लखनऊ: महिला अपराध को रोकने के लिए पुलिस पिंक बूथ को मिली हरी झंडी

pink police
लखनऊ: महिला अपराध को रोकने के लिए पुलिस पिंक बूथ को मिली हरी झंडी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में महिला अपराध पर कमी लाने के लिए और उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने के उद्देश्य से केंद्र सरकार की ओर से जारी निर्भया फंड से राजधानी में एक दर्जन से अधिक पुलिस पिंक बूथ बनाए जाएंगे। इसके लिए वीमेन पॉवर लाइन और राजधानी पुलिस ने संयुक्त रूप से कार्य योजना तैयार कर ली है। पुलिस लाइन में महिला पुलिस के लिए चुनाव सेल से सटा एक कंट्रोल रूम बनाया जाएगा, जो वीमेन पॉवर लाइन और यूपी 100 से जुड़ी होगी।

Lucknow Police Pink Booth Gets Green Signal To Stop Female Crime :

दरअसल, यहां तैनात महिला पुलिसकर्मियों को सरकार की तरफ से स्कूटी मिलेगी। यहां प्राप्त होने वाली शिकायतों के निस्तारण के लिए महिला पुलिसकर्मियों को पिंक स्कूटी से मौके पर भेजा जाएगा और संबंधित थाने की पुलिस से मदद ली जाएगी। वीमेन पॉवर लाइन ने लखनऊ पुलिस से ब्यौरा मांगा था, जिसपर एसएसपी कलानिधि नैथानी ने खाका तैयार कर उन्हें भेज दिया है।

वहीं, पुलिस पिंक बूथ उन जगहों पर बनाए जाएंगे, जहां महिलाओं के साथ होने वाले अपराध ज्यादा हैं। इसके लिए क्राइम मैपिंग सिस्टम का इस्तेमाल किया गया है। इसके तहत जिन इलाकों में चेन, पर्स व मोबाइल स्नेचिंग की घटनाएं अधिक हो रही हैं वहां पर पिंक बूथ बनाने का प्रस्ताव रखा गया है। सूत्रों के मुताबिक गोमतीनगर, गाजीपुर, इंदिरानगर, आलमबाग, कृष्णानगर, आशियाना, अलीगंज, जानकीपुरम, हजरतगंज, चौक, ठाकुरगंज और महानगर थाना क्षेत्र में पिंक बूथ बनाए जाएंगे।

बता दें, पिंक बूथ की योजना राजधानी में पायलट प्रोजेक्ट के तहत संचालित किया जाएगा। इसके बाद यह कार्य योजना प्रदेश के अन्य जिलों में भी लागू होगी। अभियंताओं ने पुलिस लाइन में जमीन बुक कर ली है। मिली जानकारी के मुताबिक साल 2021 के अंत तक इस योजना से जुड़े सभी कार्य संपन्न करने का लक्ष्य रखा गया है। इसके लिए करीब 190 करोड़ रुपये बजट प्रस्तावित है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में महिला अपराध पर कमी लाने के लिए और उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने के उद्देश्य से केंद्र सरकार की ओर से जारी निर्भया फंड से राजधानी में एक दर्जन से अधिक पुलिस पिंक बूथ बनाए जाएंगे। इसके लिए वीमेन पॉवर लाइन और राजधानी पुलिस ने संयुक्त रूप से कार्य योजना तैयार कर ली है। पुलिस लाइन में महिला पुलिस के लिए चुनाव सेल से सटा एक कंट्रोल रूम बनाया जाएगा, जो वीमेन पॉवर लाइन और यूपी 100 से जुड़ी होगी। दरअसल, यहां तैनात महिला पुलिसकर्मियों को सरकार की तरफ से स्कूटी मिलेगी। यहां प्राप्त होने वाली शिकायतों के निस्तारण के लिए महिला पुलिसकर्मियों को पिंक स्कूटी से मौके पर भेजा जाएगा और संबंधित थाने की पुलिस से मदद ली जाएगी। वीमेन पॉवर लाइन ने लखनऊ पुलिस से ब्यौरा मांगा था, जिसपर एसएसपी कलानिधि नैथानी ने खाका तैयार कर उन्हें भेज दिया है। वहीं, पुलिस पिंक बूथ उन जगहों पर बनाए जाएंगे, जहां महिलाओं के साथ होने वाले अपराध ज्यादा हैं। इसके लिए क्राइम मैपिंग सिस्टम का इस्तेमाल किया गया है। इसके तहत जिन इलाकों में चेन, पर्स व मोबाइल स्नेचिंग की घटनाएं अधिक हो रही हैं वहां पर पिंक बूथ बनाने का प्रस्ताव रखा गया है। सूत्रों के मुताबिक गोमतीनगर, गाजीपुर, इंदिरानगर, आलमबाग, कृष्णानगर, आशियाना, अलीगंज, जानकीपुरम, हजरतगंज, चौक, ठाकुरगंज और महानगर थाना क्षेत्र में पिंक बूथ बनाए जाएंगे। बता दें, पिंक बूथ की योजना राजधानी में पायलट प्रोजेक्ट के तहत संचालित किया जाएगा। इसके बाद यह कार्य योजना प्रदेश के अन्य जिलों में भी लागू होगी। अभियंताओं ने पुलिस लाइन में जमीन बुक कर ली है। मिली जानकारी के मुताबिक साल 2021 के अंत तक इस योजना से जुड़े सभी कार्य संपन्न करने का लक्ष्य रखा गया है। इसके लिए करीब 190 करोड़ रुपये बजट प्रस्तावित है।