अपनों ने बनाया मंदबुद्धि युवती को हवस का शिकार

लखनऊ: राजधानी में एक बार फिर रिश्ते शर्मसार हो गये। काकोरी थाना क्षेत्र में मौसा ने मंदबुद्धि युवती से दुष्कर्म किया। विरोध करने पर जान से मारने की धमकी दी। हैवानियत के दंश से आहत पीड़िता ने मिट्टी का तेल डालकर आग लगा ली लेकिन छोटी बहनों ने उसे बचा लिया। इस दौरान पीड़िता व एक छोटी बहन मामूली रूप से झुलस गयी। पीड़िता को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने शुक्रवार को रिपोर्ट दर्ज कर आरोपित मौसा को गिरफ्तार कर लिया है।

इलाके के एक गांव में रहने वाला मजदूर पत्नी व चार बेटियों के साथ रहता है। उसकी 18 वर्षीय बड़ी बेटी मानसिक रूप से अस्वस्थ है। बुधवार को मजदूर के रिश्तेदार की मौत हो गयी थी। वह पत्नी के साथ अंतिम संस्कार में शामिल होने गया था। इस दौरान उसने सैथा गांव निवासी साढ़ूं विजय मौर्या को बेटियों की देखभाल करने के लिए घर पर रहने को कहा था। बुधवार देर रात कमरे में सो रही मंदबुद्धि को मौसा विजय ने पकड़ लिया और गलत काम किया। मौसा ने धमकाया कि अगर किसी को कुछ बताया तो वह उसे जिंदा नहीं छोड़ेंगे। दुष्कर्म से आहत पीड़िता ने देर रात मिट्टी का तेल डालकर खुद को आग लगा ली।

आग देखकर कमरे में सो रही छोटी बहनों ने दौड़कर उसे बचाया। इस दौरान पीड़िता व उसकी छोटी बहन आंशिक रूप से झुलस गयी।चीख-पुकार सुनकर पड़ोसी भी आ गये। पड़ोसियों ने आत्मदाह के प्रयास की खबर गुरुवार को परिवारवालों को दी। परिवारवालों ने झुलसी हालत में पीड़िता को रानी लक्ष्मी बाई अस्पताल पहुंचाया। परिजनों के पूछने पर पीड़िता ने मौसा की करतूत बयां कर दी। यह सुनकर परिवारवालों के पैरों तले जमीन खिसक गयी। शुक्रवार सुबह परिवारवाले काकोरी थाने पहुंचे और सारी बात पुलिस को बतायी।

एसओ काकोरी राम नरेश यादव ने बताया कि पीड़िता के पिता की तहरीर पर दुष्कर्म की रिपोर्ट दर्ज कर ली गयी है। आरोपित मौसा विजय मौर्य को गिरफ्तार कर लिया गया है। पीड़िता की हालत बेहतर होने पर उसका मेडिकल कराया जाएगा। एसओ ने बताया कि आरोपित विजय (28) मजदूर है। मामले की जांच की जा रही है।