मध्यप्रदेश: 9 जिलों के 394 गांवों में बाढ ने मचाई तबाही, बचाव के लिए सेना और एनडीआरएफ लगाई गई

mp
मध्यप्रदेश: 9 जिलों के 394 गांवों में बाढ ने मचाई तबाही, बचाव के लिए सेना और एनडीआरएफ लगाई गई

भोपाल। देश के कई हिस्सों में तेज बारिश से जल जीवन अस्त व्यस्त हो गया है। तेज बारिश और बाढ़ के चलते मध्यप्रदेश के 9 जिले के 394 गांव बुरी तरह से प्रभावित हैं। राज्य के भोपाल समेत अन्य जिलों के बांधों के गेट भी खोल दिए गए हें। वहीं, बारिश और बाढ़ के कारण राहत और बचाव के लिए सरकार ने सेना और एनडीआरएफ की मदद ले रही है। बाढ़ग्रस्त इलाकों से लोगों को सुरक्षित बाहर निकालने की कवायद बीते शनिवार से ही शुरू कर दी गई है।

Madhya Pradesh Floods Ravaged 394 Villages In 9 Districts Army And Ndrf Deployed For Rescue :

इसके लिए हेलीकाप्टर की भी मदद ली जा रही है। सीएम शिवराज सिंह चौहा ने एक ट्वीट कर बाढ़ से जुड़ी जानकारियां साझा की है। सीएम शिव​राज ने जानकारी दी है कि प्रदेश के 9 जिलों के 394 से ज्यादा गांवों में भीषण बाढ़ आई है। बाढ़ में फंसे 7 हजार से अधिक लोगों को रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया है।

बाढ़ से राहत के लिए बड़ी संख्या में राहत शिविर बनाए गए हैं, जहां पर रूकने, भोजन, दवाओं आदि सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सरकार द्वारा की गई हैं। मुख्यमंत्री ने जानकारी दी कि प्रदेश के तीन जिले होशंगाबाद, सीहोर तथा रायसेन में कई गांव बाढ़ से घिर गए हैं।

वहां फंसे अधिकतर लोगों को बाहर निकाल लिया गया है। बचों को बाहर निकालने की कवायद जारी है। छिंदवाड़ा जिले में 5 व्यक्तियों को एयर लिफ्ट कर सुरक्षित बचाया गया है। मौसम को ध्यान में रखते हुए हेलीकॉप्टर से रेस्क्यू किया जा रहा है।

 

भोपाल। देश के कई हिस्सों में तेज बारिश से जल जीवन अस्त व्यस्त हो गया है। तेज बारिश और बाढ़ के चलते मध्यप्रदेश के 9 जिले के 394 गांव बुरी तरह से प्रभावित हैं। राज्य के भोपाल समेत अन्य जिलों के बांधों के गेट भी खोल दिए गए हें। वहीं, बारिश और बाढ़ के कारण राहत और बचाव के लिए सरकार ने सेना और एनडीआरएफ की मदद ले रही है। बाढ़ग्रस्त इलाकों से लोगों को सुरक्षित बाहर निकालने की कवायद बीते शनिवार से ही शुरू कर दी गई है। इसके लिए हेलीकाप्टर की भी मदद ली जा रही है। सीएम शिवराज सिंह चौहा ने एक ट्वीट कर बाढ़ से जुड़ी जानकारियां साझा की है। सीएम शिव​राज ने जानकारी दी है कि प्रदेश के 9 जिलों के 394 से ज्यादा गांवों में भीषण बाढ़ आई है। बाढ़ में फंसे 7 हजार से अधिक लोगों को रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया है। बाढ़ से राहत के लिए बड़ी संख्या में राहत शिविर बनाए गए हैं, जहां पर रूकने, भोजन, दवाओं आदि सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सरकार द्वारा की गई हैं। मुख्यमंत्री ने जानकारी दी कि प्रदेश के तीन जिले होशंगाबाद, सीहोर तथा रायसेन में कई गांव बाढ़ से घिर गए हैं। वहां फंसे अधिकतर लोगों को बाहर निकाल लिया गया है। बचों को बाहर निकालने की कवायद जारी है। छिंदवाड़ा जिले में 5 व्यक्तियों को एयर लिफ्ट कर सुरक्षित बचाया गया है। मौसम को ध्यान में रखते हुए हेलीकॉप्टर से रेस्क्यू किया जा रहा है।