1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Lucknow Covid New Guidelines : लखनऊ के अस्पतालों में बगैर मास्क नो एंट्री, आज से हुआ अनिवार्य

Lucknow Covid New Guidelines : लखनऊ के अस्पतालों में बगैर मास्क नो एंट्री, आज से हुआ अनिवार्य

Lucknow Covid New Guidelines : चीन (Chaina) सहित पूरी दुनिया में कोरोना वायरस (Corona Virus) कहर बरपा रहा है। इसको देखते हुए देश के साथ यूपी में भी कोरोना को लेकर सख्ती कर दी गई है। कोरोना पर अलर्ट के बाद स्वास्थ्य विभाग (Health Department) ने सतर्कता बढ़ा दी है। मामले बढ़ते ही अस्पताल रिजर्व होंगे।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Lucknow Covid New Guidelines : चीन (Chaina) सहित पूरी दुनिया में कोरोना वायरस (Corona Virus) कहर बरपा रहा है। इसको देखते हुए देश के साथ यूपी में भी कोरोना को लेकर सख्ती कर दी गई है। कोरोना पर अलर्ट के बाद स्वास्थ्य विभाग (Health Department) ने सतर्कता बढ़ा दी है। मामले बढ़ते ही अस्पताल रिजर्व होंगे। 100 रैपिड टीमों की ड्यूटी भी लगाई जाएगी। इसके साथ ही यूपी की राजधानी लखनऊ में 26 दिसंबर से अस्पतालों में बिना मास्क के प्रवेश नहीं हो मिलेगा। मरीज से लेकर तीमारदारों तक को मास्क पहनने के बाद ही परिसर में एंट्री मिलेगी। अस्पतालों में मास्क लगाने के लिए गुरुवार से अनाउंसमेंट शुरू हो गई है। कोरोना वायरस (Corona Virus)के खतरों से निपटने के लिए एक बार फिर से तैयारियां शुरू हो गई हैं।

पढ़ें :- नौतनवा:ब्लाक प्रमुख ने आरसीसी सड़क के लिए किया भूमि पूजन

जांच टीम से लेकर मरीजों की भर्ती तक की व्यवस्था शुरू कर दी गई है। बलरामपुर अस्पताल (Balrampur Hospital) में सुबह से मरीजों को मास्क लगाने के लिए अपील की जा रही है। लोकबंधु अस्पताल में भी मास्क को लेकर सख्ती शुरू कर दी गई है। केजीएमयू (KGMU), डफरिन (Dufferin), लोहिया, झलकारीबाई, भाऊराव देवरस, सिविल समेत दूसरे अस्पतालों में मरीज और तीमारदारों को मास्क के लिए कहना शुरू कर दिया है।

सीएमओ डॉ. मनोज अग्रवाल  (CMO Dr. Manoj Agarwal) ने बताया कि लक्षण दिखने पर यात्री लोकबंधु अस्पताल (Lokbandhu Hospital) में जांच करा सकते हैं। वहीं, अभी विदेशी यात्रियों पर गाइडलाइन जारी नहीं की गई हैं। जैसे ही कोई निर्देश आएंगे जांच की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। संक्रमितों के संपर्क में आने वालों की जांच होगी। अब ट्रेवल हिस्ट्री (Travel History) भी तैयार की जाएगी। अस्पताल, बाजार, मॉल सहित दूसरी जगहों पर प्रोटोकॉल सख्ती (Protocol Strictness) से लागू करने की कवायद कर दी गई है। अभी राजधानी में 39 रैपिड रिस्पांस टीम (RRT) लगी हैं। शहरी और ग्रामीण सामुदायिक स्वास्थ्य (Rural Community Health)की 19 टीमें हैं।

20 टीमें रोजाना कर रहीं है कोरोना की सैंपलिंग

कोरोना की आशंका में 20 सीएमओ कंट्रोल रूम (CMO Control Room) के तहत जांच की जा रही है। रोजाना 500 से 800 लोगों की जांच की जा रही है। जरूरत पड़ने पर 52 हेल्थ पोस्ट सेंटर और 30 प्राथमिक केंद्रों में टीमें तैयार होंगी।

पढ़ें :- BBC Documentary Controversy: दिल्ली से लेकर मुंबई तक बीबीसी डॉक्यूमेंट्री पर हंगामा

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...