जयपुरिया स्कूल में छात्रा से टीचर करता था छेड़छाड़, लाइब्रेरी में दिखाता था अश्लील वीडियो

लखनऊ: गुरु का दर्जा भगवान से भी ऊपर होता है, लेकिन कलयुगी गुरु इस पवित्र रिश्ते को शर्मसार करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। ताजा मामला उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से है जहाँ एक प्रतिष्ठित स्कूल के एक शिक्षक ने अपनी ही छात्रा से छड़ेछाड़ की। इतना ही नहीं मुंह खोलने पर करियर बर्बाद करने की धमकी भी दी। साल भर तक टीचर शोषण करता रहा। दहशत में आयी छात्रा ने हाल ही में स्कूल जाना बंद कर दिया। बेटी को गुमसुम देख घरवालों ने पूछा तो उसने आपबीती बतायी। शिकायत लेकर मां-बेटी स्कूल पहुंची, जहां उसने अभद्रता की गयी। शुक्रवार को छात्रा के पिता की तहरीर पर पुलिस ने टीचर, प्रिंसिपल समेत तीन के खिलाफ गंभीर धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर ली। सीओ गोमतीनगर सत्यसेन यादव का कहना है कि स्कूल के सीसीटीवी कैमरों के फुटेज देखने के साथ ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।




इन्दिरानगर के रहने वाले युवक का सर्जिकल एक्विपमेंटस का कारोबार है। उसकी बेटी गोमतीनगर स्थित सेठ एमआर जयपुरिया स्कूल में कक्षा-12 की छात्रा है। घरवालों का कहना है कि करीब हफ्ते भर पहले छात्रा स्कूल जाना बंद कर दिया। दिल्ली में कारोबार के सिलसिले में गये पिता मंगलवार को वापस लौटे। बेटी को गुमसुम देख घरवालों से बातचीत की। बेटी की बात सुनकर माता-पिता के पैरों तले जमीन खिसक गयी। छात्रा ने बताया कि जिस वक्त वह कक्षा-11 में थी, तभी से टीचर विनय पाण्डेय उसे प्रताड़ित कर रहे थे। उस वक्त विनय पाण्डेय कक्षा-11 के बच्चों को पढ़ाते थे। उस दौरान अकेला पाकर उससे छेड़छाड़ करते थे। आरोप है कि कई बार विनय पाण्डेय अकेला देख उसे क्लॉस में खींच लिया और अश्लील हरकत की। विरोध करने पर पीटा। धमकाया कि अगर कहीं भी शिकायत की तो कॅरियर खराब कर देंगे। डर के मारे छात्रा खामोश हो गयी। इससे विनय पाण्डेय के हौसले बढ़ गये।

आरोप है कि कई बार विनय ने उसे क्लॉस व लाइब्रेरी में बुलाकर परेशान किया। यही नहीं अश्लील वीडियो दिखाकर परेशान करता और छुट्टी के बाद रास्ते में वह पीछा करता था। छात्रा इस कदर परेशान हो गयी कि शनिवार को शुरू होने स्पोर्ट्स डे में हिस्सा लेना बंद कर दिया, ताकि विनय से उसका सामना न हो।छात्रा ने इसकी शिकायत क्लॉस टीचर प्रसंजित दास से की। आरोप है कि उन्होंने उसे डांट कर चुप करा दिया। यह बात छात्रा ने मां को बतायी तो उन्होंने क्लॉस टीचर को फोन कर शिकायत की। इस पर क्लॉस टीचर ने जांच का आश्वासन देकर उन्हें टरका दिया। बेटी की बात सुनने के बाद सोमवार को पीड़िता मां संग स्कूल गयी।

प्रिंसिपल प्रोमनी चोपड़ा के मौजूद न होने पर उन्होंने वाइस प्रिंसिपल अनुपम विद्यार्थी से मिलने के लिए रिस्पेशन पर आग्रह किया। पीड़ित परिवार का कहना है कि रिसेप्शन पर उन्हें करीब चार घण्टे तक बैठाये रखा गया। बाद में अनुपम विद्यार्थी वहां आये और टीचर विनय पाण्डेय को बुलवाया। आरोप है कि दोनों ने मां-बेटी से अभद्रता की और फिर चलता कर दिया। अफसरों के दखल के बाद गोमतीनगर पुलिस ने शुक्रवार को टीचर विनय पाण्डेय, प्रिंसिपल प्रोमनी चोपड़ा व वाइस प्रिंसिपल अनुपम विद्यार्थी के खिलाफ छेड़छाड़, मारपीट, धमकी व पोक्सो एक्ट समेत गंभीर धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर ली है।