1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. लखनऊ: साढ़े चार साल पहले इसी क्षेत्र में मारा गया था आतंकी सैफुल्लाह, आईएसआईएस से जुड़े थे तार

लखनऊ: साढ़े चार साल पहले इसी क्षेत्र में मारा गया था आतंकी सैफुल्लाह, आईएसआईएस से जुड़े थे तार

राजधानी लखनऊ के काकोरी क्षेत्र में एटीएस ने दो संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से विस्फोटक सामान भी बरामद हुए हैं। हालांकि, साढ़े चार साल पहले एटीएस ने इसी क्षेत्र में एक आतंकी को मुठभेड़ में ढेर कर दिया था।

By शिव मौर्या 
Updated Date

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के काकोरी क्षेत्र में एटीएस ने दो संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से विस्फोटक सामान भी बरामद हुए हैं। हालांकि, साढ़े चार साल पहले एटीएस ने इसी क्षेत्र में एक आतंकी को मुठभेड़ में ढेर कर दिया था।

पढ़ें :- Mulayam Singh Yadav jeevan parichay : पिता की ख्वाहिश थी बेटा करे पहलवानी, पर मुलायम सिंह यादव बने सियासत के पक्के​​ खिलाड़ी

साल 2017 के फरवरी महीने में काकोरी की हाजी कॉलोनी में एटीएस ने एक लंबे ऑपरेशन के बाद सैफुल्लाह नाम के आईएसआईएस आतंकी को मार गिराया था। वहीं, इस घटना के बाद पूरे क्षेत्र में हड़कंप मच गया था।

सैफुल्लाह जिस मकान में रहता था वह मकान भी मलिहाबाद के व्यक्ति का था। डेढ़ दिन चले ऑपरेशन में एटीएस और लखनऊ पुलिस ने ना सिर्फ सैफुल्लाह को मार गिराया था बल्कि भारी मात्रा में विस्फोटक, कारतूस और हथियार बरामद किए थे।

एटीएस ने दावा किया था कि मारे गए सैफुल्लाह ने लखनऊ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली में विस्फोट करने की योजना बनाई थी। इस घटना के बाद पूरे काकोरी क्षेत्र में किरायेदारों के सत्यापन का अभियान भी चलाया गया था लेकिन वक्त बीतने के साथ-साथ यह अभियान भी बंद हो गया। अब इसी हाजीपुर कॉलोनी से मात्र 2 किलोमीटर दूर सीते विहार कॉलोनी में फिर से आतंकवादी के छिपे होने की घटना ने आसपास के लोगों को दहशत में डाल दिया है।

 

पढ़ें :- सपा का 30 साल का ऐसा रहा स‍ियासी सफर , 4 अक्टूबर 1992 को लखनऊ के बेगम हजरत महल पार्क में हुआ था पहला सम्मेलन

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...