1. हिन्दी समाचार
  2. एक ई-मेल से खुला कारोबारी की मौत का राज, कॉल गर्ल कर रही थी ब्लैकमेल

एक ई-मेल से खुला कारोबारी की मौत का राज, कॉल गर्ल कर रही थी ब्लैकमेल

Lucknow Police Opened The Case With Help Of Email

By पर्दाफाश समूह 
Updated Date

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के गाजीपुर इलाके मेें कम्प्यूटर कारोबारी आशीष गोयल की हत्या के मामले में छानबीन कर रही पुलिस को आशीष की मौत हत्या नहीं बल्कि आत्महत्या मिली। इस मामले में पुलिस ने एक युवती और उसके कथित पति को गिरफ्तार किया है। दोनों मिलकर आशीष को ब्लैकमेल कर रहे थे। आरोपियों के पास आशीष की कुछ निजी फोटोग्राफ हाथ लग गयी थी।

पढ़ें :- कोरोना वायरस: पंजाब में सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह को दी जाएगी कोरोना वैक्सीन की पहली खुराक

इंस्पेक्टर गाजीपुर बृजेश कुमार सिंह ने बताया कि महानगर एच रोड इलाके में कम्प्यूटर कारोबारी आशीष गोयल अपने परिवार संग रहता था। बीते 2 जून को आशीष की गाजीपुर के कल्याण अपार्टमेंट के आठवें फ्लोर से गिरने से संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गयी थी।

इस मामले में आशीष के पिता ने अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज करायी थी। आशीष की मौत के मामले में छानबीन कर रही पुलिस को अपार्टमेेंट के सीसीटीवी फुटेज और अन्य लोगों के बयान के आधार पर यह पता चला कि आशीष की मौत हत्या नहीं बल्कि आत्महत्या थी। इसके बाद पुलिस ने इस मामले में हत्या के रिपोर्ट को आत्महत्या के लिए उकसाने की धारा 306 आईपीसी में दर्ज कर ली।

आशीष के ईमेल से आरोपियों तक पहुंची पुलिस
इंस्पेक्टर गाजीपुर ने बताया कि आशीष ने आत्महत्या की थी यह बात साफ हो चुकी थी पर आत्महत्या के पीछे का कारण साफ नहीं था। इस बीच पुलिस ने जब आशीष के मोबाइल फोन की छानबीन की तो एक ई-मेल पुलिस के हाथ लगा। ई-मेल में आशीष ने उसको ब्लैकमेल किये जाने की बात लिखी थी। इसके बाद पुलिस ने जब ई-मेल की छानबीन शुरू की तो सारी घटना शीशे की तरह साफ होती चली गयी। आशीष को पश्चिम बंगाल की रहने वाली युवती दीपिका और उसका कथित पति फुरकान ब्लैकमेल कर रहे थे। छानबीन में पुलिस को पता चला कि आशीष और दीपिका कुछ दिन पहले एक साथ देहरादून गये थे और एक होटल में ठहरे थे। इस बीच दीपिका ने अपनी और आशीष की कुछ निजी फोटोग्राफ मोबाइल पर खिंच कर अपने कथित पति फुरकान को भेज दी थी।

फोटो वायरल करने के नाम पर मांगे जा रहे थे 50 हजार रुपये
पुलिस को छानबीन में पता चला कि दीपिका और फुरकान फोटो के आधार पर आशीष से 50 हजार रुपये की मांग कर रहे थे। इस ब्लैकमेलिंग से आशीष काफी तनाव में था और इसी उलझन के चलते आशीष ने 2 जून को कल्याण अपार्टमेंट के 8वें फ्लोर से कूदकर अपनी जान दे दी।

पढ़ें :- किसान आंदोलन: कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग, किसानों ने कहा-बुलाए जाए संसद का विशेष सत्र

लोगों को जाल में फंसाना है आरोपियों का काम
इंस्पेक्टर गाजीपुर ने बताया कि पश्चिम बंगाल की रहने वाली दीपिका बेहद ही शातिर है। कानपुर आने के बाद उसकी जान पहचान फुरकान से हुई और दोनों पति-पत्नी की तरह रहने लगे। इसके बाद दीपिका का अक्सर लखनऊ आना जाना शुरू हुआ और इस बीच दीपिका की जान-पहचान कम्प्यूटर कारोबारी आशीष से हो गयी। देखते ही देखते दोनों के बीच नजदीकियां हो गयीं और इसी का फायदा दीपिका और फुरकान ने उठाया।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...