लखनऊ: हिस्ट्रीशीटर ने जमीनी विवाद में महिला को मारी गोली, जानें पूरा मामला

pgi police lucknow, लखनऊ पुलिस, पीजीआई पुलिस
लखनऊ: हिस्ट्रीशीटर ने जमीनी विवाद में महिला को मारी गोली, जानें पूरा मामला

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के पीजीआई इलाके में मंगलवार सुबह हिस्ट्रीशीटर ने पड़ोस में रहने वाली महिला को गोली मार दी। बताया जा रहा है कि उन लोगो के बीच काफी दिनों से एक जमींन पर कब्जेदारी को लेकर विवाद चल रहा था। करीब नौ बजे दबंग अपनी कार लेकर निकला था कि तभी उसे महिला द्वारा उक्त विवादित जमीन पर निर्माण कार्य कराए जाने की सूचना मिली। जिससे वो आगबबूला होकर मौके पर पंहुचा और महिला से गाली गलौच करने लगा। पीड़िता ने जब इसका विरोध किया तो दबंग ने अवैध असलहे से उस पर ताबड़तोड़ कई राउंड फायर झोंक दिया। पेट में गोली लगने से महिला वही लहूलुहान होकर गिर पड़ी।

Lucknow History Sheeter Goon Shoots Woman :

उधर गोली चलने से आस-पास के इलाके में हड़कंप मच गया। परिजनों ने तुरंत महिला को अस्पताल पहुंचाया और घटना की जानकारी पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने छानबीन के बाद आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। डाक्टरों ने महिला की हालत नाजुक बताई है।

banwari yadav pgi
आरोपी बनवारी यादव

जगत खेड़ा में रहने वाला दबंग प्रापर्टी डीलर बनवारी यादव पीजीआई थाने का हिस्ट्रीशीटर है। उसका काफी दिनों से पड़ोस में रहने वाली लीलावती से जमीन को लेकर विवाद चल रहा था। मंगलवार सुबह बनवारी यादव कहीं जाने के लिए अपनी कार से निकला था, तभी उसे लीलावती द्वारा उक्त जमीन पर निर्माण कार्य कराये जाने की सूचना मिली। गुस्से में वो घर गया और अवैध असलहा लेकर वह पहुंच गया।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, वहां पहुंचते ही बनवारी ने लीलावती से गाली गलौच शुरू कर दी। महिला ने इसका विरोध किया तो दबंग ने पहले उसे जमकर पीटा और फिर असलहा निकालकर उस पर तीन राउंड फायर कर दिया। गोली की आवाज सुनते ही मौके पर हड़कंप मच गया। लीलावती के परिजनों को इसकी जानकारी मिली तो वो भागकर घटनास्थल पर पहुंचे और खून से लथपथ पड़ी लीलावती को पास के एक निजी अस्पताल लेकर भागे, जहां डाक्टरों ने उसकी हालत नाजुक देखते हुए ट्रामा सेंटर रेफेर कर दिया।

उधर घटना की भनक लगते ही इंस्पेक्टर पीजीआई अरुण कुमार राय टीम के साथ मौके पर पहुंचे और छानबीन शुरू की। उनके मुताबिक आरोपी ने जमीनी विवाद में घटना को अंजाम दिया है। फिलहाल उसे गिरफ्तार कर आगे की कार्यवाही की जा रही है।

सीओ पर भी कर चुका है जानलेवा हमला-

23 जुलाई वर्ष 2015 में रायबरेली के महराजगंज सीओ प्रभात कुमार किसी काम से पीजीआई आए थे। वो हमराहियों के साथ वापस जा रहे थे तभी कल्ली पश्चिम में गाडी ओवरटेक करने को लेकर दबंग प्रापर्टी डीलर बनवारी यादव उनसे भिड़ गया। उसने सीओ से गाली गलौच शुरू कर दी तो सीओ के हमराहिओं ने इसका विरोध किया। बस इतनी सी बात पर बनवारी ने गाडी में रखी राइफल निकाली और सीओ पर फायर झोंक दिया। हलाकि सीओ बाल-बाल बच गए। यही नहीं घटना की जानकारी पाकर पीजीआई पुलिस मौके पर पहुंची तो उसने पुलिसकर्मियो से भी अभद्रता शुरू कर दी।

पीड़िता दर्ज करा चुकी है छेड़छाड़ की रिपोर्ट-

बताया जाता है कि बनवारी का इससे पहले भी लीलावती से कई बार विवाद हो चुका है। जमीन के विवाद में ही वर्ष 2015 में उसका झगड़ा लीलावती से हुआ था, जिसके बाद महिला ने उसके व गुर्गो के ऊपर जानलेवा हमले सहित छेड़छाड़ की धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया था। बाद में फिर दबंग ने उक्त मामले में समझौते को लेकर उसके ऊपर दबाव बनाया। जब वो इसके लिए तैयार नहीं हुई तो दबंग ने उसके साथ मारपीट की। फिलहाल आरोपी बनवारी यादव पर पीजीआई थाने ही करीब दो दर्जन मामले दर्ज है।

बेटे ने मीडियकर्मियों को किया गुमराह करने का प्रयास-

बताया जाता है कि जब सुबह करीब नौ बजे विवाद के बाद बनवारी यादव ने लीलावती को गोली मारी तो उसके बेटे हिमांशु यादव ने मीडियाकर्मियों को फ़ोन कर पिता पर फायरिंग होने की सूचना दी। बाद में जब मीडियाकर्मी घटनास्थल पर पहुंचे तो मामला कुछ और ही निकला। इसके अलावा घटनास्थल पर पुलिस पहुंची तो उसे देख हिमांशु बनवारी की गाडी लेकर वह से भागने लगा, उसे भागता देख पुलिसकर्मियो ने उसे दौड़ाकर रोकने का प्रयास किया तो बनवारी का पिता गोपी चन्द्र यादव उनसे भिड़ गया। यही नहीं उसने पुलिसकर्मियो से मारपीट भी की।

लखनऊ से आशीष यादव की रिपोर्ट-

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के पीजीआई इलाके में मंगलवार सुबह हिस्ट्रीशीटर ने पड़ोस में रहने वाली महिला को गोली मार दी। बताया जा रहा है कि उन लोगो के बीच काफी दिनों से एक जमींन पर कब्जेदारी को लेकर विवाद चल रहा था। करीब नौ बजे दबंग अपनी कार लेकर निकला था कि तभी उसे महिला द्वारा उक्त विवादित जमीन पर निर्माण कार्य कराए जाने की सूचना मिली। जिससे वो आगबबूला होकर मौके पर पंहुचा और महिला से गाली गलौच करने लगा। पीड़िता ने जब इसका विरोध किया तो दबंग ने अवैध असलहे से उस पर ताबड़तोड़ कई राउंड फायर झोंक दिया। पेट में गोली लगने से महिला वही लहूलुहान होकर गिर पड़ी।उधर गोली चलने से आस-पास के इलाके में हड़कंप मच गया। परिजनों ने तुरंत महिला को अस्पताल पहुंचाया और घटना की जानकारी पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने छानबीन के बाद आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। डाक्टरों ने महिला की हालत नाजुक बताई है।[caption id="attachment_285147" align="aligncenter" width="533"]banwari yadav pgi आरोपी बनवारी यादव[/caption]जगत खेड़ा में रहने वाला दबंग प्रापर्टी डीलर बनवारी यादव पीजीआई थाने का हिस्ट्रीशीटर है। उसका काफी दिनों से पड़ोस में रहने वाली लीलावती से जमीन को लेकर विवाद चल रहा था। मंगलवार सुबह बनवारी यादव कहीं जाने के लिए अपनी कार से निकला था, तभी उसे लीलावती द्वारा उक्त जमीन पर निर्माण कार्य कराये जाने की सूचना मिली। गुस्से में वो घर गया और अवैध असलहा लेकर वह पहुंच गया।प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, वहां पहुंचते ही बनवारी ने लीलावती से गाली गलौच शुरू कर दी। महिला ने इसका विरोध किया तो दबंग ने पहले उसे जमकर पीटा और फिर असलहा निकालकर उस पर तीन राउंड फायर कर दिया। गोली की आवाज सुनते ही मौके पर हड़कंप मच गया। लीलावती के परिजनों को इसकी जानकारी मिली तो वो भागकर घटनास्थल पर पहुंचे और खून से लथपथ पड़ी लीलावती को पास के एक निजी अस्पताल लेकर भागे, जहां डाक्टरों ने उसकी हालत नाजुक देखते हुए ट्रामा सेंटर रेफेर कर दिया।उधर घटना की भनक लगते ही इंस्पेक्टर पीजीआई अरुण कुमार राय टीम के साथ मौके पर पहुंचे और छानबीन शुरू की। उनके मुताबिक आरोपी ने जमीनी विवाद में घटना को अंजाम दिया है। फिलहाल उसे गिरफ्तार कर आगे की कार्यवाही की जा रही है।सीओ पर भी कर चुका है जानलेवा हमला-23 जुलाई वर्ष 2015 में रायबरेली के महराजगंज सीओ प्रभात कुमार किसी काम से पीजीआई आए थे। वो हमराहियों के साथ वापस जा रहे थे तभी कल्ली पश्चिम में गाडी ओवरटेक करने को लेकर दबंग प्रापर्टी डीलर बनवारी यादव उनसे भिड़ गया। उसने सीओ से गाली गलौच शुरू कर दी तो सीओ के हमराहिओं ने इसका विरोध किया। बस इतनी सी बात पर बनवारी ने गाडी में रखी राइफल निकाली और सीओ पर फायर झोंक दिया। हलाकि सीओ बाल-बाल बच गए। यही नहीं घटना की जानकारी पाकर पीजीआई पुलिस मौके पर पहुंची तो उसने पुलिसकर्मियो से भी अभद्रता शुरू कर दी।पीड़िता दर्ज करा चुकी है छेड़छाड़ की रिपोर्ट-बताया जाता है कि बनवारी का इससे पहले भी लीलावती से कई बार विवाद हो चुका है। जमीन के विवाद में ही वर्ष 2015 में उसका झगड़ा लीलावती से हुआ था, जिसके बाद महिला ने उसके व गुर्गो के ऊपर जानलेवा हमले सहित छेड़छाड़ की धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया था। बाद में फिर दबंग ने उक्त मामले में समझौते को लेकर उसके ऊपर दबाव बनाया। जब वो इसके लिए तैयार नहीं हुई तो दबंग ने उसके साथ मारपीट की। फिलहाल आरोपी बनवारी यादव पर पीजीआई थाने ही करीब दो दर्जन मामले दर्ज है।बेटे ने मीडियकर्मियों को किया गुमराह करने का प्रयास-बताया जाता है कि जब सुबह करीब नौ बजे विवाद के बाद बनवारी यादव ने लीलावती को गोली मारी तो उसके बेटे हिमांशु यादव ने मीडियाकर्मियों को फ़ोन कर पिता पर फायरिंग होने की सूचना दी। बाद में जब मीडियाकर्मी घटनास्थल पर पहुंचे तो मामला कुछ और ही निकला। इसके अलावा घटनास्थल पर पुलिस पहुंची तो उसे देख हिमांशु बनवारी की गाडी लेकर वह से भागने लगा, उसे भागता देख पुलिसकर्मियो ने उसे दौड़ाकर रोकने का प्रयास किया तो बनवारी का पिता गोपी चन्द्र यादव उनसे भिड़ गया। यही नहीं उसने पुलिसकर्मियो से मारपीट भी की।लखनऊ से आशीष यादव की रिपोर्ट-