लखनऊ: तीन दिवसीय India Food Expo आज से शुरू, जानें क्या होगा खास

India Food Expo
लखनऊ: तीन दिवसीय India Food Expo आज से शुरू, जानें क्या होगा खास

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में शुक्रवार यानि आज से तीन दिवसीय इंडिया फूड एक्सपो आयोजित किया जा रहा है, जिसमें देश की करीब 50 कंपनियां अपने उत्पाद, तकनीक और सेवाओं के साथ शामिल हो रही हैं। एक सर्वे के मुताबिक देश में हर साल 40 हजार करोड़ रुपये का कृषि उत्पादन बर्बाद हो जाता है। इस तथ्य से निकली चिंता को दूर करने की दिशा में इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन ने उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग के साथ कदम बढ़ाया है।

Lucknow Three Day India Food Expo Starts Today :

दरअसल, गोमती नगर स्थित आईआईए भवन में गुरुवार को बातचीत में संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंकज कुमार ने बताया कि शुक्रवार को सुबह 10 बजे ‘खाद्य प्रसंस्करण उद्योग स्थापित करने के अवसर’ विषय पर तकनीकी सत्र और प्रदर्शनी की शुरुआत हो जाएगी। वहीं, आइआइए भवन परिसर में ही आयोजित इस कार्यक्रम का औपचारिक उद्घाटन दोपहर 12.30 बजे उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य करेंगे।

वहीं, राष्ट्रीय महासचिव मनमोहन अग्रवाल का कहना है कि प्रदर्शनी में शामिल हो रही खाद्य प्रसंस्करण कंपनियां बताएंगी कि गांवों और छोटे-बड़े शहरों में उनकी सहायता से किस प्रकार के और कैसे खाद्य प्रसंस्करण उद्योग स्थापित कर सकते हैं। शनिवार को खाद्य प्रसंस्करण उद्योगों के लिए पॉलिसी, टेक्नोलॉजी, फाइनेंस और सेफ्टी विषय पर प्रात: दस से शाम पांच बजे तक सेमिनार होगा। कोषाध्यक्ष राजेंद्र कुमार अग्रवाल ने बताया कि कार्यक्रम के लिए तीन सौ ऐसे युवाओं ने भी पंजीयन कराया है, जो उद्योग स्थापित करना चाहते हैं। उन्हें केंद्र और राज्य सरकार की खाद्य प्रसंस्करण उद्योग संबंधी नीतियों की जानकारी दी जाएगी।

साथ ही एसोसिएशन के चेतन भल्ला ने जानकारी दी कि सेंट्रल फूड टेक्नोलॉजिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट, नेशनल बॉटनिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट और सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिसिनल एंड एरोमैटिक प्लांट्स के विशेषज्ञ भी आ रहे हैं। वह उद्यमियों को बताएंगे कि उत्पाद की गुणवत्ता कैसे बनाए रखें तो उपभोक्ताओं को उसके परीक्षण के आसान तरीके बताएंगे।

बता दें, सिंगल यूज प्लास्टिक बंद होने से फूड पैकेजिंग उद्योग के लिए चुनौती खड़ी हो गई है। इस चुनौती से निपटने की जानकारी देने को अलग सत्र रखा गया है। इसमें इंस्टीट्यूट ऑफ पैकेजिंग के दिल्ली स्थित क्षेत्रीय संस्थान के विशेषज्ञ व्याख्यान देंगे।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में शुक्रवार यानि आज से तीन दिवसीय इंडिया फूड एक्सपो आयोजित किया जा रहा है, जिसमें देश की करीब 50 कंपनियां अपने उत्पाद, तकनीक और सेवाओं के साथ शामिल हो रही हैं। एक सर्वे के मुताबिक देश में हर साल 40 हजार करोड़ रुपये का कृषि उत्पादन बर्बाद हो जाता है। इस तथ्य से निकली चिंता को दूर करने की दिशा में इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन ने उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग के साथ कदम बढ़ाया है। दरअसल, गोमती नगर स्थित आईआईए भवन में गुरुवार को बातचीत में संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंकज कुमार ने बताया कि शुक्रवार को सुबह 10 बजे 'खाद्य प्रसंस्करण उद्योग स्थापित करने के अवसर' विषय पर तकनीकी सत्र और प्रदर्शनी की शुरुआत हो जाएगी। वहीं, आइआइए भवन परिसर में ही आयोजित इस कार्यक्रम का औपचारिक उद्घाटन दोपहर 12.30 बजे उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य करेंगे। वहीं, राष्ट्रीय महासचिव मनमोहन अग्रवाल का कहना है कि प्रदर्शनी में शामिल हो रही खाद्य प्रसंस्करण कंपनियां बताएंगी कि गांवों और छोटे-बड़े शहरों में उनकी सहायता से किस प्रकार के और कैसे खाद्य प्रसंस्करण उद्योग स्थापित कर सकते हैं। शनिवार को खाद्य प्रसंस्करण उद्योगों के लिए पॉलिसी, टेक्नोलॉजी, फाइनेंस और सेफ्टी विषय पर प्रात: दस से शाम पांच बजे तक सेमिनार होगा। कोषाध्यक्ष राजेंद्र कुमार अग्रवाल ने बताया कि कार्यक्रम के लिए तीन सौ ऐसे युवाओं ने भी पंजीयन कराया है, जो उद्योग स्थापित करना चाहते हैं। उन्हें केंद्र और राज्य सरकार की खाद्य प्रसंस्करण उद्योग संबंधी नीतियों की जानकारी दी जाएगी। साथ ही एसोसिएशन के चेतन भल्ला ने जानकारी दी कि सेंट्रल फूड टेक्नोलॉजिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट, नेशनल बॉटनिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट और सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिसिनल एंड एरोमैटिक प्लांट्स के विशेषज्ञ भी आ रहे हैं। वह उद्यमियों को बताएंगे कि उत्पाद की गुणवत्ता कैसे बनाए रखें तो उपभोक्ताओं को उसके परीक्षण के आसान तरीके बताएंगे। बता दें, सिंगल यूज प्लास्टिक बंद होने से फूड पैकेजिंग उद्योग के लिए चुनौती खड़ी हो गई है। इस चुनौती से निपटने की जानकारी देने को अलग सत्र रखा गया है। इसमें इंस्टीट्यूट ऑफ पैकेजिंग के दिल्ली स्थित क्षेत्रीय संस्थान के विशेषज्ञ व्याख्यान देंगे।