मप्र विधानसभा की श्रद्धांजलि सूची से हटा श्रीदेवी का नाम, जानें वजह

मप्र विधानसभा की श्रद्धांजली सूची हटा श्रीदेवी का नाम, जानें वजह
मप्र विधानसभा की श्रद्धांजली सूची हटा श्रीदेवी का नाम, जानें वजह

नई दिल्ली। दिवंगत अभिनेत्री श्रीदेवी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आने के बाद मध्य प्रदेश विधानसभा ने उन्हे सदन में श्रद्धांजलि देने का फैसला बदल दिया। मंगलवार को बजट सत्र का दूसरा दिन है। दरअसल, यह फैसला इसलिए लिया गया है क्योंकि मौत से पहले श्रीदेवी ने शराब पी रखी थी। कांग्रेस ने इस फैसला का कड़ा विरोध जताया है।

Madhya Pradesh Assembly Not To Pay Homage To Sridevi :

मंगलवार की कार्यसूची में पूर्व विधानसभा अध्यक्ष श्रीनिवास तिवारी के अलावा जो नाम थे, उनमें श्रीदेवी का नाम भी शामिल था। सोमवार को पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बताया गया कि श्रीदेवी ने मौत के समय शराब पी रखी थी, उसके बाद श्रद्धांजलि देने वाले नामों में से श्रीदेवी का नाम हटाने का फैसला किया गया। सूत्रों के अनुसार, कार्यसूची में अंतिम क्षणों में बदलाव किया गया। माना जा रहा है कि भाजपा नेता किसी भी विवाद से बचना चाहते हैं। इस वजह से उनका नाम ही हटा दिया गया।

कांग्रेस विधायक गोविंद सिंह ने इस पर आपत्ति जताते हुए सदन में इस मुद्दे को रखने की बात कही है। उन्होंने कहा कि पहले मंगलवार की सदन की कार्यवाही में श्रीदेवी का नाम शामिल था, लेकिन शाम को संशोधित कार्यवाही में उनका नाम हटा दिया गया है। जोकि गलत है। जबकि सदन में श्रीदेवी को भी श्रद्धांजलि दी जानी चाहिए।

बता दें कि ऐसा पहली बार हुआ है जब आखिरी पलों में निधन उल्लेख सूची में बदलाव किया गया है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक भाजपा अभिनेत्री के मौत को लेकर किसी सियासी मामले में नहीं फंसना चाहती है। जिस तरह से मीडिया में खबरें आ रही हैं और बयानबाजी हो रही है राज्य सरकार इसमें नहीं पड़ना चाहती इसलिए श्रीदेवी का नाम हटाया गया है।

नई दिल्ली। दिवंगत अभिनेत्री श्रीदेवी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आने के बाद मध्य प्रदेश विधानसभा ने उन्हे सदन में श्रद्धांजलि देने का फैसला बदल दिया। मंगलवार को बजट सत्र का दूसरा दिन है। दरअसल, यह फैसला इसलिए लिया गया है क्योंकि मौत से पहले श्रीदेवी ने शराब पी रखी थी। कांग्रेस ने इस फैसला का कड़ा विरोध जताया है।मंगलवार की कार्यसूची में पूर्व विधानसभा अध्यक्ष श्रीनिवास तिवारी के अलावा जो नाम थे, उनमें श्रीदेवी का नाम भी शामिल था। सोमवार को पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बताया गया कि श्रीदेवी ने मौत के समय शराब पी रखी थी, उसके बाद श्रद्धांजलि देने वाले नामों में से श्रीदेवी का नाम हटाने का फैसला किया गया। सूत्रों के अनुसार, कार्यसूची में अंतिम क्षणों में बदलाव किया गया। माना जा रहा है कि भाजपा नेता किसी भी विवाद से बचना चाहते हैं। इस वजह से उनका नाम ही हटा दिया गया।कांग्रेस विधायक गोविंद सिंह ने इस पर आपत्ति जताते हुए सदन में इस मुद्दे को रखने की बात कही है। उन्होंने कहा कि पहले मंगलवार की सदन की कार्यवाही में श्रीदेवी का नाम शामिल था, लेकिन शाम को संशोधित कार्यवाही में उनका नाम हटा दिया गया है। जोकि गलत है। जबकि सदन में श्रीदेवी को भी श्रद्धांजलि दी जानी चाहिए।बता दें कि ऐसा पहली बार हुआ है जब आखिरी पलों में निधन उल्लेख सूची में बदलाव किया गया है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक भाजपा अभिनेत्री के मौत को लेकर किसी सियासी मामले में नहीं फंसना चाहती है। जिस तरह से मीडिया में खबरें आ रही हैं और बयानबाजी हो रही है राज्य सरकार इसमें नहीं पड़ना चाहती इसलिए श्रीदेवी का नाम हटाया गया है।