1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. लखनऊ का ‘शाहीनबाग’ बना ‘घंटाघर’, कोहरे और ठंड में भी रात भर डटी रहीं महिलाएं

लखनऊ का ‘शाहीनबाग’ बना ‘घंटाघर’, कोहरे और ठंड में भी रात भर डटी रहीं महिलाएं

By बलराम सिंह 
Updated Date

लखनऊ। नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में दिल्ली के शाहीन बाग की तर्ज पर यूपी की राजधानी लखनऊ में शुक्रवार की दोपहर से शुरू हुुुआ प्रदर्शन शन‍िवार को भी जारी रहा। मुस्लिम महिलाएं सीएए और एनआरसी के विरोध को लेकर घंटाघर पर महिलाएं डटी हुई हैं। प्रदर्शनकारी महिलाएं रात में भी मौके पर डटी रहीं। इन महिलाओं के हाथ में सीएए व एनआरसी के विरोध की तख्तियां भी हैं।

शुक्रवार दोपहर तीन बजे दिन से सीएए और एनआरसी के विरोध में मुस्‍ल‍िम महिलाएंं अपने बच्चों के साथ धरने पर बैठी हैं। सर्द भरी रात में बेतहाशा कोहरे के बाद भी महिलाओं का हौसला कम नहीं हुआ। रात में मह‍िलाओं की संख्‍या कम रही लेक‍िन सुबह होते ही एक बार फिर से भीड़ एकत्र होने लगी। सुबह घंटाघर पर ही महिलाओं ने नाश्ता किया।

प्रदर्शकार‍ियों के ल‍िए अलाव का भी इंंतजाम क‍िया गया था। इस दौरान महिलाओं ने संविधान की शपथ ली। प्रदर्शनकार‍ियों नेे पुलिस पर महिला शौचालय के दरवाजे पर ताला लगाने का आरोप लगाया है। ये महिलाएं शुक्रवार को जुमे की नमाज बाद शाम चार बजे से घंटाघर पर जुटी हैं, इनके साथ बच्चे भी हैं। वहीं पुलिस ने देर शाम महिलाओं को समझाने की कोशिश की, लेकिन जब वे नहीं मानी तो घंटाघर की स्ट्रीट लाइट बंद कर दी गई। घंटाघर पर धरने की खबर मिलते ही काफी संख्या में पुलिस मौके पर पहुंची और धरने पर बैठी महिलाओं को समझाने का प्रयास किया। लेकिन, महिलाओं ने पुलिस को जिलाधिकारी को संबोधित ज्ञापन देकर धरना समाप्त करने से इंकार कर दिया।

महिलाओं ने डीएम से धरना देने में सहयोग कर उनकी आवाज को न दबाने की अपील की है। धरने में शामिल महिलाओं ने केंद्र सरकार से एनआरसी व सीएए लागू न करने की अपील की। उनका आरोप है कि सीएए में मुसलमानों को शामिल न कर सरकार हिंदू-मुस्लिम एकता को तोड़ना चाहती है। महिलाओं का कहना है कि इस कानून को लागू कर मुस्लिम समुदाय की धार्मिक भावनाओं पर हमला करने की कोशिश की जा रही है। एनआरसी लागू कर सरकार गरीब लोगों को फिर से एक बार लाइन में खड़ा कर देगी। देश के नागरिकों को अपने भारतीय होने का सबूत देने के लिए दर-दर भटकना होगा।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...