लखनऊ शूटआउट: अंतिम संस्कार से पहले बोली बेटी-“पापा उठो, मैं अच्छे नंबर लाऊंगी”

लखनऊ शूटआउट: अंतिम संस्कार से पहले बोली बेटी-
लखनऊ शूटआउट: अंतिम संस्कार से पहले बोली बेटी-"पापा उठो, मैं अच्छे नंबर लाऊंगी"

लखनऊ। ऐपल कम्पनी के प्रोडेक्ट की लांचिंग के चलते विवेक देर से घर आने की बात कह कर निकले थे। शाम के वक्त पत्नी कल्पना को फोन किया तो बेटी सीवी से बात हुई। उसे पढ़ाई करने और जल्दी सोने की नसीहत दे विवेक ने फोन रख दिया।शनिवार की सुबह जब सीवी को पापा की हत्या किए जाने की खबर मिली तो मासूम मां के सीने से लिपट गई। विवेक का शव देख सीवी बोली पापा मै अच्छे नम्बर लाऊंगी, प्लीज उठ जाओ। फूल सी बच्ची को पिता के शव पर बिलखते देख वहां मौजूद हर शख्स की आंख भर आई।

Lucknow Vivek Tiwary Daughter Said I Will Get Good Marks Before Cremation :

बता दें कि शुक्रवार देर रात लखनऊ के गोमती नगर में मकदूमपुर पुलिस चौकी के पास दो सिपाहियों ने एसयूवी में सवार ‘ऐपल’ के एरिया सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी को गोली मार दी थी। गोली लगते ही विवेक की मौके पर ही मौत हो गई थी। यह देखते ही दोनों आरोपी सिपाही मौके से फरार हो गए थे। दूसरे पुलिसकर्मियों ने विवेक को अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। आनन फानन में पुलिस ने दोनों आरोपी पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया था।

एप्पल के एक सेल्‍‍‍स मैनेजर विवेक तिवारी का अंतिम संस्कार रविवार को किया गया। इस दौरान योगी सरकार में कानून मंत्री ब्रजेश पाठक और आशुतोष टंडन ने मृतक विवेक तिवारी के परिजनों से भैंसाकुंड पहुंचकर मुलाकात की। उनके आवास पर कड़ी सुरक्षा के बीच पार्थिव शरीर को अंतिम क्रिया के लिए तैयार किया गया। बैकुंठ धाम में सुरक्षा व्यवस्था काफी कड़ी की गई थी।

वहां पर प्रदेश सरकार की तरफ से विधि एवं न्याय मंत्री ब्रजेश पाठक तथा चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन ‘गोपाल’ माजूद थे। इस अवसर पर मंत्री ब्रजेश पाठक ने पीडि़त परिवार को न्याय दिलाने का आश्वासन भी दिया। विवेक तिवारी के बड़े भाई राजेश तिवारी ने उनको मुखाग्नि दी। उस समय वहां का माहौल बेहद गमगीन हो गया।

लखनऊ। ऐपल कम्पनी के प्रोडेक्ट की लांचिंग के चलते विवेक देर से घर आने की बात कह कर निकले थे। शाम के वक्त पत्नी कल्पना को फोन किया तो बेटी सीवी से बात हुई। उसे पढ़ाई करने और जल्दी सोने की नसीहत दे विवेक ने फोन रख दिया।शनिवार की सुबह जब सीवी को पापा की हत्या किए जाने की खबर मिली तो मासूम मां के सीने से लिपट गई। विवेक का शव देख सीवी बोली पापा मै अच्छे नम्बर लाऊंगी, प्लीज उठ जाओ। फूल सी बच्ची को पिता के शव पर बिलखते देख वहां मौजूद हर शख्स की आंख भर आई। बता दें कि शुक्रवार देर रात लखनऊ के गोमती नगर में मकदूमपुर पुलिस चौकी के पास दो सिपाहियों ने एसयूवी में सवार ‘ऐपल’ के एरिया सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी को गोली मार दी थी। गोली लगते ही विवेक की मौके पर ही मौत हो गई थी। यह देखते ही दोनों आरोपी सिपाही मौके से फरार हो गए थे। दूसरे पुलिसकर्मियों ने विवेक को अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। आनन फानन में पुलिस ने दोनों आरोपी पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया था। एप्पल के एक सेल्‍‍‍स मैनेजर विवेक तिवारी का अंतिम संस्कार रविवार को किया गया। इस दौरान योगी सरकार में कानून मंत्री ब्रजेश पाठक और आशुतोष टंडन ने मृतक विवेक तिवारी के परिजनों से भैंसाकुंड पहुंचकर मुलाकात की। उनके आवास पर कड़ी सुरक्षा के बीच पार्थिव शरीर को अंतिम क्रिया के लिए तैयार किया गया। बैकुंठ धाम में सुरक्षा व्यवस्था काफी कड़ी की गई थी। वहां पर प्रदेश सरकार की तरफ से विधि एवं न्याय मंत्री ब्रजेश पाठक तथा चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन 'गोपाल' माजूद थे। इस अवसर पर मंत्री ब्रजेश पाठक ने पीडि़त परिवार को न्याय दिलाने का आश्वासन भी दिया। विवेक तिवारी के बड़े भाई राजेश तिवारी ने उनको मुखाग्नि दी। उस समय वहां का माहौल बेहद गमगीन हो गया।