तीन दिन तक दहशत फैलाने के बाद मारा गया तेंदुआ, वन विभाग कराएगा एफ़आईआर

तीन दिन तक दहशत फैलाने के बाद मारा गया तेंदुआ, वन विभाग कराएगा एफ़आईआर
तीन दिन तक दहशत फैलाने के बाद मारा गया तेंदुआ, वन विभाग कराएगा एफ़आईआर

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के आशियाना इलाके में बीते तीन दिन से आतंक फैला रहे तेंदुए को आखिरकार रेस्क्यू टीम ने मार गिराया। इस दौरान आशियाना थानाध्यक्ष त्रिलोकी सिंह घायल भी हो गए। वहीं वन विभाग ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर तेंदुए को मारने वाले पर एफआईआर दर्ज कराने की बात कही है। मुख्य वन संरक्षक प्रवीण राव का कहना है, लखनऊ पुलिस से इस मामले में पर्याप्त मदद नहीं मिली। अगर पर्याप्त पुलिस बल होता तो तेंदुए को सकुशल पकड़ा जा सकता था।

Lucknow Fir Will Be Lodged Against Killer Leopard :

वहीं तेंदुए को मारने वाले आशियाना थानाध्यक्ष त्रिलोकी सिंह को एसएसपी लखनऊ दीपक कुमार ने डीजीपी द्वारा 50 हज़ार रुपये के इनाम का ऐलान किया था। हालांकि वन विभाग के बयान के बाद आला-अधिकारियों ने ऐसे किसी इनाम की बात से साफ इंकार कर दिया है। तेंदुए को तीन गोलियां लगी हैं। वन विभाग के मुताबिक, तेंदुए का लखनऊ के चिड़ियाघर में पोस्टमार्टम किया जा रहा है।

एसडीओ मोहनलालगंज करेंगे मामले की जांच-

वन विभाग ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा है कि एसडीओ मोहनलालगंज अयोध्या प्रसाद इस पूरे मामले की जांच करेंगे। जांच में दोषी पाए जाने वालों पर सख्त कार्रवाई होगी।

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के आशियाना इलाके में बीते तीन दिन से आतंक फैला रहे तेंदुए को आखिरकार रेस्क्यू टीम ने मार गिराया। इस दौरान आशियाना थानाध्यक्ष त्रिलोकी सिंह घायल भी हो गए। वहीं वन विभाग ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर तेंदुए को मारने वाले पर एफआईआर दर्ज कराने की बात कही है। मुख्य वन संरक्षक प्रवीण राव का कहना है, लखनऊ पुलिस से इस मामले में पर्याप्त मदद नहीं मिली। अगर पर्याप्त पुलिस बल होता तो तेंदुए को सकुशल पकड़ा जा सकता था।वहीं तेंदुए को मारने वाले आशियाना थानाध्यक्ष त्रिलोकी सिंह को एसएसपी लखनऊ दीपक कुमार ने डीजीपी द्वारा 50 हज़ार रुपये के इनाम का ऐलान किया था। हालांकि वन विभाग के बयान के बाद आला-अधिकारियों ने ऐसे किसी इनाम की बात से साफ इंकार कर दिया है। तेंदुए को तीन गोलियां लगी हैं। वन विभाग के मुताबिक, तेंदुए का लखनऊ के चिड़ियाघर में पोस्टमार्टम किया जा रहा है।एसडीओ मोहनलालगंज करेंगे मामले की जांच-वन विभाग ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा है कि एसडीओ मोहनलालगंज अयोध्या प्रसाद इस पूरे मामले की जांच करेंगे। जांच में दोषी पाए जाने वालों पर सख्त कार्रवाई होगी।