KGMU डॉक्टरों की बड़ी लापरवाही, जिंदा था और मृत बता कर दे दिया दूसरे का बच्चा

लखनऊ: किंग जार्ज चिकित्सा विविद्यालय के बाल रोग विभाग के डाक्टरों की लापरवाही से जिंदा शिशु को मृत बताकर दूसरे का मृत शिशु परिजनों को सौंप दिया, जबकि मृत शिशु वाले परिजनों को बताया कि शव गायब हो गया है। इस बीच जिंदा शिशु लावारिस नियोनेटकल केयर यूनिट में पड़ा रहा और शिशु के शव को लेकर परिजन परेशान रहे। उधर जब मृत शिशु को दफनाने से पहले देखा गया तो अपना शिशु न पाकर परिजन हैरान हो गये और वापस भागते हुए केजीएमयू पहुंचे। यहां पर गायब शव को लेकर परेशान परिजनों ने मृत शिशु की पहचान कर ली।




उधर जब मृत शिशु वाले परिजनों ने अपने शिशु को तलाशा तो वह जिंदा मिला। इस लापरवाही पर परिजनों ने हंगामा किया। केजीएमयू प्रशासन ने इस मामले के जांच के निर्देश दे दिये है। केजीएमयू के ट्रामा सेंटर में बाल रोग विभाग का नियोनेटल केयर यूनिट स्थित है। यहां पर बस्ती निवासी रामपूजन को बाल रोग विभाग के डाक्टरों ने बताया कि उनके शिशु की मौत हो चुकी है और कपड़ा जाकर ले आये। परिजन जब कपड़ा लेकर आये तो डाक्टरों ने कहा कि उनके शिशु का शव मिल नही रहा है। तलाश की जा रही है, बेहाल परिजनों ने हंगामा मचाया और फिर शव मिलने का इंतजार करते रहे।



इस बीच दूसरे परिजनों को भी उनके भर्ती शिशु को मृत बताकर शव थमा दिया। यह शव रामपूजन के शिशु का था जो कि डाक्टरों की गलती से दे दिया गया था, जब कि उसका शिशु जिंदा था और भर्ती था। मृत शिशु दिये जाने के बाद जिंदा शिशु का लापरवाह डाक्टरों ने इलाज भी बंद कर दिया और यह जानने की कोशिश तक नहीं की कि इसके अभिभावक कौन है। उधर जब अपने मृत शिशु को दफनाने के लिए परिजन पहुंचे और कपडा हटाकर देखा तो उनका शिशु नहीं था।

हैरान परेशान परिजन मृत शिशु को लेकर वापस केजीएमयू पहुंचे और जानकारी दी। मृत शिशु के शव को लेकर परेशान परिजनों ने देखा तो उन्होंने अपने मृत शिशु को पहचान लिया और राहत की सांस ली। उधर मृत शिशु के परिजनों ने फिर अपने शिशु की तलाश शुरू की तो वह जिंदा मिला। परिजन खुशी से झूम उठे।