लखनऊ आलू कांड के आरोपियों के समर्थन में आए अखिलेश यादव

Akhilesh-Yadav
लखनऊ आलू कांड के आरोपियों के समर्थन में आए अखिलेश यादव

लखनऊ। राजधानी लखनऊ में 6 जनवरी को मुख्यमंत्री आवास, विधानसभा और मुख्यमंत्री कार्यालय के सामने हुई आलू की बारिश के मामले में कार्रवाई करते हुए लखनऊ पुलिस की क्राइम ब्रांच ने कन्नौज निवासी दो लोगों की गिरफ्तारी दिखाई है। गिरफ्तार हुए लोगों में एक की पहचान समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता अंकित चौहान के रूप में हुई है जबकि दूसरा व्यक्ति उसकी गाड़ी का चालक बताया जा रहा है।

Lucknow Aalu Kand Akhilesh Yadav Supports Accused Arrested By Police :

आलू कांड में पार्टी कार्याकर्ता की गिरफ्तार पर प्रतिक्रिया देते हुए समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि आरोपी पार्टी का कार्यकर्ता ही नहीं किसान आन्दोलनकारी है। किसानों की दुर्दशा को सरकार के सामने लाने के लिए उसने ऐसा किया है। अगर युवाओं, छात्रों और किसानों की आवाज बनने किसी को गिरफ्तार करना कोई बड़ा काम नहीं है।

उन्होंने कहा कि अगर भाजपा सरकार बड़ा काम करना चाहती है, तो उसे किसानों की समस्या दूर करने के बारे में सोचना चाहिए। किसानों को आलू की सही कीमत मिल सके। ये कहां की बात हुई, जिसने किसानों के लिए आवाज उठाई आपने उसे गिरफ्तार कर लिया।

आलू फेंकने वालों ने अच्छा काम किया है। जो आलू खराब हो रहा है उसे प्रशासन को उपहार में देना चाहिए। वह पार्टी कार्यकर्ताओं से अपील करेंगे कि जब आलू खराब हो तो जिलाधिकारी को एक बोरी आलू देकर आएं। कम से कम अधिकारियों को समझ तो आएगा कि आलू खराब हो रहा है।

इसके साथ ही पुलिस की कार्रवाई पर तंज कसते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि पुलिस की इस सफल कार्रवाई के लिए वह लखनऊ के एसएसपी दीपक कुमार को यश भारती सम्मान देंगे।

लखनऊ। राजधानी लखनऊ में 6 जनवरी को मुख्यमंत्री आवास, विधानसभा और मुख्यमंत्री कार्यालय के सामने हुई आलू की बारिश के मामले में कार्रवाई करते हुए लखनऊ पुलिस की क्राइम ब्रांच ने कन्नौज निवासी दो लोगों की गिरफ्तारी दिखाई है। गिरफ्तार हुए लोगों में एक की पहचान समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता अंकित चौहान के रूप में हुई है जबकि दूसरा व्यक्ति उसकी गाड़ी का चालक बताया जा रहा है।आलू कांड में पार्टी कार्याकर्ता की गिरफ्तार पर प्रतिक्रिया देते हुए समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि आरोपी पार्टी का कार्यकर्ता ही नहीं किसान आन्दोलनकारी है। किसानों की दुर्दशा को सरकार के सामने लाने के लिए उसने ऐसा किया है। अगर युवाओं, छात्रों और किसानों की आवाज बनने किसी को गिरफ्तार करना कोई बड़ा काम नहीं है।उन्होंने कहा कि अगर भाजपा सरकार बड़ा काम करना चाहती है, तो उसे किसानों की समस्या दूर करने के बारे में सोचना चाहिए। किसानों को आलू की सही कीमत मिल सके। ये कहां की बात हुई, जिसने किसानों के लिए आवाज उठाई आपने उसे गिरफ्तार कर लिया।आलू फेंकने वालों ने अच्छा काम किया है। जो आलू खराब हो रहा है उसे प्रशासन को उपहार में देना चाहिए। वह पार्टी कार्यकर्ताओं से अपील करेंगे कि जब आलू खराब हो तो जिलाधिकारी को एक बोरी आलू देकर आएं। कम से कम अधिकारियों को समझ तो आएगा कि आलू खराब हो रहा है।इसके साथ ही पुलिस की कार्रवाई पर तंज कसते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि पुलिस की इस सफल कार्रवाई के लिए वह लखनऊ के एसएसपी दीपक कुमार को यश भारती सम्मान देंगे।