1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Lucknow Alaya Apartment Tragedy : बिल्डर और LDA के गठजोड़ का नतीजा है अलाया अपार्टमेंट हादसा, कमिश्नर ने FIR दर्ज करने के दिए आदेश

Lucknow Alaya Apartment Tragedy : बिल्डर और LDA के गठजोड़ का नतीजा है अलाया अपार्टमेंट हादसा, कमिश्नर ने FIR दर्ज करने के दिए आदेश

Lucknow Alaya Apartment Tragedy : यूपी (UP) की राजधानी लखनऊ (Lucknow) का बदनाम  यजदान बिल्डर (Yazdan Builder)  अलाया अपार्टमेंट (Alaya Apartment) हादसे को लेकर एक बार निशाने पर है। यजदान के तरफ से बनाए गए बिल्डिंग पहले भी लखनऊ को दहला चुके हैं। ये बिल्डर अब शहर में सरकारी जमीनों पर अवैध तरीके से इमारत बनाने के लिए कुख्यात हो चुका है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Lucknow Alaya Apartment Tragedy : यूपी (UP) की राजधानी लखनऊ (Lucknow) का बदनाम  यजदान बिल्डर (Yazdan Builder)  अलाया अपार्टमेंट (Alaya Apartment) हादसे को लेकर एक बार निशाने पर है। यजदान के तरफ से बनाए गए बिल्डिंग पहले भी लखनऊ को दहला चुके हैं। ये बिल्डर अब शहर में सरकारी जमीनों पर अवैध तरीके से इमारत बनाने के लिए कुख्यात हो चुका है। मंगलवार शाम हादसे का शिकार हुई हजरतगंज इलाके में स्थित अलाया अपार्टमेंट (Alaya Apartment) को भी यजदान बिल्डर(Yazdan Builder)   ने ही साल 2010 में बनाया था।

पढ़ें :- स्वामी प्रसाद मौर्य बोले- महिलाओं व शूद्रवर्ण के सम्मान की बात क्या की? पाखंडी व छद्मभेशी बाबाओं पर मानो पहाड़ ही टूट गया

अलाया अपार्टमेंट हादसे (Alaya Apartment Tragedy) में यजदान बिल्डर (Yazdan Builder) की बड़ी लापरवाही सामने आई है। यजदान ने असुरक्षित तरीके से बिल्डिंग बनाकर फ्लैट भेजे थे। मिली जानकारी के मुताबिक, पांच मंजिला इमारत के पिलर केवल 9-9 इंच के थे। कमजोर बुनियाद के बावजूद बेसमेंट में खुदाई हो रही थी। बताया जा रहा है कि बैंक्वेट हॉल के लिए बेसमेंट खोदा जा रहा था।

स्थानीय लोगों ने बताया कि इमारत में खुदाई और ड्रिलिंग का रहवासियों ने विरोध भी किया था। इसे लेकर बिल्डर से झगड़ा भी हुआ था । लोगों के विरोध के बावजूद बिल्डर मनमानी करता है और अंततः ये दर्दनाक हादसा हुआ। यजदान ने अगर ईमानदारी से बिल्डिंग बनाई होती और कमजोर बुनियाद होने के कारण खुदाई का काम ना करता तो आज अपार्टमेंट के मलबे में लोग ना दबते।

एलडीए भी जिम्मेदार

इस घटना के लिए अकेले बदनाम यजदान बिल्डर (Yazdan Builder) को ही अकेले जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता। इस बिल्डर ने जो शहर भर में अवैध इमारत का जाल बिछा रखा है, ये बगैर सरकारी अधिकारियों के संरक्षण के बगैर संभव नहीं है। अलाया अपार्टमेंट हादसा बिल्डर और भ्रष्ट सरकारी तंत्र के गठजोड़ का नतीजा है। बिल्डर के अवैध निर्माण के लिए लखनऊ विकास प्राधिकारण (LDA ) के इंजीनियरों और अधिकारियों के अलावा पुलिस और फायर ब्रिगेड से भी सांठगांठ रही है।

पढ़ें :- स्वामी प्रसाद मौर्य का SC/ST और OBC संगठन एक फरवरी को करेंगे सम्मान समारोह

लखनऊ प्रशासन अब यजदान बिल्डर पर शिकंजा कसने की तैयारी

अलाया अपार्टमेंट हादसे (Alaya Apartment Tragedy)  के बाद लखनऊ प्रशासन अब यजदान बिल्डर (Yazdan Builder) के विरूद्ध शिकंजा कसने के मूड में है। मंडलायुक्त रोशन जैकब (Divisional Commissioner Roshan Jacob) ने एलडीए (LDA )  के अधिकारियों को अपार्टमेंट के मालिक नवाजिश शाहिद, मोहम्मद तारिक और यजदान बिल्डर पर मुकदमा पंजीकृत करने का निर्देश दिया है। लखनऊ कमिश्नर (Lucknow Commissioner) ने शहर में बिल्डर द्वारा बनाई गई इमारतों की जांच करने के भी निर्देश दिए हैं। जांच में घटिया व अवैध निर्माण मिलने की स्थिति में तत्काल धवस्तीकरण कराने को कहा है। एलडीए (LDA )  के अधिकारी बिल्डर की सभी संपत्तियों का ब्यौरा तलाश रहे हैं उसने कहां-कहां बिल्डिंग बनाई है, इसकी सूची तैयार की जा रही है। इन पर एक्शन आज ही से शुरू हो जाएगा।

जानें कौन है यजदान बिल्डर?

लखनऊ का सबसे कुख्यात और मनबढ़ बिल्डर के तौर पर जाने जाने वाला बिल्डर माफिया और बदमाश प्रवृत्ति का बताया जाता है। कंस्ट्रक्शन कंपनी यजदान बिल्डर (Yazdan Builder)   का मालिक फहज याजदानी (Owner Fahaj Yazdani) राजनीति में भी हाथ आजमा चुका है। 2017 के विधानसभा चुनाव में वह बिजनौर की के बढ़ापुर विधानसभा सीट से बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ा था। महज आठवीं पास यह बिल्डर लखनऊ का ही रहने वाला है। बताया जाता है कि इसने सियासी रसूख के बल पर बहुत जल्द तरक्की हासिल कर ली।

पढ़ें :- Lucknow News : अलाया अपार्टमेंट मामले में लखनऊ पुलिस का बड़ा एक्शन, पूर्व मंत्री शाहिद मंजूर के भतीजे को किया गिरफ्तार
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...