मध्यप्रदेश: वायरल वीडियो पर सीएम शिवराज बोले ‘पापियों का विनाश तो पुण्य का काम’ 

shivraj singh chauhan
मध्यप्रदेश: वायरल वीडियो पर सीएम शिवराज बोले 'पापियों का विनाश तो पुण्य का काम' 

नई दिल्ली। मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान के नाम से कथित रूप से प्रसारित हो रहे ऑडियो-वीडियो पर सियासत चरम पर है। वायरल ऑडियो में पूर्व सीएम कमलनाथ सहित कांग्रेस के कई नेता सीएम शिवराज सिंह चौहान पर हमलावर हैं। वहीं, इस मामले में लगातार सियासी हमले के बीच अब सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इसे लेकर अपनी चुप्पी तोड़ी है। ऑडियो क्लिप पर जारी घमासान के बीच शिवराज ने ट्वीट कर कहा है कि पापियों का विनाश तो पुण्य का काम है।

Madhya Pradesh On The Viral Video Cm Shivraj Said Destruction Of Sinners Is A Work Of Virtue :

बता दें कि वायरल हो रहे वीडियो में शिवराज सिंह कथित रूप से कह रहे हैं- केंद्रीय नेतृत्व ने तय किया कि सरकार गिरनी चाहिए, नहीं तो ये बर्बाद कर देगी। ज्योतिरादित्य सिंधिया और तुलसी भाई के बिना क्या सरकार गिर सकती थी? दूसरा तरीका नहीं था। कांग्रेस कह रही है कि धोखा सिंधिया और तुलसी सिलावट ने दिया है, जबकि सच यह है कि धोखा कांग्रेस ने दिया है। आप बताइए, अगर तुलसी विधायक नहीं बने तो क्या मैं सीएम रहूंगा, क्या प्रदेश में भाजपा की सरकार रहेगी?  मुख्यमंत्री के भाषण का कथित वीडियो क्लिप तेजी से वायरल होने के बाद उनपर सियासी हमले तेज हो गए। कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य विवेक तन्खा सहित तमाम कांग्रेस नेताओं ने भाजपा और केंद्र सरकार को घेरा है।

नई दिल्ली। मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान के नाम से कथित रूप से प्रसारित हो रहे ऑडियो-वीडियो पर सियासत चरम पर है। वायरल ऑडियो में पूर्व सीएम कमलनाथ सहित कांग्रेस के कई नेता सीएम शिवराज सिंह चौहान पर हमलावर हैं। वहीं, इस मामले में लगातार सियासी हमले के बीच अब सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इसे लेकर अपनी चुप्पी तोड़ी है। ऑडियो क्लिप पर जारी घमासान के बीच शिवराज ने ट्वीट कर कहा है कि पापियों का विनाश तो पुण्य का काम है। बता दें कि वायरल हो रहे वीडियो में शिवराज सिंह कथित रूप से कह रहे हैं- केंद्रीय नेतृत्व ने तय किया कि सरकार गिरनी चाहिए, नहीं तो ये बर्बाद कर देगी। ज्योतिरादित्य सिंधिया और तुलसी भाई के बिना क्या सरकार गिर सकती थी? दूसरा तरीका नहीं था। कांग्रेस कह रही है कि धोखा सिंधिया और तुलसी सिलावट ने दिया है, जबकि सच यह है कि धोखा कांग्रेस ने दिया है। आप बताइए, अगर तुलसी विधायक नहीं बने तो क्या मैं सीएम रहूंगा, क्या प्रदेश में भाजपा की सरकार रहेगी?  मुख्यमंत्री के भाषण का कथित वीडियो क्लिप तेजी से वायरल होने के बाद उनपर सियासी हमले तेज हो गए। कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य विवेक तन्खा सहित तमाम कांग्रेस नेताओं ने भाजपा और केंद्र सरकार को घेरा है।