Lunar eclipse 2020: 4 घंटे का होगा चंद्र ग्रहण, मुख्य बातों पर डालें नज़र

Lunar eclipse 2020: 4 घंटे का होगा चंद्र ग्रहण, मुख्य बातों पर डालें नज़र
Lunar eclipse 2020: 4 घंटे का होगा चंद्र ग्रहण, मुख्य बातों पर डालें नज़र

लखनऊ। आज साल का पहला चंद्र ग्रहण लग रहा है,लेकिन यह ग्रहण पूर्ण ग्रहण न होकर एक उपच्छाया चंद्र ग्रहण होगा, जो पूर्ण चंद्र ग्रहण से काफी धुंधला होता है। आज लाग्ने वाले चंद्र ग्रहण की अवधि कुल 4 घंटे 01 मिनट की होगी। इसके बाद साल 2020 में तीन और चंद्र ग्रहण पड़ेगें जो कि 5 जून, 5 जुलाई और 30 नवंबर को होंगे। चलिए जानते हैं कि आज लगने वाले चंद्र ग्रहण के बारे में ….

Lunar Eclipse 2020 :

चंद्र ग्रहण लगने का समय

आज लगने वाला चंद्र ग्रहण रात को 10 बजकर 37 मिनट पर शुरू होगा और अगली तारीख यानी 11 जनवरी को तड़के पौने तीन बजे तक चलेगा। इस ग्रहण को भारत के अलावा यूरोप, एशिया, अफ्रीका और आस्ट्रेनलिया महाद्वीपों में भी देखा जा सकेगा।

चंद्रग्रहण की खास बातें

  • इस बार का चंद्र ग्रहण उपच्छाया चंद्र ग्रहण होगा, शास्त्रों में उपच्छाया चंद्र ग्रहण को ग्रहण के रुप में नहीं माना जाता है, इसलिए आज पूर्णिमा तिथि के पर्व और त्योहार मनाए जा सकेंगे।
  • इस ग्रहण में चंद्रमा मिथुन राशि में होगा, नक्षत्र पूर्नवसु रहेगा।
  • मिथुन राशि के लोगों को चंद्र ग्रहण के समय सावधान रहने की जरूरत पड़ेगी।
  • पूर्नवसु नक्षत्र के लोगों को भी बेवजह की परेशानियां झेलनी पड़ सकती हैं।
  • उपच्छाया चंद्र ग्रहण को ग्रहण की श्रेणी में नहीं रखा जाता है और यही वजह कि बाकी ग्रहणों की तरह इस चंद्र ग्रहण में सूतक काल नहीं लगेगा।
  • सूतक काल ना लगने के कारण ना ही आज मंदिरों के कपाट बंद किए जाएंगे और ना ही पूजा-पाठ वर्जित होगी।
लखनऊ। आज साल का पहला चंद्र ग्रहण लग रहा है,लेकिन यह ग्रहण पूर्ण ग्रहण न होकर एक उपच्छाया चंद्र ग्रहण होगा, जो पूर्ण चंद्र ग्रहण से काफी धुंधला होता है। आज लाग्ने वाले चंद्र ग्रहण की अवधि कुल 4 घंटे 01 मिनट की होगी। इसके बाद साल 2020 में तीन और चंद्र ग्रहण पड़ेगें जो कि 5 जून, 5 जुलाई और 30 नवंबर को होंगे। चलिए जानते हैं कि आज लगने वाले चंद्र ग्रहण के बारे में .... चंद्र ग्रहण लगने का समय आज लगने वाला चंद्र ग्रहण रात को 10 बजकर 37 मिनट पर शुरू होगा और अगली तारीख यानी 11 जनवरी को तड़के पौने तीन बजे तक चलेगा। इस ग्रहण को भारत के अलावा यूरोप, एशिया, अफ्रीका और आस्ट्रेनलिया महाद्वीपों में भी देखा जा सकेगा। चंद्रग्रहण की खास बातें
  • इस बार का चंद्र ग्रहण उपच्छाया चंद्र ग्रहण होगा, शास्त्रों में उपच्छाया चंद्र ग्रहण को ग्रहण के रुप में नहीं माना जाता है, इसलिए आज पूर्णिमा तिथि के पर्व और त्योहार मनाए जा सकेंगे।
  • इस ग्रहण में चंद्रमा मिथुन राशि में होगा, नक्षत्र पूर्नवसु रहेगा।
  • मिथुन राशि के लोगों को चंद्र ग्रहण के समय सावधान रहने की जरूरत पड़ेगी।
  • पूर्नवसु नक्षत्र के लोगों को भी बेवजह की परेशानियां झेलनी पड़ सकती हैं।
  • उपच्छाया चंद्र ग्रहण को ग्रहण की श्रेणी में नहीं रखा जाता है और यही वजह कि बाकी ग्रहणों की तरह इस चंद्र ग्रहण में सूतक काल नहीं लगेगा।
  • सूतक काल ना लगने के कारण ना ही आज मंदिरों के कपाट बंद किए जाएंगे और ना ही पूजा-पाठ वर्जित होगी।