ऐसे में LPG उपभोक्ताओं को मिल सकता है 50 लाख रुपए

lpg

नई दिल्ली। हर घर में आज एल.पी.जी. सिलैंडर जरूरी हिस्सा बन गया है। भारत में कुल 14 करोड़ से ज्यादा एल.पी.जी. ग्राहक हैं। कई बार असावधानियों के चलते ये मृत्यु का कारण भी बन जाता है। ऐसी घटनाओं के लिए LPG उपभोक्ताओं को 50 लाख रुपए तक का इंश्योरेंस दिया जाता है।

Lpg Consumers Right To Claim Upto Rs50 Lakh :

LPG उपभोक्ताओं के लिए होने वाले इंश्योरेंस में उपभोक्ता को कोई मासिक प्रीमियम नहीं भरनी होती। यदि कोई हादसा होता है तो यह राशि संबंधित एजेंसी को भर्ना पड़ता है। हर साल गैस सिलिंडर फटने से कई हादसे होते हैं लेकिन ज़्यादातर आम लोगों को अपने अधिकारों की पूरी जानकारी नहीं होती। यही वजह है कि हादसा होने के बाद भी बहुत कम लोग ही इस इंश्योरेंस के लिए क्लेम कर पाते हैं। जबकि यह क्लेम राशि लेना आपका अधिकार है और संबंधित एजेंसी की जिम्मेदारी।

जानिए इंश्योरेंस से जुड़ी खास बातें

  • LPG से यदि कोई हादसा होता है तो 40 लाख तक का इंश्योरेंस क्लेम किया जा सकता है। वहीं सिलिंडर फटने से यदि किसी व्यक्ति की मौत होती है तो 50 लाख रुपए तक का क्लेम किया जा सकता है। इस तरह के एक्सीडेंट में प्रत्येक पीड़ित व्यक्ति को 10 लाख रुपए तक की क्षतिपूर्ति राशि का नियम भी है।
  • इस इंश्योरेंस के लिए उपभोक्ता को कोई प्रीमियम नहीं भरना होती। गैस कनेक्शन लेने के साथ ही ग्राहक को यह इंश्योरेंस मिल जाता है। पेट्रोलियम कंपनियों इंडियन ऑयल, हिंदुस्तान पेट्रोलियम और भारत पेट्रोलियम के वितरकों को यह बीमा करवाना होता है।
  • इस तरह का कोई हादसा होता है तो सबसे पहले पुलिस और इंश्योरेंस कंपनी को जानकारी दें।
  • बीमा की रकम का दावा करने के लिए एफआईआर की कॉपी सुरक्षित रखें।
  • कोई घायल हुआ है तो उससे संबंधित बिल भी संभालकर रखें और हादसे में किसी की मौत हुई है तो उसकी रिपोर्ट की जरूरत पड़ेगी।
नई दिल्ली। हर घर में आज एल.पी.जी. सिलैंडर जरूरी हिस्सा बन गया है। भारत में कुल 14 करोड़ से ज्यादा एल.पी.जी. ग्राहक हैं। कई बार असावधानियों के चलते ये मृत्यु का कारण भी बन जाता है। ऐसी घटनाओं के लिए LPG उपभोक्ताओं को 50 लाख रुपए तक का इंश्योरेंस दिया जाता है।LPG उपभोक्ताओं के लिए होने वाले इंश्योरेंस में उपभोक्ता को कोई मासिक प्रीमियम नहीं भरनी होती। यदि कोई हादसा होता है तो यह राशि संबंधित एजेंसी को भर्ना पड़ता है। हर साल गैस सिलिंडर फटने से कई हादसे होते हैं लेकिन ज़्यादातर आम लोगों को अपने अधिकारों की पूरी जानकारी नहीं होती। यही वजह है कि हादसा होने के बाद भी बहुत कम लोग ही इस इंश्योरेंस के लिए क्लेम कर पाते हैं। जबकि यह क्लेम राशि लेना आपका अधिकार है और संबंधित एजेंसी की जिम्मेदारी।जानिए इंश्योरेंस से जुड़ी खास बातें
  • LPG से यदि कोई हादसा होता है तो 40 लाख तक का इंश्योरेंस क्लेम किया जा सकता है। वहीं सिलिंडर फटने से यदि किसी व्यक्ति की मौत होती है तो 50 लाख रुपए तक का क्लेम किया जा सकता है। इस तरह के एक्सीडेंट में प्रत्येक पीड़ित व्यक्ति को 10 लाख रुपए तक की क्षतिपूर्ति राशि का नियम भी है।
  • इस इंश्योरेंस के लिए उपभोक्ता को कोई प्रीमियम नहीं भरना होती। गैस कनेक्शन लेने के साथ ही ग्राहक को यह इंश्योरेंस मिल जाता है। पेट्रोलियम कंपनियों इंडियन ऑयल, हिंदुस्तान पेट्रोलियम और भारत पेट्रोलियम के वितरकों को यह बीमा करवाना होता है।
  • इस तरह का कोई हादसा होता है तो सबसे पहले पुलिस और इंश्योरेंस कंपनी को जानकारी दें।
  • बीमा की रकम का दावा करने के लिए एफआईआर की कॉपी सुरक्षित रखें।
  • कोई घायल हुआ है तो उससे संबंधित बिल भी संभालकर रखें और हादसे में किसी की मौत हुई है तो उसकी रिपोर्ट की जरूरत पड़ेगी।