लखनऊ : राजनाथ सिंह के PSO की बेटी की हत्या की गुत्थी उलझी, पुलिस कर रही पिता से पूछताछ की तैयारी

murder
लखनऊ : राजनाथ सिंह के PSO की बेटी की हत्या की गुत्थी उलझी, पुलिस कर रही पिता से पूछताछ की तैयारी

लखनऊ। विकासनगर थाना क्षेत्र में हाईस्कूल की छात्रा सृष्टि सिंह 17 वर्ष की हत्या के मामले में पुलिस का शक मां—बाप व अन्य परिवारीजनों पर गहरा गया है। पुलिस अब पिता समेत अन्य परिवारजनों से पूछताछ की तैयारी कर रही है। घटना के बाद पिता बेटी का शव लेकर गोरखपुर स्थित गांव चले गये थे, वहीं अंतिम संस्कार हुआ। पुलिस उनके वापस लौटने का इंतजार कर रही है।

Lucknow The Mystery Of The Murder Of Rajnath Singhs Psos Daughter Got Entangled The Police Is Preparing To Interrogate The Father :

डीसीपी उत्तरी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने बताया कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में पिटाई के साथ छात्रा के सिर समेत शरीर पर छह गंभीर चोटें मिलने के बाद हत्या की एफआइआर की विवेचना शुरू हो गई है। पिता समेत अन्य परिवारजन शक के दायरे में हैं। उनसे जल्द पूछताछ कर आगे की कार्रवाई होगी। घटना के बाद परिवारजनों ने छात्रा के पिता की लाइसेंसी रिवॉल्वर से आत्महत्या करने की बात कही थी, लेकिन पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में उसके शरीर में गोली लगने की पुष्टि नहीं हुई। जबकि मौके पर गोली चली थी, एक खोखा कारतूस भी मिला था, लेकिन रिपोर्ट आने के बाद स्पष्ट है कि गोली सिर में नहीं लगी।

पुलिस ने परिवार के लोगों के मोबाइल फोन खंगाले हैं। सृष्टि के शरीर पर चोटों के निशान कैसे आए और उसकी ऐसी हालत किसने और क्यों की, इन सवालों से पर्दा उठना अभी बाकी है। माना जा रहा है कि किसी करीबी ने घटना को अंजाम दिया है। हालांकि पुलिस परिवार के लौटने के बाद पूरे वारदात से राजफाश की तैयारी में है।

गौरतलब है कि विष्णुपुरी कॉलोनी निवासी सब इंस्पेक्टर वेद प्रकाश सिंह रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के पीएसओ के पद पर तैनात हैं। सोमवार को वेद प्रकाश सिंह घर पर थे। उन्होंने पुलिस को अपने बयान में बताया था कि उनकी 15 साल की बेटी व हाईस्कूल की छात्रा सृष्टि ने अपने सिर में गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी।

लखनऊ। विकासनगर थाना क्षेत्र में हाईस्कूल की छात्रा सृष्टि सिंह 17 वर्ष की हत्या के मामले में पुलिस का शक मां—बाप व अन्य परिवारीजनों पर गहरा गया है। पुलिस अब पिता समेत अन्य परिवारजनों से पूछताछ की तैयारी कर रही है। घटना के बाद पिता बेटी का शव लेकर गोरखपुर स्थित गांव चले गये थे, वहीं अंतिम संस्कार हुआ। पुलिस उनके वापस लौटने का इंतजार कर रही है। डीसीपी उत्तरी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने बताया कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में पिटाई के साथ छात्रा के सिर समेत शरीर पर छह गंभीर चोटें मिलने के बाद हत्या की एफआइआर की विवेचना शुरू हो गई है। पिता समेत अन्य परिवारजन शक के दायरे में हैं। उनसे जल्द पूछताछ कर आगे की कार्रवाई होगी। घटना के बाद परिवारजनों ने छात्रा के पिता की लाइसेंसी रिवॉल्वर से आत्महत्या करने की बात कही थी, लेकिन पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में उसके शरीर में गोली लगने की पुष्टि नहीं हुई। जबकि मौके पर गोली चली थी, एक खोखा कारतूस भी मिला था, लेकिन रिपोर्ट आने के बाद स्पष्ट है कि गोली सिर में नहीं लगी। पुलिस ने परिवार के लोगों के मोबाइल फोन खंगाले हैं। सृष्टि के शरीर पर चोटों के निशान कैसे आए और उसकी ऐसी हालत किसने और क्यों की, इन सवालों से पर्दा उठना अभी बाकी है। माना जा रहा है कि किसी करीबी ने घटना को अंजाम दिया है। हालांकि पुलिस परिवार के लौटने के बाद पूरे वारदात से राजफाश की तैयारी में है। गौरतलब है कि विष्णुपुरी कॉलोनी निवासी सब इंस्पेक्टर वेद प्रकाश सिंह रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के पीएसओ के पद पर तैनात हैं। सोमवार को वेद प्रकाश सिंह घर पर थे। उन्होंने पुलिस को अपने बयान में बताया था कि उनकी 15 साल की बेटी व हाईस्कूल की छात्रा सृष्टि ने अपने सिर में गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी।