह भी पढ़ें:- ऐसे फिगर वाली महिलाओ पर फ़िदा होते हैं मर्द ! }

अरेंज मैरिज: यह आपके जीवन का सबसे अहम निर्णय होता है, इसलिए घबराहट महसूस होती है। आप पर कई जिम्मेदारियां अचानक आ जाती हैं। सब लोग और सब कुछ नया लगता है। साथ ही आपको अपने हर फैसले में अब दूसरों की राय भी लेनी पड़ेती है।

4. कपल्स कैसे शुरूवात करते हैं नई जिंदगी की:
लव मैरिज: आप अपने साथी को शादी के पहले से जानती थी, इसलिये आपको उसके साथ आगे कोई परेशानी नहीं होगी। चाहे जितनी भी लड़ाइयां हों, आपका प्‍यार सदा बना रहेगा। चाहे कुछ हो लेकिन आपका पति हर समय आपके लिए खड़ा रहेगा।

अरेंज मैरिज: आपके इनलॉज़ पूरी कोशिश करते हैं आपको अपना बनाने की। धीरे धीरे आप भी नई फैमिलि में अडजस्‍ट होने लगती हैं। आपको महसूस होता है कि आपके पति अब उतने अंजान नहीं लगते जितने पहले लगा करते थे। आपको अपने पति से प्यार होने लगता हैं और अब लड़ाई-झगड़ों में भी एक अलग सा मज़ा आने लगता है।

5. करियर? बच्‍चे?
लव मैरिज: आप दोनों पहले से यह जानते होते हैं कि आपको बच्‍चे कब चाहिये और आपके लिए अपका करियर कितना महत्वपूर्ण है।

{ यह भी पढ़ें:- बेडरूम में ये अरमान पूरे करना चाहती हैं हर महिला! }

अरेंज मैरिज: इसमें आप पर बच्चा पैदा करने का प्रेशर रहता है। आपके इनलॉज़ जल्द से जल्द दादा-दादी बनने का सपना देखने लगते हैं। इसलिए अरेंज मैरिज में करियर पर फोकस करना काफी मुश्किल हो जाता है।

6. क्या होता है कुछ वर्षों बाद?
लव मैरिज: आप दोनों के बीच कई बार लड़ाई-झगड़ा होगा, पर अपने सोलमेट के साथ शादी करने का निर्णय आपको सदा ख़ुशी देगा। आपका प्यार ज़िन्दगी भर आपका साथ देगा, चाहे कोई भी मुश्किल आए आप दोनों साथ मिलकर इसका हल निकाल लेंगे।

अरेंज मैरिज: भले ही अरेंज मैरिज में आपको एक दूसरे को समझने में काफी समय लगता है। लेकिन कुछ सालों बाद आप एक दूसरे से काफी प्यार करने लगते हैं। साथ ही आपको अपने पति का परिवार भी अपना परिवार ही लगने लगता है चाहे लव मैरिज हो या अरेंज मैरिज दोनों ही समान रूप से अच्छी होती हैं। यह सब आपकी किस्मत पर है कि आपको आपका प्यार शादी से पहले मिलता है या शादी के बाद। इसलिए जीवन में आपको जब भी प्यार मिले, उसे स्वीकार करें। शादी में प्यार और भरोसा होना सबसे जरूरी है, फिर चाहे वह लव मैरिज हो या अरेंज मैरिज।
चाहे लव मैरिज हो या अरेंज मैरिज दोनों ही समान रूप से अच्छी होती हैं। यह सब आपकी किस्मत पर है कि आपको आपका प्यार शादी से पहले मिलता है या शादी के बाद। इसलिए जीवन में आपको जब भी प्यार मिले, उसे स्वीकार करें। शादी में प्यार और भरोसा होना सबसे जरूरी है, फिर चाहे वह लव मैरिज हो या अरेंज मैरिज।