1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. लखनऊ : सीएम योगी के स्वास्थ्य को लेकर एसजीपीजीआई अलर्ट, बेड किया आरक्षित

लखनऊ : सीएम योगी के स्वास्थ्य को लेकर एसजीपीजीआई अलर्ट, बेड किया आरक्षित

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोरोना पॉजिटिव होने के बाद भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से अफसरों की बैठक ले रहे हैं। इस दौरान वह लगातार दिशा-निर्देश दे रहे हैं। इसी बीच खबर आई है कि मुख्यमंत्री की सेहत को लेकर एसजीपीजीआई, लखनऊ अलर्ट मोड में नजर आ रहा है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोरोना पॉजिटिव होने के बाद भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से अफसरों की बैठक ले रहे हैं। इस दौरान वह लगातार दिशा-निर्देश दे रहे हैं। इसी बीच खबर आई है कि मुख्यमंत्री की सेहत को लेकर एसजीपीजीआई, लखनऊ अलर्ट मोड में नजर आ रहा है।

पढ़ें :- Gujarat Election 2022 : राहुल गांधी बोले- रोजगार व सस्ते गैस सिलेंडर के लिए जरूर डालें वोट

मिली जानकारी के अनुसार सीएम योगी आदित्यनाथ के नाम से पीजीआई में रजिस्ट्रेशन किया गया है। एहतियातन किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए लखनऊ पीजीआई में सीएम योगी के लिए बेड एलॉट किया गया है। जानकारी के अनुससार इमरजेंसी में 1506 वार्ड एटीसी में तीसरे फ्लोर पर एक बलॅक में 2 नंबर प्राइवेट बेड सीएम के लिए सुरक्षित कर दिया गया है। जरूरत पड़ने पर सीएम को भर्ती किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी, कानपुर नगर, गौतमबुद्ध नगर, गाजियाबाद, मेरठ, गोरखपुर सहित 2000 से अधिक एक्टिव केस वाले सभी 10 जनपदों में रात्रि 8 बजे से प्रातः 7 बजे तक कोरोना कर्फ्यू लगाने का आदेश दिया है। यही नहीं लखनऊ के बड़े अस्पताल केजीएमयू और बलरामपुर को डेडिकेडेट हॉस्पिटल के रूप में तैयार करने का फरमान सुनाया है। साथ ही नॉन कोविड मरीजों की सुविधा का पूरा ध्यान रखा जाए।

लखनऊ के इन अस्पतालों की क्षमता का होगा विस्तार

उन्होंने कहा कि लखनऊ में टीएस मिश्र हॉस्पिटल, इंटीग्रल और हिन्द मेडिकल कॉलेजों को डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल के रूप में क्षमता विस्तार किए जाने की आवश्यकता हैं अगले दो दिनों ने यहां अतिरिक्त बेड्स उपलब्ध कराए जाए।

पढ़ें :- Gujarat Election 2022 : रविंद्र जडेजा के पिता बोले- मैं कांग्रेस के साथ हूं, बहन बोलीं,जो बेहतर होगा वही जीतेगा

सीएम ने कहा कि कोविड संक्रमण से बचाव के दृष्टिगत कक्षा एक से 12वीं तक के विद्यालयों में 15 मई तक पठन-पाठन स्थगित रखा जाए. इस अवधि में कोई परीक्षा भी न आयोजित हो। माध्यमिक शिक्षा परिषद की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं 20 मई के बाद आयोजित की जाएं। नई समय-सारिणी के लिए मई के पहले सप्ताह में विचार हो।

पंचायत चुनावों में संलग्न कार्मिकों की सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम किए जाए। कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से अनुपालन हो। मतदान कर्मियों के लिए मास्क, ग्लब्स, सैनिटाइजेशन आदि की पर्याप्त व्यवस्था की जानी चाहिए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...