मतगणना के दौरान हिंसा भड़कने की आशंका, गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को किया अलर्ट

evm
मतगणना के दौरान हिंसा भड़कने की आशंका, गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को किया अलर्ट

नई दिल्ली। लोकसभा 2019 चुनाव का किंग कौन बनेगा और किसे मिलेगी देश चलाने की जिम्मेदारी। इसका फैसला कल गुरुवार को होगा जिसके लिए अब कुछ घंटे का समय बचा हैं। इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (EVM) को लेकर मचे शोर से गुरुवार को काउंटिंग के दौरान हिंसा या गड़बड़ी की आशंका को लेकर गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को आगाह किया है।

Mah Alerts State Chief Secretaries Dgp Regarding Possibility Of Violence During Election Counting :

इसके अलावा, कुछ तबकों द्वारा हिंसा भड़काने वाले बयानों के मद्देनजर केंद्र ने सभी राज्यों से काउंटिंग स्थल और ईवीएम स्ट्रॉन्ग रूम्स की सुरक्षा बढ़ाने के लिए पर्याप्त कदम उठाने को कहा है।

गृह मंत्रालय ने कल काउंटिंग के दिन देश के अलग-अलग हिस्सों में हिंसा भड़कने की आशंका के मद्देनजर सभी राज्यों के मुख्य सचिवों और पुलिस प्रमुखों को आगाह किया है। मंत्रालय ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को कानून और व्यवस्था व शांति बनाए रखने को कहा है।

इसके अलावा राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से स्ट्रॉन्ग रूम्स व काउंटिंग सेंटरों की सुरक्षा बढ़ाने के लिए पर्याप्त कदम उठाने को कहा गया है। ऐसा इसलिए किया गया है क्योंकि कई तबकों द्वारा हिंसा भड़काने वाले बयान और मतगणना के दिन अव्यवस्था या गड़बड़ी फैलाने की बात कही गई है।

मंगलवार को राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (RLSP) के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा के उस बयान पर बवाल मच गया था, जिसमें उन्होंने कहा कि अगर लोकसभा चुनाव के नतीजों में गड़बड़ी करने की कोशिश की गई तो हिंसा और हथियार उठाने पर मजबूर होना पड़ेगा।

बुधवार को बक्सर के निर्दलीय नेता राम चंद्र यादव ने नतीजों के बाद खून-खराबे की धमकी दी। आम आदमी पार्टी के नेता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि आप के उम्मीदवार भी अगर जीतते हैं और VVPAT/EVM का मिलान नही होता है, तब भी हमारी मांग है कि चुनाव रद्द होना चाहिए, और बैलेट पेपर से चुनाव होना चाहिए। चुनाव आयोग ऐसे हालात तैयार कर रहा है, जिसमें दंगे हो सकते हैं।

नई दिल्ली। लोकसभा 2019 चुनाव का किंग कौन बनेगा और किसे मिलेगी देश चलाने की जिम्मेदारी। इसका फैसला कल गुरुवार को होगा जिसके लिए अब कुछ घंटे का समय बचा हैं। इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (EVM) को लेकर मचे शोर से गुरुवार को काउंटिंग के दौरान हिंसा या गड़बड़ी की आशंका को लेकर गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को आगाह किया है। इसके अलावा, कुछ तबकों द्वारा हिंसा भड़काने वाले बयानों के मद्देनजर केंद्र ने सभी राज्यों से काउंटिंग स्थल और ईवीएम स्ट्रॉन्ग रूम्स की सुरक्षा बढ़ाने के लिए पर्याप्त कदम उठाने को कहा है। गृह मंत्रालय ने कल काउंटिंग के दिन देश के अलग-अलग हिस्सों में हिंसा भड़कने की आशंका के मद्देनजर सभी राज्यों के मुख्य सचिवों और पुलिस प्रमुखों को आगाह किया है। मंत्रालय ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को कानून और व्यवस्था व शांति बनाए रखने को कहा है। इसके अलावा राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से स्ट्रॉन्ग रूम्स व काउंटिंग सेंटरों की सुरक्षा बढ़ाने के लिए पर्याप्त कदम उठाने को कहा गया है। ऐसा इसलिए किया गया है क्योंकि कई तबकों द्वारा हिंसा भड़काने वाले बयान और मतगणना के दिन अव्यवस्था या गड़बड़ी फैलाने की बात कही गई है। मंगलवार को राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (RLSP) के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा के उस बयान पर बवाल मच गया था, जिसमें उन्होंने कहा कि अगर लोकसभा चुनाव के नतीजों में गड़बड़ी करने की कोशिश की गई तो हिंसा और हथियार उठाने पर मजबूर होना पड़ेगा। बुधवार को बक्सर के निर्दलीय नेता राम चंद्र यादव ने नतीजों के बाद खून-खराबे की धमकी दी। आम आदमी पार्टी के नेता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि आप के उम्मीदवार भी अगर जीतते हैं और VVPAT/EVM का मिलान नही होता है, तब भी हमारी मांग है कि चुनाव रद्द होना चाहिए, और बैलेट पेपर से चुनाव होना चाहिए। चुनाव आयोग ऐसे हालात तैयार कर रहा है, जिसमें दंगे हो सकते हैं।