प्रोफेसर ने की भविष्यवाणी, ‘इस बार बीजेपी 300 पार’, तो मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने कर दिया निलंबित

rahul gandhi

भोपाल। मध्य प्रदेश के उज्जैन में स्थित विक्रम विश्वविद्यालय के प्रोफेसर ने फेसबुक पर भाजपा को लोकसभा चुनाव में 300 सीटें मिलने की भविष्यवाणी की है। जिसके बाद प्रोफेसर राजेश्वर शास्त्री मुसलगांवकर को निलंबित कर दिया गया है।

Madhya Pradesh Chhattisgarh Professor Of Vikram University Ujjain Madhya Pradesh Has Been Suspended For The Bjps Victory In 300 Seats :

विक्रम विश्वविद्यालय के सूत्रों का कहना है, “ज्योतिर्विज्ञान अध्ययनशाला के अध्यक्ष मुसलगांवकर ने 28 अप्रैल को फेसबुक पर एक पोस्ट डाली थी कि ‘भाजपा 300 के पास और राजग 300 के पार’। इसे चुनावी आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन मानते हुए विश्वविद्यालय प्रशासन ने उन्हें निलंबित कर दिया है”।

विक्रम विश्वविद्यालय के कुलसचिव डीके बग्गा ने इस बात की जानकारी सोशल मीडिया पर राजनीतिक पोस्ट की वजह से राजेश्वर शास्त्री मुसलवांवकर को उनके पद से हटा दिया गया है। उन्होंने आचार संहिता का उल्लंघन किया है।

वहीं मुसलगांवकर के बचाव में भारतीय जनता पार्टी उतर आई है और इसपर सवाल खड़ा किया है। मुसलगांवकर ने 28 अप्रैल को फेसबुक पर यह पोस्ट साझा की थी, जिसमे कहा गया था कि कभाजपा को 300 सीटों पर जीत मिलेगी जबकि एनडीए 300 से अधिक सीटों पर जीत दर्ज करेगा।

हालांकि निलंबन के बाद मुसलगांवकर ने अपनी पोस्ट पर सार्वजनिक तौर पर माफी मांगी और पोस्ट को हटा लिया। उन्होंने लिखा कि मेरे द्वारा ज्योतिषीय आंकनल मात्र शास्त्रीय प्रचार की दृष्टि से किया या था, अगर इससे किसी की भावना आहत होती है तो मैं क्षमा मांगता हूं।

शास्त्री पर कार्रवाई के बाद प्रदेश भाजपा अध्यक्ष उमेश शर्मा ने कहा कि विभिन्न विषयों पर अपना ज्योतिषीय आंकलन जाहिर करना अध्ययन और अध्यापन का अनिवार्य कार्य होता है, ऐसे में ज्योतिषाचार्य के खिलाफ यह कार्वाई गलत है, लिहाजा उनका निलंबन वापस होना चाहिए।

भोपाल। मध्य प्रदेश के उज्जैन में स्थित विक्रम विश्वविद्यालय के प्रोफेसर ने फेसबुक पर भाजपा को लोकसभा चुनाव में 300 सीटें मिलने की भविष्यवाणी की है। जिसके बाद प्रोफेसर राजेश्वर शास्त्री मुसलगांवकर को निलंबित कर दिया गया है। विक्रम विश्वविद्यालय के सूत्रों का कहना है, "ज्योतिर्विज्ञान अध्ययनशाला के अध्यक्ष मुसलगांवकर ने 28 अप्रैल को फेसबुक पर एक पोस्ट डाली थी कि 'भाजपा 300 के पास और राजग 300 के पार'। इसे चुनावी आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन मानते हुए विश्वविद्यालय प्रशासन ने उन्हें निलंबित कर दिया है"। विक्रम विश्वविद्यालय के कुलसचिव डीके बग्गा ने इस बात की जानकारी सोशल मीडिया पर राजनीतिक पोस्ट की वजह से राजेश्वर शास्त्री मुसलवांवकर को उनके पद से हटा दिया गया है। उन्होंने आचार संहिता का उल्लंघन किया है। वहीं मुसलगांवकर के बचाव में भारतीय जनता पार्टी उतर आई है और इसपर सवाल खड़ा किया है। मुसलगांवकर ने 28 अप्रैल को फेसबुक पर यह पोस्ट साझा की थी, जिसमे कहा गया था कि कभाजपा को 300 सीटों पर जीत मिलेगी जबकि एनडीए 300 से अधिक सीटों पर जीत दर्ज करेगा। हालांकि निलंबन के बाद मुसलगांवकर ने अपनी पोस्ट पर सार्वजनिक तौर पर माफी मांगी और पोस्ट को हटा लिया। उन्होंने लिखा कि मेरे द्वारा ज्योतिषीय आंकनल मात्र शास्त्रीय प्रचार की दृष्टि से किया या था, अगर इससे किसी की भावना आहत होती है तो मैं क्षमा मांगता हूं। शास्त्री पर कार्रवाई के बाद प्रदेश भाजपा अध्यक्ष उमेश शर्मा ने कहा कि विभिन्न विषयों पर अपना ज्योतिषीय आंकलन जाहिर करना अध्ययन और अध्यापन का अनिवार्य कार्य होता है, ऐसे में ज्योतिषाचार्य के खिलाफ यह कार्वाई गलत है, लिहाजा उनका निलंबन वापस होना चाहिए।