1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. Magh Purnima 2022: इस दिन है माघ पूर्णिमा, सत्यनारायण भगवान की कथा सुनने का है विशेष महत्व

Magh Purnima 2022: इस दिन है माघ पूर्णिमा, सत्यनारायण भगवान की कथा सुनने का है विशेष महत्व

सनातन धर्म में स्नान ,दान,ध्यान का बहुत महत्व है। पर्व विशेष पर पवित्र नदियों में डुबकी लगाने और भगवान सूर्य नारायण को अर्घ्य देने की परंपरा सदियों पुरानी है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

Magh Purnima 2022: सनातन धर्म में स्नान ,दान,ध्यान का बहुत महत्व है। पर्व विशेष पर पवित्र नदियों में डुबकी लगाने और भगवान सूर्य नारायण को अर्घ्य देने की परंपरा सदियों पुरानी है। ईश्वर भक्ति में लीन भक्त गण श्रद्धानुसार दान भी करते है। हिंदू धर्म में माघ पूर्णिमा के दिन व्रत रखने, चंद्रमा एवं माता लक्ष्मी की पूजा करने और सत्यनारायण भगवान की कथा का आयोजन कराने का विधान है। माघ माह की पूर्णिमा तिथि को माघी पूर्णिमा या माघ पूर्णिमा कहते हैं। इस साल माघ पूर्णिमा 16 फरवरी दिन बुधवार को है।धार्मिक और पौराणिक मान्यता के अनुसार माघ के महीने में देवता पृथ्वी पर आते हैं और मनुष्य रूप धारण करके प्रयागराज में स्नान, दान और जाप करते हैं

पढ़ें :- Magh Purnima 2022 : माघ पूर्णिमा 16 फरवरी को मनेगी, जानें व्रत के नियम और शुभ मुहूर्त

माघ पूर्णिमा बुधवार, फरवरी 16, 2022 को है
पूर्णिमा तिथि प्रारम्भ – फरवरी 15, 2022 को 09:42 बजे रात से
पूर्णिमा तिथि समाप्त – फरवरी 16, 2022 को 10:25 बजे रात तक

1.माघ पूर्णिमा के दिन मां लक्ष्मी को खीर का भोग लगाएं और  पूजा के बाद मंत्रों का जाप आदि करें। इसके साथ ही तुलसी में घी का दीपक जलाएं।

2. शास्त्रों के अनुसार इस दिन पीपल के वृक्ष में लक्ष्मी का आगमन होता है। ऐसे में स्नान करके सुबह पीपल पर जल चढ़ाएं और पूजा करें, इससे मां लक्ष्मी सभी कष्टों को दूर करती हैं।
माघ पूर्णिमा तिथि

पढ़ें :- Magh Purnima 2022 : माघ पूर्णिमा को बन रहा है ये संयोग, ऐसा करने से परिवार में सुख एवं शांति में  होती है वृद्धि 
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...