प्रेम त्रिकोण: महिला चिकित्सक ने पति की प्रेमिका और बेटे को जिंदा जलाया

जिंदा जलाया
प्रेम त्रिकोण: महिला चिकित्सक ने पति की प्रेमिका और बेटे को जिंदा जलाया

जयपुर। राजस्थान के भरतपुर में एक चिकित्सक डॉक्टर ने अपने डॉक्टर पति की प्रेमिका घर में आग लगा दी। इसके बाद उसने बाहर से दरवाजा बंद कर दिया। दम घुटने से महिला और उसके छह साल के बच्चे की मौत हो गई। बचाने के प्रयास में महिला का भाई भी झुलस गया। पुलिस ने इस मामले में आरोपी महिला ​चिकित्सक, उसकी सास और पति को हिरासत में ले लिया है।

Love Triangle Female Doctor Burns Husbands Girlfriend And Son Alive :

पुलिस के मुताबिक मृतका डॉक्टर दंपति के क्लीनिक पर काम करती थी। पति से अफेयर की जानकारी होने पर महिला डॉक्टर ने उसे नौकरी से निकाल दिया था। इसके बाद भी डॉक्टर और युवती का मिलना-जुलना जारी रहा। डॉक्टर ने उसे रहने के लिए मकान भी दे रखा था।

गुरुवार की शाम करीब चार बजे महिला डॉक्टर सीमा गुप्ता, अपनी सास सुलेखा गुप्ता के साथ डॉक्टर पति सुदीप गुप्ता की प्रेमिका दीपा गुर्जर के घर पहुंची। दोनों महिलाओं के बीच कहासुनी होने लगी। इसी बीच अचानक गुस्से में आकर सीमा गुप्ता ने अपने साथ लाई स्प्रिट की बोतल सोफे पर उड़ेलकर आग लगा दी। इसके बाद बाहर से घर का दरवाजा बंद कर दिया।

इस बीच आग इतनी भयानक हो गई कि कोई भी घर में घुसने की हिम्मत नहीं जुटा पाया। मौके पर पहुंचे दीपा के भाई अनुज (21) ने घर में घुसने की कोशिश की, लेकिन आग की लपटों में घिरकर वह भी झुलस गया। दम घुटने से 28 वर्षीय दीपा गुर्जर और उसके छह वर्षीय बेटे की मौत हो गई।

सूचना मिलने के बाद मौके पर दमकल विभाग की गाड़ियां पहुंची और आधे घंटे की मशक्कत के बाद आग बुझाई गई। कुछ देर में ही डॉ सुदीप गुप्ता, एसपी हैदर अली जैदी और सीओ सिटी हवा सिंह रायपुरिया मौके पर पहुंचे। देर रात तक मामले को लेकर पीड़ित पक्ष की ओर से कोई भी मामला दर्ज नहीं कराया गया था। पुलिस ने इस घटना में डॉ सुदीप, उनकी पत्नी डॉ सीमा और मां सुलेखा को हिरासत में लिया है।

जयपुर। राजस्थान के भरतपुर में एक चिकित्सक डॉक्टर ने अपने डॉक्टर पति की प्रेमिका घर में आग लगा दी। इसके बाद उसने बाहर से दरवाजा बंद कर दिया। दम घुटने से महिला और उसके छह साल के बच्चे की मौत हो गई। बचाने के प्रयास में महिला का भाई भी झुलस गया। पुलिस ने इस मामले में आरोपी महिला ​चिकित्सक, उसकी सास और पति को हिरासत में ले लिया है। पुलिस के मुताबिक मृतका डॉक्टर दंपति के क्लीनिक पर काम करती थी। पति से अफेयर की जानकारी होने पर महिला डॉक्टर ने उसे नौकरी से निकाल दिया था। इसके बाद भी डॉक्टर और युवती का मिलना-जुलना जारी रहा। डॉक्टर ने उसे रहने के लिए मकान भी दे रखा था। गुरुवार की शाम करीब चार बजे महिला डॉक्टर सीमा गुप्ता, अपनी सास सुलेखा गुप्ता के साथ डॉक्टर पति सुदीप गुप्ता की प्रेमिका दीपा गुर्जर के घर पहुंची। दोनों महिलाओं के बीच कहासुनी होने लगी। इसी बीच अचानक गुस्से में आकर सीमा गुप्ता ने अपने साथ लाई स्प्रिट की बोतल सोफे पर उड़ेलकर आग लगा दी। इसके बाद बाहर से घर का दरवाजा बंद कर दिया। इस बीच आग इतनी भयानक हो गई कि कोई भी घर में घुसने की हिम्मत नहीं जुटा पाया। मौके पर पहुंचे दीपा के भाई अनुज (21) ने घर में घुसने की कोशिश की, लेकिन आग की लपटों में घिरकर वह भी झुलस गया। दम घुटने से 28 वर्षीय दीपा गुर्जर और उसके छह वर्षीय बेटे की मौत हो गई। सूचना मिलने के बाद मौके पर दमकल विभाग की गाड़ियां पहुंची और आधे घंटे की मशक्कत के बाद आग बुझाई गई। कुछ देर में ही डॉ सुदीप गुप्ता, एसपी हैदर अली जैदी और सीओ सिटी हवा सिंह रायपुरिया मौके पर पहुंचे। देर रात तक मामले को लेकर पीड़ित पक्ष की ओर से कोई भी मामला दर्ज नहीं कराया गया था। पुलिस ने इस घटना में डॉ सुदीप, उनकी पत्नी डॉ सीमा और मां सुलेखा को हिरासत में लिया है।