1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Lucknow News : IPS ने मीडिया कर्मी से की अभद्रता, तो भाजपा नेता नीरज सिंह बोले- आज असली पत्रकार से पड़ा है यूपी पुलिस का पाला

Lucknow News : IPS ने मीडिया कर्मी से की अभद्रता, तो भाजपा नेता नीरज सिंह बोले- आज असली पत्रकार से पड़ा है यूपी पुलिस का पाला

Lucknow News: सूबे के मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता और ट्विटर टीम के मेंबर मनीष जगन अग्रवाल की गिरफ्तारी को लेकर रविवार को लखनऊ में काफी सियासी गहमागहमी थी। इसी बीच अपने कार्यकर्ता की गिरफ्तारी के विरोध में सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव सुबह पुलिस मुख्यालय पहुंच गए थे।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Lucknow News: सूबे के मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के कार्यकर्ता और ट्विटर टीम के मेंबर मनीष जगन अग्रवाल (Manish Jagan Agarwal) की गिरफ्तारी को लेकर रविवार को लखनऊ में काफी सियासी गहमागहमी थी। इसी बीच अपने कार्यकर्ता की गिरफ्तारी के विरोध में सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव (SP supremo Akhilesh Yadav) सुबह पुलिस मुख्यालय पहुंच गए थे।

पढ़ें :- नौतनवा:ब्लाक प्रमुख ने आरसीसी सड़क के लिए किया भूमि पूजन

अखिलेश के वहां पहुंचने की जानकारी मिलते ही मीडियाकर्मी भी पहुंचने लगे। इस दौरान वहां कवरेज पहुंचे एक मीडियाकर्मी से लखनऊ में JCP के पद पर तैनात पीयूष मोर्डिया ने पुलिसिया लहजा दिखाते हुए अभद्रता पर उतारू हो गए। जिसका पत्रकार ने करारा जवाब दिया।

बता दें किJCP पीयूष मोर्डिया ने सिग्नेचर बिल्डिंग (Signature Building) से रिपोर्टिंग कर रहे पत्रकार शुभम पांडे को धक्का देते हुए उन्हें हाथ लगाने की जुर्रत की। इसके अलावा मोर्डिया ने कैमरामैन से भी अभद्रता की। आत्मसम्मान पर आंच आती देख पत्रकार ने पीयूष मोर्डिया जैसे सीनियर आईपीएस अधिकारी के द्वारा की गई इस अभद्रता पर अपना तीखा विरोध दर्ज कराया। पत्रकार शुभम से धक्का-मुक्की कर रहे पुलिसकर्मियों का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। यूजर्स पत्रकार शुभम पांडे की जमकर तारीफ कर रहे हैं, वहीं आईपीएस पीयूष मोर्डिया इस अभद्रता के लिए जमकर कोसा जा रहा है।

पुलिस पर भड़के भाजपा नेता नीरज सिंह, कही ये बड़ी बात

इसी बीच सत्ताधारी दल के वरिष्ठ भाजपा नेता व केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Union Defense Minister Rajnath Singh) के पुत्र भाजपा नेता नीरज सिंह (BJP leader Neeraj Singh) भी पत्रकार शुभम पांडे के समर्थन में उतर आए हैं। उन्होंने घटना की वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा, पत्रकार अपना काम कर रहा था, लेकिन पुलिस न जाने क्यों इसे पचा नहीं पायी। अभद्रता कर बैठी, जो ग़लत है, अशोभनीय है। तेवर देखकर लग रहा आज पुलिस का असली पत्रकार से पाला पड़ा है।

सोशल मीडिया पर लोग इस मामले पर JCP पीयूष मोर्डिया को जमकर खरी-खोटी सुना रहे हैं। एक यूजर लिखता है कि JCP पीयूष मोर्डिया इतना जान लो पूरी ईमानदारी से काम कर रहे पत्रकारों को तुम दलालों में न गिनना जो पुलिस अफसरों के साथ फोटो खींचा कर खुद को गौरवान्वित महसूस करते हैं। शुभम पांडेय ने भी बताया कि पत्रक़ारिता आंख में आंख डाल कर होती है। दलालों और पत्रकारों का फर्क करना सीखो अफसर। वहीं, एक यूजर ने जेसीपी मोर्डिया के खिलाफ सीएम योगी आदित्यनाथ से कार्रवाई करने की मांग की है।

पढ़ें :- Hindenburg Research Report से शेयर बाजार में मचा तहलका, अडानी ग्रुप में जानें कितना लगा है सरकारी पैसा, सकते में LIC और बड़े बैंक

 

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...