छठ पूजा पर व्रत रखने से होंगे ये लाभ, व्रत के दौरान इन बातों का रखें ध्यान

छठ पूजा व्रत के दौरान इन बातों का रखें ध्यान
छठ पूजा व्रत के दौरान इन बातों का रखें ध्यान

लखनऊ। पुत्रों की दीर्घायु की कामना का पावन पर्व छठ की शुरुआत आज यानि 31 अक्टूबर से शुरू होगा। इस दिन महिलाएं निर्जला उपवास रखती हैं और शाम को पूजा के बाद खीर और रोटी का प्रसाद ग्रहण करती हैं। कहा जाता है कि प्रकृति के छठे अंश से षष्ठी माता उत्पन्न हुई हैं वहीं उन्हें बच्चों की रक्षा करने वाले भगवान विष्णु द्वारा रची माया भी माना जाता है। जाने इस व्रत को रखने के दौरान किन बातों का रखें ध्यान….

Mahaparv Chhath Puja 2019 :

व्रत के दौरान रखें ये सावधानियां

  • ये व्रत अत्यंत सफाई और सात्विकता का है।
  • इसमें कठोर रूप से सफाई का ख्याल रखना चाहिए।
  • घर में अगर एक भी व्यक्ति छठ का उपवास रखता है तो बाकी सभी को भी सात्विकता और स्वच्छता का पालन करना पड़ेगा।
  • व्रत रखने के पूर्व अपने स्वास्थ्य की स्थितियों को जरूर देख लें।

छठ पूजा और व्रत से होंगे ये लाभ

  • जिन लोगों को संतान न हो रही हो या संतान होकर बार-बार समाप्त हो जाती हो ऐसे लोगों को इस व्रत से अद्भुत लाभ होता है।
  • अगर संतान पक्ष से कष्ट हो तो ये व्रत लाभदायक होता है।
  • अगर कुष्ठ रोग या पाचन तंत्र की गंभीर समस्या हो तो भी इस व्रत को रखना शुभ होता है।
  • जिन लोगों की कुंडली में सूर्य की स्थिति ख़राब हो या राज्य पक्ष से समस्या हो ऐसे लोगों को भी इस व्रत को जरूर रखना चाहिए।
लखनऊ। पुत्रों की दीर्घायु की कामना का पावन पर्व छठ की शुरुआत आज यानि 31 अक्टूबर से शुरू होगा। इस दिन महिलाएं निर्जला उपवास रखती हैं और शाम को पूजा के बाद खीर और रोटी का प्रसाद ग्रहण करती हैं। कहा जाता है कि प्रकृति के छठे अंश से षष्ठी माता उत्पन्न हुई हैं वहीं उन्हें बच्चों की रक्षा करने वाले भगवान विष्णु द्वारा रची माया भी माना जाता है। जाने इस व्रत को रखने के दौरान किन बातों का रखें ध्यान.... व्रत के दौरान रखें ये सावधानियां
  • ये व्रत अत्यंत सफाई और सात्विकता का है।
  • इसमें कठोर रूप से सफाई का ख्याल रखना चाहिए।
  • घर में अगर एक भी व्यक्ति छठ का उपवास रखता है तो बाकी सभी को भी सात्विकता और स्वच्छता का पालन करना पड़ेगा।
  • व्रत रखने के पूर्व अपने स्वास्थ्य की स्थितियों को जरूर देख लें।
छठ पूजा और व्रत से होंगे ये लाभ
  • जिन लोगों को संतान न हो रही हो या संतान होकर बार-बार समाप्त हो जाती हो ऐसे लोगों को इस व्रत से अद्भुत लाभ होता है।
  • अगर संतान पक्ष से कष्ट हो तो ये व्रत लाभदायक होता है।
  • अगर कुष्ठ रोग या पाचन तंत्र की गंभीर समस्या हो तो भी इस व्रत को रखना शुभ होता है।
  • जिन लोगों की कुंडली में सूर्य की स्थिति ख़राब हो या राज्य पक्ष से समस्या हो ऐसे लोगों को भी इस व्रत को जरूर रखना चाहिए।