‘मैगी बैन’ के बावजूद पुराने स्टॉक को बेच रहे दुकानदार

Maggi

लखनऊ। मैगी में हानिकारक रसायन पाये जाने की पुष्टि के बाद उसे प्रतिबंधित कर दिया गया, बच्चो की सेहत को ध्यान में रखते हुए मैगी की बिक्री पर रोक लगा दी गयी, लेकिन कुछ जगहों पर आज भी मैगी के पुराने स्टॉक को बेचा जा रहा है। एफएसडीए के अधिकारी से जब बाबत बात की गयी तो उन्होने कहा कि मामला संज्ञान में नही है, अगर ऐसा है तो खाद्य विभाग की टीम को भेजकर कार्रवाई की जाएगी।

मामला लखनऊ के गोमती नगर स्थित मनोज पांडेय क्रॉसिंग के पास स्थित पुलिस स्टेशन का है। यहां पर एक किराना दुकान से मैगी के पुराने रखे हुए स्टॉक को बेचा जा रहा है।

{ यह भी पढ़ें:- लखनऊ : कारोबारी के घर आयकर टीम को मिला कुबेर का खजाना }

एफएसडीए के अभिहीत अधिकारी से जब मामले को लेकर बात की गयी तो उन्होने कहा कि उक्त क्षेत्र में संचालित दुकानों पर मैगी का पुराना स्टॉक सीज करने के लिए खाद्य सुरक्षा अधिकारियों की टीम भेज कर कार्रवाई की जाएगी।

बता दें कि बाराबंकी में खाद्य विभाग की टीम द्वारा मैगी के सैंपल की जांच में लेड की मात्रा पायी गयी थी, जिसके बाद मैगी के सैंपल्स को जांच के लिए भेजा गया था, जहां पर वो मानकों पर खरे नहीं उतरे और मैगी की बिक्री पर रोक लगा दी गयी थी।

{ यह भी पढ़ें:- लखनऊ : किशोरी से गैंगरेप, ईंट से वारकर हत्या का प्रयास फिर ट्रामा में छोड़कर आरोपी फरार }

लखनऊ। मैगी में हानिकारक रसायन पाये जाने की पुष्टि के बाद उसे प्रतिबंधित कर दिया गया, बच्चो की सेहत को ध्यान में रखते हुए मैगी की बिक्री पर रोक लगा दी गयी, लेकिन कुछ जगहों पर आज भी मैगी के पुराने स्टॉक को बेचा जा रहा है। एफएसडीए के अधिकारी से जब बाबत बात की गयी तो उन्होने कहा कि मामला संज्ञान में नही है, अगर ऐसा है तो खाद्य विभाग की टीम को भेजकर कार्रवाई की जाएगी। मामला लखनऊ…
Loading...