1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Madhya Pradesh : लंबी मूंछ रखने के आरोप में पुलिस कांस्टेबल ड्राइवर राकेश राणा सस्पेंड

Madhya Pradesh : लंबी मूंछ रखने के आरोप में पुलिस कांस्टेबल ड्राइवर राकेश राणा सस्पेंड

मध्य प्रदेश पुलिस (Madhya Pradesh Police) ने लंबी मूंछ (Long Moustache) रखने के आरोप में कांस्टेबल ड्राइवर राकेश राणा (Constable Driver Rakesh Rana) को सस्पेंड कर दिया है। कांस्टेबल ड्राइवर राकेश राणा (Constable Driver Rakesh Rana)  ने बताया कि मुझसे अपनी मूछों को सही आकार में काटने के लिए कहा गया था, लेकिन मैंने मना कर दिया। उन्होंने कहा कि इससे पहले कभी भी मेरी सेवा में मुझे ऐसा करने के लिए नहीं कहा गया था।

By संतोष सिंह 
Updated Date

भोपाल। मध्य प्रदेश पुलिस (Madhya Pradesh Police) ने लंबी मूंछ (Long Moustache) रखने के आरोप में कांस्टेबल ड्राइवर राकेश राणा (Constable Driver Rakesh Rana) को सस्पेंड कर दिया है। कांस्टेबल ड्राइवर राकेश राणा (Constable Driver Rakesh Rana)  ने बताया कि मुझसे अपनी मूछों को सही आकार में काटने के लिए कहा गया था, लेकिन मैंने मना कर दिया। उन्होंने कहा कि इससे पहले कभी भी मेरी सेवा में मुझे ऐसा करने के लिए नहीं कहा गया था।

पढ़ें :- Madhya Pradesh : राकेश राणा ने जीती मूंछों की लड़ाई , ADG ने पलटा निलंबन का आदेश

आज तक क्या आपने कभी सुना है कि मूंछों के कारण किसी की नौकरी जा सकती है? अगर नहीं तो ये खबर जरूर पढ़ लीजिए। मध्य प्रदेश के एक पुलिस जवान को मूंछों का शौक इतना महंगा पड़ा कि उसे निलंबित कर दिया गया है।

जानकारी के मुताबिक मध्य प्रदेश पुलिस में विशेष सशस्त्र बल (एसएएफ) के जवान राकेश राणा ने अपनी मूंछें विशेष आकार में कटवा रखी है। उनकी मूंछें कैप्टन अभिनंदन जैसी लगती है। जवान राकेश राणा एसएएफ में चालक के पद पर पदस्थ है। वह विशेष पुलिस महानिदेशक को-ऑपेरेटिव फ्रॉड के पास ड्यूटी पर था। उसके साहब को उसकी मूंछें टर्नआउट चेक में भद्दी लगीं।

उनके अधिकारी ने मूंछ और बाल कटवाने का आदेश दिया तो उसने मूंछ कटवाने से साफ मना कर दिया। इस पर अधिकारी नाराज हुए और उसके वरिष्ठ अधिकारी से कार्रवाई की अनुशंसा की। इसके बाद वरिष्ठ अधिकारी ने उसके निलंबन का आदेश जारी कर दिया। आदेश में लिखा कि आरक्षक चालक को मूंछ और बाल कटवाने के आदेश दिए थे जो उसने नहीं माने। उसने मूंछ और बाल जस के तस रखने की हठ की जो कि यूनिफॉर्म सेवा में अनुशासनहीनता की श्रेणी में आता है। इस कृत्य का अन्य कर्मचारियों पर विपरीत प्रभाव पड़ता है।

पढ़ें :- Madhya Pradesh Panchayat Election: मध्यप्रदेश में नहीं होंगे पंचायत के चुनाव, सरकार ने राज्यपाल को भेजा प्रस्ताव

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...