1. हिन्दी समाचार
  2. उपचुनाव में बिखरा बिहार का महागठबंधन

उपचुनाव में बिखरा बिहार का महागठबंधन

Mahagathbandhan Of Bihar Scattered In By Elections

By बलराम सिंह 
Updated Date

पटना। बिहार में आगामी उपचुनाव के लिए महागठबंधन के दल अलग होने को बेताब हैं। महागठबंधन में शामिल कांग्रेस ने बिहार में अकेले उपचुनाव लड़ने का फैसला किया है। वहीं हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) और विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) ने भी एक-एक सीट पर राष्ट्रीय जनता दल से सीधे लड़ाई की घोषणा कर दी।

पढ़ें :- एमएलसी चुनाव में तैनात ऑब्जर्वर IAS अजय सिंह का निधन, सीएम योगी ने दी श्रद्धांजलि

राजद ने चार सीटों पर प्रत्याशी उतारने की घोषणा करते हुए प्रत्याशियों के नाम भी घोषित कर दिए हैं। कांग्रेस ने भी सभी पांच सीटों पर अकेले चुनाव लड़ने की बात करते हुए लालू प्रसाद यादव की पार्टी को बड़ा झटका दिया है। पार्टी के प्रदेश चुनाव समिति की बैठक में यह फैसला लिया गया है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता वीरेंद्र सिंह राठौर ने कहा कि पार्टी ने पांचों सीटों पर पैनल तैयार किया है। पैनल से तैयार पांचों नाम कांग्रेस आलाकमान को भेजे गए हैं। उन्होंने कहा कि बैठक में अधिकांश लोगों का मत अकेले चुनाव लड़ने का था।

आपको बता दें कि बिहार विधानसभा की पांच सीटों- नाथनगर, बेलहर, सिमरी बख्तियारपुर, दरौंधा और किशनगंज में 21 अक्टूबर को चुनाव होना है। इस बीच राजद उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा कि हम सभी महागठबंधन में हैं और आगे भी रहेंगे।
राजद के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि कांग्रेस राजद का साथी है। कुछ नेता भले ही कुछ कह रहे हों, परंतु दोनों दलों के नेता साथ ही चुनाव में उतरेंगे।

उल्लेखनीय है कि राजद ने सिर्फ किशनगंज विधानसभा और समस्तीपुर लोकसभा सीट कांग्रेस के लिए छोड़ दी है। गठबंधन के किसी और दल के लिए कोई सीट नहीं छोड़ी गई है। इससे नाराज हम ने जहां नाथनगर में अपने उम्मीदवार उतार दिए हैं, वहीं, वीआईपी ने सिमरी बख्तियारपुर के लिए प्रत्याशी देने का ऐलान कर दिया है। राजद ने अपनी चार सीटों के लिए नाम तय कर दिए हैं।

पढ़ें :- 69 हजार सहायक शिक्षक भर्ती: योगी सरकार ने दूसरे चरण में 36590 अभ्यर्थियों को दिया नियुक्ति पत्र

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...