1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. Maha Shivratri 2022 : महाशिवरात्रि के दिन शिवलिंग पर चढ़ाएं ये चीजें, रुद्राभिषेक करने से पूरी होती है मनोकामना

Maha Shivratri 2022 : महाशिवरात्रि के दिन शिवलिंग पर चढ़ाएं ये चीजें, रुद्राभिषेक करने से पूरी होती है मनोकामना

महाशिवरात्रि भगवान शिव का प्रमुख पर्व है। शिव भक्त इस पर्व का बहुत ही उत्सुकता से इंतजार करते है। फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी को महाशिवरात्रि पर्व मनाया जाता है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

Maha Shivratri 2022 : महाशिवरात्रि भगवान शिव का प्रमुख पर्व है। शिव भक्त इस पर्व का बहुत ही उत्सुकता से इंतजार करते है। फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी को महाशिवरात्रि पर्व मनाया जाता है। पौराणिक कथाओं के अनुसार, इसी दिन भगवान शिव का विवाह देवी पार्वती के साथ हुआ था।भारत सहित पूरी दुनिया में महाशिवरात्रि का पावन पर्व बहुत ही उत्साह के साथ मनाया जाता है। महाशिवरात्रि के पर्व पर शिवलिंग पर बेलपत्र, धतूरा, चंदन और अक्षत, चंदन, दूध, सफेद वस्त्र चढ़ाने से शंकर भगवान जल्दी प्रसन्न होते हैं। इनके साथ अलग-अलग अनाज और फूल भी शिवलिंग पर चढ़ाया जाता है।

पढ़ें :- Shiv Puran Ke Achuk Upay : धन की समस्या से मुक्ति के लिए जल में अक्षत मिलाकर शिवलिंग पर अर्पित करें, दूर होगी समस्या

शुभ मुहूर्त

इस बार महाशिवरात्रि के लिए शुभ तिथि की शुरुआत 1 मार्च 2022 को मंगलवार के दिन सुबह 3 बजकर 16 मिनट से होने वाली है। जबकि चतुर्दशी तिथि की समाप्ति 2 मार्च, बुधवार के दिन सुबह 10 बजे होने वाली है,यानी कि महाशिवरात्रि का व्रत और पूजा 1 मार्च को ही की जाएगी।

पूजा में ऊँ नम: शिवाय मंत्र और महामृत्युंजय मंत्र का जाप करें।

महामृत्युंजय मंत्र – ऊँ त्र्यम्‍बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम् उर्वारुकमिव बन्‍धनान् मृत्‍योर्मुक्षीय मामृतात्।

पढ़ें :- Shami plant : पत्ते अर्पित करने से होती है बुद्धि तीक्ष्ण , जानिए इसके फायदे

पौराणिक कथा

पौराणिक कथाओं अनुसार भगवान शिव ने तुलसी के पति असुर जालंधर का वध किया था, जिससे क्रोधित होकर तुलसी ने भगवान शिव को अपने दैवीय गुणों वाले पत्तों से वंचित कर दिया था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...