1. हिन्दी समाचार
  2. लखनऊ कमिश्नर सुजीत पांडेय निभा चुके हैं कई अहम पदों पर जिम्मेदारियां, सीबीआई समेत ​इन जगहों पर रहे हैं तैनात

लखनऊ कमिश्नर सुजीत पांडेय निभा चुके हैं कई अहम पदों पर जिम्मेदारियां, सीबीआई समेत ​इन जगहों पर रहे हैं तैनात

By शिव मौर्या 
Updated Date

Lucknow Commissioner Sujit Pandey Has Played Many Important Positions Of Responsibilities Nandi Village Violence And Mumbai Blast Played An Important Role

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने लखनऊ और नोएडा में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू करने की मंजूरी दे दी है। दोनों जगहों पर पुलिस कमिश्नर की नियुक्ति कर दी गयी है। लखनऊ में एडीजी सुजीत कुमार पांडेय और नोएडा में आलोक कुमार सिंह को ​कमिश्नर बनाया गया है। लखनऊ कमिश्नर सुजीत पांडेय 1994 बैच के आईपीएस अफसर हैं, जो मूल रूप से बिहार के पटना के रहने वाले हैं, जिनका जन्म एक अगस्त 1968 को हुआ था।

पढ़ें :- मुख्यमंत्री के दफ्तर के कई कर्मचारी कोरोना संक्रमित, सीएम योगी ने खुद को किया आइसोलेट

पिछले एक जनवरी 2019 को उनका प्रमोशन एडीजी के पद पर हुआ था। सुजीत कुमार पांडेय के पिता नरेंद्र कुमार पांडेय बिहार कैडर के आईएएस रह चुके हैं। श्री पांडेय नंदी ग्राम हिंसा और मुंबई ब्लास्ट में कई संवेदनशील जिम्मेदारियां निभा चुके हैं। इसके साथ ही यूपी के 12 जिलों की भी कमान संभाल चुके हैं। वह आईजी एसटीएफ की भी जिम्मेदारी संभाल चुके हैं। इसके साथ ही आईजी लखनऊ भी रहे।

इसके साथ ही सीबीबाई में करीब सात वर्षों तक तैनात रहे हैं। अपनी तैनाती के दौरान उन्होंने कई महत्वपूर्ण काम किए। विभाग में कुछ अंदरूनी खींचतान के बीच वह कुछ दिनों के लिए साइडलाइन भी रहे। हालांकि, इस समय वह एडीजी मेरठ के पर तैनात थे। ऐसे में उनकी योग्यता और कार्यकुशलता को देखते हुए लखनऊ का पहला पुलिस कमिश्नर नियुक्ति किया गया है।

40 थाने आयेंगे पुलिस कमिश्नर के दायरे में
लखनऊ में कमिश्नर प्राणाली लागू होने के बाद यहां के पहले कमिश्नर सुजीत पांडेय को बनाया गया है।
कमिश्नर प्रणाली लागू होने के बाद लखनऊ पुलिस की जिम्मेदारी को दो हिस्सों में बांट दिया गया है। राजधानी लखनऊ में 40 थाने आयेंगे जबकि लखनऊ ग्रामीण के दायरे में 5 थाने आएंगे। लखनऊ नगर के 40 थाने ही पुलिस कमिश्नर के दायरे में आएंगे।

यह थाने आयेंगे लखनऊ नगर में ये थाने
आलमबाग, अलीगंज, अमीनाबाद, आशियाना, बाजारखाला, बंथरा, चौक, कैंट, चिनहट, गोमतीनगर, गुडंबा, गाजीपुर, गौतमपल्ली, हसनगंज, हजरतगंज, हुसैनगंज, इंदिरानगर, जानकीपुरम, कैसरबाग, कृष्णानगर, महानगर, मानकनगर, मड़ियांव, नाका, पारा, पीजीआई, सरोजनीनगर, तालकटोरा, सआदतगंज, ठाकुरगंज, विभूतिखंड, विकासनगर, वजीरगंज, काकोरी, नगराम, महिला थाना, मोहनलालगंज, सुशांत गोल्फ सिटी, गोमतीनगर विस्तार।

पढ़ें :- ब्रैडपीट को भाया था भारत का ये प्राचीन शहर, पसंद आई थी साउथ से लेकर नार्थ तक की सभ्यता

लखनऊ ग्रामीण में ये थाने
बीकेटी, इटौंजा, मलिहाबाद, निगोहा, माल।

नई प्रणाली में 56 लोगों की होगी नई टीम

पुलिस आयुक्त: पुलिस महानिरीक्षक या इससे बड़ी रैक का अफसर।

दो संयुक्त पुलिस आयुक्त: दोनों पुलिस महानिरीक्षक स्तर के अधिकारी होंगे। एक कानून व्यवस्था का काम देखेगा, जबकि दूसरा मुख्यालय का काम करेगा।

10 पुलिस उपायुक्त: सभी पुलिस अधीक्षक स्तर के अधिकारी होंगे। पांच पुलिस उपायुक्त पांच जोन में तैनात होंगे। एक—एक उपायुक्त यातायात, अपराध, मुख्यालय, अभिसूचना, सुरक्षा व महिला अपराध के मामले देखेंगे।

पढ़ें :- लखनऊ में कोरोना संबंधी भारी कुव्यवस्था ने सरकार के दावों की पोल खोल दी : सुधाकर यादव

13 अपर पुलिस उपायुक्त: यह सभी अपर पुलिस अधीक्षक स्तर के होंगे। इनमें एक स्टाफ ऑफिसर की जिम्मेदारी निभाएगा। 5 जोन में होंगे। एक-एक कानून-व्यवस्था, यातायात, अपराध, मुख्यालय, अभिसूचना व सुरक्षा की जिम्मेदारी निभाएंगे।

28 सहायक पुलिस आयुक्त: ये सभी पुलिस उपाधीक्षक स्तर के अधिकारी होंगे। इनमें 14 सर्किल में तैनात होंगे। एक कानून-व्यवस्था, तीन यातायात, दो अपराध, एक लाइन्स, दो लेखा व कार्यालय, एक अभिसूचना, दो सुरक्षा व दो महिला अपराध से संबंधित मामले देखेंगे। इसके साथ ही सहायक रेडियो अधिकारी व मुख्य अग्निशमन अधिकारी के एक-एक पद होंगे।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...